कम से कम एक बार…मुख्यमंत्री बन ही जाते…किसने किसको कहा…

rizvi_jccरायपुर—जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के मीडिया विभाग प्रमुख इकबाल अहमद रिजवी ने राष्ट्रीय अनुसूचित जन जाति आयोग को आड़े हाथ लिया है। रिजवी ने प्रेस नोट जारी कर बताया है कि अजीत जोगी की जाति पर  हाय-तौबा मचाने वाले नंदकुमार साय अपनी राजनीति का पूरा समय उधेड़ बून में नष्ट कर रहे हैं। जोगी परिवार की आलोचना उनकी दिनचर्या में शामिल हो गयी है। जोगी के खिलाफ बयान बाजी में समय बरबाद कर रहे हैं। यदि इतना समय आदिवासी मुख्यमंत्री की मांग में खर्च करते तो भाजपा शासन के तीन कार्यकाल मे..कम से कम एक बार तो मुख्यमंत्री हो जाते। लेकिन साय करें भी तो क्या करें…। क्योंकि भाजपा की नजर में छत्तीसगढ़ में कोई भाजपाई आदिवासी नेता मयार नहीं है जो मुख्यमंत्री बनने की योग्यता रखता हो।

                           रिजवी ने आगे कहा है कि नंदकुमार साय या अन्य किसी भाजपाई आदिवासी नेता ने आदिवासी मुख्यमंत्री बनाने की जब भी मांग की उन्हें लालीपाॅप थमाकर बैठा दिया गया। भाजपा को केवल आदिवासी और अनुसूचित जाति का वोट चाहिए। तरह -तरह के प्रलोभन और विकास की थोथी योजनाओं का लालच देकर आदिवासियों की आवाज को दबा दिया जाता है।
 
                            दूध से जले अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग के लोग अब भाजपाई ठगी का शिकार होने से तौबा कर चुके है। 3 बार का ठगा हुआ छत्तीसगढ़िया अब उपेक्षा और तिरस्कार का बदला लेने की मानसिकता बना चुका है। जोगी विरोधी गांठ बांध ले कि अजीत जोगी अपने कैलिबर से जाने जाते है न कि कास्ट से । जोगी के प्रदेश में स्थापित जनाधार की नींव आज तक कोई हिला नही सका है।
loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...