केन्द्रीय मंत्री को मालूम ही नहीं..ट्रेन क्यों बन्द हुई.. पेट्रोल डीजल के दाम पर कहा..इस पर हमारा बस नहीं.. पढ़ें..काला झण्डा दिखाने के सवाल पर..क्या दिया जवाब

बिलासपुर—केन्द्रीय इस्पात और ग्राम पंचायत मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते एक दिनी कोटा प्रवास के दौरान बिलासपुर पहुंचे। उन्होंने बताया कि पेट्रोल डीजल का दाम हमारे बस में नहीं है। बाजार के उतार चढ़ाव से दाम बढ़ते और घटते रहते हैं। उन्हें नहीं मालूम है कि ट्रेन क्यों बन्द हुई। लेकिन इसे चालू करने का जल्द ही प्रयास किया जाएगा। कुलस्ते ने बताया कि हम गैर भाजपा शासित राज्यों के साथ राजनीति नहीं करते हैं। इस दौरान प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अरूण साव, विधानसभा पूर्व नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष हर्षिता पाण्डेय समेत कार्यकर्ता भी उपस्थित थे। 

              कोटा प्रवास के दौरान केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते बिलासपुर पहुंचे। पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होने बताया कि कोटा स्थित रमन विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने आया हूं। देश के करीब 125 विश्वविद्यालयों में जनजाति समाज का स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान को लेकर संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है। आंदोलन में जनजाति महानायकों के योगदान पर चर्चा होगी। इस दौारन कुलस्ते ने राज्य सरकार को लेकर भी अपनी बातों को रखा। 

                     क्या गैर भाजपा शासित राज्यों में ही गड़ब़डिया पायी जाती है। सवाल के जवाब में कुलस्ते ने कहा कि हम राज्य सरकारों के खिलाफ राजनीति नहीं करते हैं। हम हमेशा सहयोगात्मक विचारों के साथ मिलकर काम करते हैं। फिर परेशान करने का सवाल ही नहीं उठता है। 

                   एक दौर वह भी था जब पेट्रोल डीजल का दाम बढ़ते थे..तो भाजपा नेता सिर पर सिलेन्डर लेकर सड़क पर हंगामा मचाने लगते थे। अब क्यों नहीं..क्या महंगाई नहीं है। सवाल के जवाब में केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि पेट्रोल डीजल का दाम बाजार पर आधारित है। राज्य सरकार चाहे तो दाम घट सकते हैं। मध्यप्रदेश सरकार ने दाम कम किया है।

                         क्या सेस कम कर दाम पर नियंत्रण नहीं किया जा सकता है। कुलस्ते ने बताया कि हमें जितना कम करना था किया। अब राज्य सरकार को करना है।

         आखिर चुनाव के समय ही दाम नहीं बढ़ते या कम हो जाते है। क्या उस समय बाजार काम नहीं करता है। जवाब में कुलस्ते ने कहा कि ऐसा नहीं है। राज्य सरकार यदि चाहे तो ईंधन का दाम कम हो सकता है। इस पर हमारा बस भी नहीं है।

                   अब कितने इस्पात संयत्रों का निजीकरण होना है। मंत्री ने बताया कि बहरहाल ऐसा मामला हमारे सामने नहीं आया है। 

               पिछले एक साल से सभी यात्री गाड़ियों को रोक दिया गया है। क्या  जनता की परेशानियां केन्द्र सरकार को दिखाई नहीं दे रही है। कुलस्ते ने बताया कि गाड़ियों का परिवहन क्यों बन्द किया गया। हमें इसकी जानकारी नहीं थी। प्रदेश अध्यक्ष साव ने बताया है। परिवहन नहीं होने के कई कारण है। कोरोना काल में गाड़ियों को रोका गया था। जल्द ही सभी गाड़ियों को शुरू कर दिया जाएगा। बन्द स्टापेज को भी शुरू किया जाएगा। उन्होने कहा कि दरअसल जिस स्टापेज से आर्थिक नुकसान हो रहा था..उस स्टेशन को बन्द किया गया है। लेकिन जल्द ही चालू कर दिया जाएगा।

                     फिर बिलासपुर में गाड़ियों को क्यों रोका जा रहा है। यहां से आर्थिक फायदा ही है। कोटा में काला झण्डा दिखाने की तैयारी है। काले झण्डे की बात को टालते हुए कुलस्ते ने बताया कि फिलहाल गाड़ियां कम चल रही है। लेकिन जल्द ही सभी गाड़ियों को बहाल किया जाएगा।

https://m.youtube.com/watch?v=vBBQgkTpOMA

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *