जिला कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा..कम पड़ने लगी बिस्तरों की संख्या..सामाजिक संघठनों के सहयोग से जीतेंगे जंग

बिलासपुर— प्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा शहर बिलासपुर में भी कोरोना प्रकोप ने जनजीवन को अस्तव्यस्त कर दिया है। संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के पास अस्पतालों में बिस्तर का टोंटा पड़ गया है। जिले के कमोबेश सभी अस्पतालों में नो इंट्री की स्थिति बन गयी है। कहने का मतलब सभी अस्पतालों में अब मरीजों के लिए बिस्तर कम पड़ने लगे हैं। हालांकि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बिलासपुर में तत्काल 2000 बेड की व्यवस्था का निर्देश दिया है। बावजूद इसके कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए बिस्तरों की की संख्या कम पड़ती दिखाई दे रही है।
 
                   जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष विजय  केशरवानी ने बताया कि राजधानी रायपुर में कोरोना संक्रमण की स्थिति भयावह है। स्थिति को देखते हुए सामाजिक संगठनों ने समाज के भवन को कोविड सेंटर बनाने की पहल की है। कुछ सामाजिक संगठनों ने तो भवन देने के साथ ही भर्ती होने वाले मरीजों को भोजन उपलब्ध कराने का भी बीड़ा उठाया है।  केशरवानी ने बिलासपुर के सामाजिक संगठनों से भी आदर्श पहल की मांग की है।
 
          विजय ने बताया कि यद्यपि मुख्यमंत्री की अगुवाई में राज्य सरकार कोरोना संक्रमण के खिलाफ निर्णायक जंग जीतने को लेकर दिन-रात प्रयास कर रही है। प्रदेश की तरह बिलासपुर का स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन कोरोना संक्रमण को परास्त करने कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा है।
 
          केशरवानी ने कहा कि  ऐतिहासिक और निर्णायक जंग को जीतने के लिए सामाजिक संगठन की भागीदारी आज बहुत जरूरी है। बिलासपुर में भी सामाजिक संगठनों के पास सर्व सुविधा युक्त भवन हैं। सभी संगठनों को रायपुर के सामाजिक संगठनों की तरह कोविड-19 सेंटर निर्माण के लिए जिला प्रशासन और शासन को सहयोग की जरूरत है। विजय ने बताया कि हमें अच्छी तरह से जानकारी है कि बिलासपुर के सामाजिक संगठनों समय-समय पर जब भी जरूरत पड़ी..तन मन और धन से सहयोग का हाथ बढ़ाया है। अब जबकि प्रदेश के अन्य जिलों की तरह बिलासपुर भी कोरोना से जंग कर रहा है। ऐसी सूरत में सामाजिक संगठनों से सहयोग की उम्मीदें बढ़ जाती है।
 
              जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष ने कहा कि ऐसा होने पर बिलासपुर में कोविड-19 सेंटरों और कोरोना से संक्रमित मरीजों कीे लिए बिस्तरों की कोई कमी नहीं होगी। कोरोना संक्रमण के खिलाफ चल रही निर्णायक जंग में बिलासपुर और प्रदेश की जीत की संभावनाएं काफी मजबूत हो जाएंगी। क्योंकि प्रदेश के एक व्यक्ति को पता है कि न्यायधानी में हमेशा न्याय ही होता है।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...