कौन काट रहा है बैंक खाते से पैसा…थाने तक पहुंची शिकायत

Change_bank_indiaबिलासपुर— जनता कांग्रेस प्रवक्ता सुब्रत डे ने बताया कि भारत सरकार के आदेश से जनता के खाते में सेंधमारी की जा रही है। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के नाम पर बिना बतायए खातों से सैकड़ों रूपए काटे जा रहे है। देवेन्द्र नगर निवासी संजीव अग्रवाल ने बैंक खाते से रूपया काटे जाने पर रायपुर स्थित गंज थाने में शिकायत की है।

                     जनता कांग्रेस प्रवक्ता सुब्रत डे ने बताया कि संजीव अग्रवाल का महाराष्ट्र बैंक में खाता है। बिना सहमति..उनके बैंक खातों से रूपये 300 और 12 रूपए काटा गया है। विरोध किये जाने पर शाखा प्रबंधक ने बताया कि सिस्टम में अनिवार्य रूप से सीधा काटने का आदेश दिया गया है। अग्रवाल ने कहा कि खातों से बिना जानकारी और अनुमति  रकम काटना उचित नहीं है। उन्होने गंज थाने में शिकायत दर्ज की है।

                                                     सुब्रत डे ने बताया कि बीमा आग्रह की विषय वस्तु है। बीमा को टैक्स की तरह अनिवार्य है। लेकिन केन्द्र के निर्देश पर इसे जनता पर जबरदस्ती थोपा जा रहा है। सरकार खातों से जबरदस्ती पैसा काट रही है। खातेदारों को ना ही बीमा की पालीसी दी जा रही है ना ही बीमा कंपनी की तरफ से बांड ही भराया जा रहा है। ऐसी स्थिति में दुर्घटना बीमा का लाभ केन्द्र सरकार हितग्राहियों को किस तरह पहुंचायेगी। देश में अनेक लोगों के पास एक से अधिक बैंक खाते हैं। बिना बताए खातों से रकम काटा जा रहा है। ऐसी स्थिति में केन्द्र सरकार स्पष्ट करें कि एक व्यक्ति को किसी भी तरह का दुर्घटना लाभ बीमा कंपनी एक से अधिक बार क्या लाभ देगी।

                 करोड़ों लोगों के खातों से कुल कितनी राशि ली जा रही है। बीमा से किनको दुर्घटना लाभ दिया जा रहा है। इस काम के लिये किन.किन बीमा कंपनियों को अधिकृत किया है। लगातार दो साल से जनता के बैंक खातों से जबरदस्ती काटे गये रकम का केन्द्र सरकार या बीमा कंपनी ने किसी तरह का हिसाब क्यों नहीं दिया। सुब्रत डे ने प्रेस नोट जारी कर बताया है कि यह प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के नाम पर बड़े घोटाले का संकेत है।

            सुब्रत डे ने कहा कि यदि प्रधानमंत्री खुले मन से देश की जनता को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का लाभ देना चाहते हैं तो उसका प्रीमियम सरकार जमा करे। जनता को अंधेरे में रखकर उनके खातों से सेंधमारी ना करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *