भूपेश ने फिर पूछा दीनदयाल कौन…सिया और जोगी को कहा…जानता हूं कितने जनाधार वाले हैं…

BHUPESHबिलासपुर— पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल इंदिरा गांधी जन्म शताब्दी स्मरणोत्सव कार्यक्रम में शामिल होने बिलासपुर पहुंचे। भूपेश बघेल ने जिला कांग्रेस सेवा दल के एक दिवसीय सम्मान समारोह में भी शिरकत किया। इस दौरान जिले के सभी दिग्गज कांग्रेसी मौजूद थे। कार्यक्रम के बीच भूपेश बघेल ने पत्रकारों से भी बातचती की। उन्होने प्रदेश सरकार पर एक बार फिर निशाना साधा।

                 पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए भूपेश ने कहा कि प्रदेश की जनता पूछ रही है कि पंडित दीनदयाल कौन हैं…देश के लिए उनका क्या योगदान है। मेरा भी यही सवाल है। भूपेश ने बताया कि सरकारी लेटर पर दीनदयाल के नाम कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। करोड़ों रूपए पानी की तरह बहाए जा रहे हैं।  भूपेश ने कहा कि कांग्रेस नेता लालपत राय समेत कई देश सेवक देश के लिए कुर्बानी दी। भाजपा सरकार बताए कि पंडित दीनदयाल ने क्या कुर्बानी दी। उनकी मौत कैसे हुई। भाजपा को बताना चाहिए।

                                       नोटबंदी के सवाल पर भूपेश ने कहा कि दावा किया जा रहा था कि नोटबंदी अभियान के बाद आतंकवादी,नक्सलवादी घटनाओं पर अंकुश लग जाएगा। लेकिन बस्तर में 26 जवानों को नक्सलियों ने मार दिया। आतंकवादी घटनाएँ भी कम नहीं हुई। उल्टा भारत की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ा है।

                 भूपेश ने कहा कि चुनावी घोषणा के बाद भी किसानों को ना तो समर्थन मूल्य दिया गया और ना ही बोनस…। किसान लगातार आत्महत्या कर रहे हैं। फसल बीमा का भी लाभ किसानों को नहीं मिल रहा है। सरकार बीमा राशि बांटकर डैमेज कन्ट्रोल कर रही है। किसानों को उत्पाद की कीमत नहीं मिल रही है। मुख्यमंत्री कहते हैं कि पीएम ने समर्थन मू्ल्य देने से इंकार कर दिया है। यदि ऐसा है तो सीएम एक सर्वदलीय मंच के बैनर तले प्रदेश के नेताओं की मुलाकात प्रधानमंत्री से कराएं। शायद किसानों के हित में बात बन जाए।

              पीसीसी अध्यक्ष ने बताया कि कांग्रेस पार्टी किसानों की लड़ाई लडती रहेगी। पार्टी ने किसानों की मांग को लेकर विधानसभा घेराव से लेकर चक्काजाम और पदयात्रा की है। यदि किसानों को समय पर खाद बीज नहीं दिया जाता है तो पार्टी उग्र आंदोलन करेगी।

                                    विधान मिश्रा के आरोप का जवाब देते हुए कहा कि  मैने सीएम से कहा है कि यदि  जांच के दौरान मेरे पास ज्यादा जमीन मिलती है तो गरीबों में बांट दिया जाए।

                       नान घोटाले के सवा पर भूपेश ने कहा कि ईओडब्ल्यू ने कोर्ट में डायरी पेशकर 10 नाम दिए थे। अभी तक केवल 5 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। बाकी की क्यों नहीं हो रही है मुख्यमंत्री को बताना चाहिए।

                      जैजेपुर में हार के कारण को भूपेश ने विपक्ष की सहानुभूति जीत बताया। भूपेश ने कहा कि यदि सियाराम और जोगी जनाधार वाले नेता हैं तो इस्तीफा देने के बाद जीतकर बताएं। जनाधार का पता चल जाएगा। फिर भी मैं जानता हूं कि वे कितने जनाधार वाले हैं।

              भूपेश ने कहा अंकित गौरहा भ्रष्टाचार के खिलाफ किसी बात को लाते हैं तो उस पर विचार किया जाएगा। जरूरत पड़ी तो आंदोलन करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *