देर होने पर भड़के पत्रकार.. कुलपति ने कहा..राष्ट्रपति नहीं देंगे चांसलर मेडल..केवल 10 पदक ही बांटे जाएंगे..

बिलासपुर— गुरू घासीदास केन्द्रीय विश्वविद्यालय दीक्षांत समारोह के एक दिन पहले कुलपति अंजीला गुप्ता ने पत्रकारों के बीच कार्यक्रम की जानकारी दी। पत्रकार वार्ता का आयोजन प्रशासनिक भवन में ठीक एक बजे निर्धारित था। लेकिन कुलपति आधे घण्टे देर से पहुंची।  पत्रकारों ने नाराजगी जाहिर करते हुए पहले तो पत्रकार वार्ता का वहिष्कार किया। जानकारी मिलते ही कुलपति अंजिला गुप्ता पत्रकारों के बीच पहुंची। और क्षमा याचना के बाद पत्रकार वार्ता को शुरू किया गया।

                 गुरू घासीदास केन्द्रीय विश्वविद्यालय दीक्षांत समारोह के ठीक एक दिन पहले प्रशासनिक भवन में पत्रकारों से कुलपति अंजिला गुप्ता ने पत्रकारों से बातचीत की। कुलपति ने बताया कि 2 मार्च को को सुबह 10 बजे प्रशासनिक भवन परिसर में दीक्षांत समारोह का आयोजन किया जाएगा। राष्ट्रपति रामानाथ कोविंद मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहेंगे। विशिष्ट अतिथि के रूप में राज्यपाल अनुसुइया उइके और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मौजूद रहेंगे।

           कुलपति ने बताया कि विभिन्न समितियों के माध्यम से कार्य को दिशा निर्देश दिया गया है। इस दौरान उन्होने बताया कि दीक्षांत समारोह में कुल 106 पदक स्वर्ण पद दिए जाएँगे। विश्वविद्यालय स्वर्ण मंडित पदक 74 पीएचडी की उपाधि के लिए 75 दानदाता पदक की संख्या 5, गुरूघासीदास पदक की संख्या 1 और कुलाधिपति पदक की भी संख्या एक ही है। इस दौारन कुलपति ने विभागवार पदक की जिम्मेदारी दी।

शैेलेष कुमार पाण्डेय को वाइस चांसलर पदक

              कुलपति अंजिला गुप्ता ने बताया कि पहलीबार कुलाधिपति पदक दिया जा रहा है। कुलाधिपति पदक शैलेष कुमार पाण्डेय को दिया जाएगा। कुलाधिपति अवार्ड मे पदक के अलावा शैलेष को 25 हजार रूपए नगद दिए जाएंगे। कुलपति ने बताया कि क्वीनी यादव ने शिक्षण विभागों में संचालित सभी पाठ्यक्रमों में सर्वाधिक अंक अर्जित किया है। उन्हें विशेष पदक सम्मान दिया जाएगा। 

अतिथियों की वेशभूषा

               अंजिला गुप्ता ने बताया कि दीक्षांत समारोह में अतिथियों की वेशभूषा निर्धारित है। पूरूष अतिथि और सदस्यों के लिए सफेद कुर्ता, पाजमा,कोसा जैकेट, पीली पगड़ी और पीला पटका होगा। जबकि महिला अतिथि और सदस्यों के लिए रेड बार्डर कोसा साड़ी, कोसा जैकेट, पीली पगड़ी और पीला पटका होगा। इसी तरह स्वर्ण मंडित, पीएचडी और उपाधी पदक लेने वाले महिला पुरूष की भी वेशभूषा अलग होगी।

           पत्रकार वार्ता के दौरान कुलपति अँजिला गुप्ता ने पत्रकारों के सवालों का जवाब दिया। इसके पहले पत्रकार वार्ता की देरी को लेकर पत्रकारों ने वहिष्कार का फैसला किया। लेकिन समय रहते कुलपति अंजिला गुप्ता ने किसी तरह मामले को संभाला। उन्होने क्षमा याचना के साथ देरी के कारण भी बताए। 

               दीक्षांत समारोह से छात्र परिषद को अलग थलग रखने के सवाल पर अंजिला गुप्ता ने कहा कि जानकारी अधूरी है। पत्रकार वार्ता से पहले आज छात्र परिषद के प्रतिनिधियों से बातचीत हुई। बातचीत अच्छे माहौल में हुई। उनके सभी सवालों और शंका का समाधान कर दिया गया है। दीक्षात समारोह में छात्र परिषद के लोग भी शामिल होंगे। उन्हें अलग से बैठाया जाएगा। अब किसी तरह का विरोध नहीं है।

                विश्वविद्यालय का सबसे सम्मानित पदक पाने वालें को राष्ट्रपति के हाथों पदक क्यों नहीं दिया जा रहा है। उसे क्यों नहीं आमंत्रित किया गया। सवाल के जवाब में अंजिला गुप्ता ने क्यों नहीं बुलाए जाने के सवाल को टालते हुए कहा कि राष्ट्रपति महोदय का कार्यक्रम में दिल्ली से निर्धारित हुआ है। राष्ट्रपति के हाथों केवल 10 पदक ही दिए जाएंगे। बाकी पदक कार्यक्रम के बाद वितरित होगा। चांसलर पदक वाइस चांसलक के हाथों दिया जाएगा। समय  अभाव के कारण यह पदक राष्ट्रपति के हाथों दिया जाना संभव नहीं होगा। रही बात शैलेष कुमार को बुलाने की तो उन्हें सम्मान के साथ बुलाया गया है।

                      आडिटोरियम होने के बाद भी भारी भरकम राशि खर्च करने का क्या औचित्य है। सवाल के जवाब में कुलपति ने बताया कि करीब 2 हजार लोग दीक्षांत समारोह में शिरकत करेंगे। जबकि आडिटोरियम की दर्शक क्षमता 700 से है। ऐसी सूरत में डोम बनाया जाना जरूरी था।

             स्टाफ कमी के सवाल पर अंजिला गुप्ता ने बताया कि 106 पदों पर नियुक्ति हुई है। अभी कुछ पद खाली है। जल्द ही उन्हें भी भर लिया जाएगा। देरी के सवाल पर बताया कि लगातार रोस्टर बदलाव और कानूनी दांव पेंच के कारण नियुक्ति में देरी हुई है।

             एक अन्य सवाल के जवाब में अंजिला गुप्ता ने कहा कि राष्ट्रपति के हाथों केन्द्रीय विश्वविद्यालय में पांच नए भवन का लोकार्पण होगा। इसमें अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का रेस्ट हाउस भी शामिल है। इसके अलावा रूरल टेक्नोलाजी भवन, बायोटेक्नोलाजी भवन एडूकेशन भवन का लोकार्पण होगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *