भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा….जोगी हताशा के शिकार…कराएं दुविधा और फ्रस्टेशन का समाधान

बिलासपुर–भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों की घोषणा को लेकर जकांछ प्रमुख अजीत जोगी की टिप्पणी को भाजपा ने जोगी की हताशा बताया है।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी से उम्मीदवारी के निर्धारित मापदंडों पर खरा उतरने और जीतने की पूरी संभावना रखने वाले प्रत्याशी को ही मैदान में उतारा जाता है। हम अपने मिशन 65 प्लस में पूरी तरह कामयाब होकर चौथी बार सरकार बनाने जा रहे हैं।
                     धरम ने कहा कि भाजपा प्रत्याशियों को घिसा-पिटा बताने और भाजपा की रणनीतिक तैयारियों को डिफेंसिव खेल बताने वाले जोगी हताश हो चुके हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जोगी पहले अपने घर को तो दुरुस्त कर लें। खुद मुख्यमंत्री के खिलाफ चुनाव लडऩे का दंभ भर रहे जोगी ने एक बार फिर पीठ दिखाने की अपनी राजनीतिक प्रवृत्ति का परिचय दिया है। दरअसल जोगी हताशा और दुविधा से ग्रस्त हैं। उनके पुत्र जकांछ से चुनाव लड़ रहे हैं तो पत्नी कांग्रेस टिकट की दावेदारी कर रही है।
        धरम ने कहा कि मजेदार बात है कि जोगी ने बहू को बसपा का उम्मीदवार बना दिया है। खुद जोगी अपने घिसे-पिटे राजनीतिक चरित्र का प्रदर्शन कर मैदान छोड़कर डिफेंसिव होकर खेल रहे हैं।उन्हें भाजपा भी वैसी दिख रही है और यही उनके राजनीतिक पराभव का परिचायक है।  कौशिक ने कहा कि विचार-मंथन की एक लंबी प्रक्रिया से गुजरकर जो प्रत्याशी अब भाजपा की ओर से मैदान में हैं, वे सभी अपनी प्रभावी राजनीतिक भूमिका और साफ-स्वच्छ छवि के चलते जीतने वाले हैं।
                   जोगी को अब यही डर सता रहा है कि भाजपा की मजबूत रणनीति के चलते जोगी कांग्रेस-बसपा गठबंधन की राजनीतिक उपयोगिता आने वाले चुनावों के नतीजों के बाद शून्य रह जाएगी। भाजपा ने अनुभव और युवा-ऊर्जा के अद्भुत संगम का दृश्य प्रस्तुत किया है। महिला सशक्तिकरण और किसानों की राजनीतिक क्षमता को निखारने का कार्य किया है। भाजपा के घोषित 78 प्रत्याशियों में 14 महिलाएं, 01 पूर्व आईएएस, 53 किसान, 04 डाक्टर और 25 युवा  मैदान में हैं। इतनी संतुलित और सुविचारित प्रत्याशी-चयन प्रक्रिया पर उंगली उठाने के बजाय जोगी पहले अपनी दुविधा और हताशा का समाधान कर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *