इंडियन एक्सप्रेस के खिलाफ मानहानि..थाने में शिकायत

IMG_20151230_134533बिलासपुर-मरवाही विधायक अमित जोगी ने इंडियन एक्सप्रेस के जारी टेप में अपनी और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के आवाज होने से इंकार किया है। उन्होने आज सिविल लाइन थाना पहुंचकर संवाददाता आशुतोष भारद्वाज और इंडियन एक्सप्रेस के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराया है। इंडियन एक्सप्रेस ने मंगतु राम पवार के अंतागढ़ उपचुनाव के दौरान अंतिम समय में नाम वापसी को लेकर एक टेप जारी किया है। जोगी ने बताया कि जब भी जोगी परिवार जनता से जुड़े मुददो को उठाता है और जनता के बीच जाता है। तब-तब राज्य सरकार सुनियोजित साजिश के तहत जोगी परिवार को परेशान और बदनाम करने का प्रयास करती है।

                    सिविल लाइन थाना रिपोर्ट दर्ज करवाने के बाद जोगी ने पत्रकारों से बताया कि  इंडियन एक्सप्रेस की इस खबर से मैं काफी हैरान हूं। मैने संबधित संवाददाता को मेल और फोन दोनों ही माध्यम से टेप में दर्ज आवाज को अपना या अपने पिता का नहीं होना बताया । साथ ही आशुतोष भारद्वाज को टेप और सच्चाई को जांच के बाद ही सामने लाने का सुझाव भी दिया था। बावजूद इसके टेप की सत्यता जांचे बिना खबर को प्रकाशित किया गया है।

                   जोगी ने बताया कि आडियो टेप में पिता अजीत जोगी और मेरी आवाज नहीं है। मुझे लगता है कि आडियो टेप और समाचार जोगी परिवार की प्रतिष्ठा को गिराने के लिए प्रदेश सरकार ने रणनीति के तहत काम किया है। उन्होने कहा कि कुछ लोग मेरे और पिता के लगातार बढ़ते जनाधार से परेशान हैं। जो अब साजिश के जरिए नुकसान करना चाहते हैं।

           अमित जोगी ने बताया कि इस समय जोगी परिवार बाबा गुरूघासी दास जयंती कार्यक्रम में पूरे प्रदेश का भ्रमण कर रहा हैं। भारी जनसमर्थन भी मिल रहा है। सूखा ग्रस्त क्षेत्रों का भी दौरा कर रहे हैं। किसानों का भी समर्थन मिल रहा है। इससे कुछ लोग परेशान है। चुनाव के डेढ़ साल बाद इस तरह से फर्जी टेप का उजागर होना विरोध की साजिश सामने आ रही है। क्योंकि उन्हें हमारे बढ़ते जनाधार से सरकार को डर लगने लगा है।

            मित जोगी ने कहा कि सरकार लोगों की समस्याओं से ध्यान हटाना चाहती है। मंतूराम पवार से हमें फर्जी आडियों से जोड़ा जा रहा है। सच्चाई यह है कि अजीत जोगी ने ही मंतूराम को कमजोर प्रत्याशी होने के कारण टिकट नहीं देने का आग्रह किया था।

                  इस मौके पर अमित जोगी ने पत्रकारों के सामने केन्द्रीय मंत्री जय प्रकाश नड्डा और नरेन्द्र तोमर पर आरोप लगाते हुए कहा कि आज तक इन लोगों ने केवल अफवाह उडाने का काम किया है। झीरम घाटी में  दोनो ने पूरे वारदात के लिए अजीत जोगी को जिम्मेदार ठहराया था। उनके जिसके कोर्ट में मानहानी का केस किया गया। आज तक उन्होंने अपना पक्ष भी नहीं रखा है।

                 इंडियन एक्सप्रेस के जारी टेप में पूर्व मुख्‍यमंत्री अजित जोगी, अमित जोगी और मुख्‍यमंत्री रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्‍ता के बीच हुई बातचीत में अंतागढ़ कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम को चुनाव से हटने को लेकर विस्तार से बातचीत हैं। जोगी के अनुसार आडियों के जरिए उनकी प्रतिष्ठा पर आंच आयी है। वे बहुत आहत हैं।  सिविल लाइन थाने में इंडियन एक्सप्रेस और संवाददाता के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की है। साथ कोर्ट में मानहानि का दावा किया है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...