रमन बताएं..बृजमोहन पर बदलापुर कार्रवाई थी.?..राजस्व मंत्री ने कहा..अधिकारियों की दूर होगी कमी…बिल्डर पर करेंगे कार्रवाई

बिलासपुर–विभाग संभाले अभी 15 दिन ही हुए हैं। महीने दो महीने में सारी खामियों को दूर कर लिया जाएगा। राजस्व विभाग में अधिकारियों और पटवारियों की कमी है। इस समस्या को भी दूर किया जाएगा। डीएमएफ कमेटी का पुनर्गठन किया जाएगा। राशि का सही जगह प्रयोग हो..इस बात को सुनिश्चित किया जाएगा। पूर्व सीएम बताएं कि क्या बृजमोहन अग्रवाल पर भी बदलापुर की कार्रवाई हुई है। प्रदेश मुखिया ने सीबीआई को राज्य में प्रतिबंधित कर सही किया है। यह बातें राजस्व मंत्री जय सिंहं अग्रवाल ने पहली बार नगर आगमन के दौरान पत्रकारों से कही।सीजीवालडॉटकॉम के whatsapp ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करे

                            राजस्व मंत्री जय सिंह अग्रवाल का मंत्री बनने के बाद पहली बार नगर आगमन पर अटल श्रीवास्तव,विजय केशरवानी,नरेन्द्र बोलर,शैलेश पाण्डेय, की अगुवाई में कांग्रेस नेताओं ने आतीशी स्वागत किया। जयसिंंह अग्रवाल ने कांग्रेस भवन में कार्यकर्ताओं को संबोधित भी किया। उन्होने कहा कि भूपेश सरकार जनता के हितों के लिए है। यहां जोड़ तोड़ के लिए कोई स्थान नहीं है। कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के बाद राजस्व मंंत्री ने पत्रकारों से भी चर्चा की।

             बिलासपुर में राजस्व के 10 हजार से अधिक मामले लंबित हैं…। एक बिल्डर ने पूरी की पूरी सड़क को ही मास्टर प्लान से गायब कर दिया है। इस पर क्या कदम उठाएंगे। राजस्व मंत्री नेक कहा कि कर्मचारियों की कमी है। जल्द ही तहसीलदारों का प्रमोशन किया जाएगा। नए तहसीलदारोंक नियुक्ति होगी। पटवारियों की कमी को भी दूर किया जाएगा। अन्य जरूरी कर्मचारियों की भर्ती होगी। लम्बित मामलों को गंभीरता से लिया जा रहा है। समस्या को जल्द ही दूर करेंगे। हमने इस दिशा में तेजी से कदम उठाया है। पांच डिसमिल से कम जमीन का भी नामांकन बाटांकन का आदेश दिया गया है।

                जय सिंह अग्रवाल ने कहा कि मास्टर प्लान से किसने सड़क गायब कर कब्जा किया है। उसके खिलाफ कार्रवाई होगी..पता लगाएंगे…जांच कर जमीन को यथास्थिति पर लाएंगे। लेकिन इसके लिए शिकायत का होना जरूरी है। राशि पावर की सरकारी जमीन को वापस लिया जाएगा या नहीं के सवाल पर जयसिंंह ने कहा कि हमें जमीन अतिक्रमण की जानकारी नहीं है। क्या सरकारी जमीन को वापस लेने के लिए भी शिकायत जरूरी है के सवाल पर जय सिंंह ने कहा कि अभी हमारी सरकार पन्द्रह दिनों पुरानी है। इसलिए महीने दो महीने में मामले को समझेंगे कि माजरा क्या है।

                               डीएमएफ राशि दुरूपयोग के सवाल पर जय सिंह अग्रवाल ने कहा कि कमेटी का पुनर्गठन का एलान किया गया है। पुरानी कमेटी को भंग कर दिया गया है। पुरानी कमेटी ने डीएमएफ में भ्रष्टाचार किया है। इसकी जांच होगी। शिकायतों को गंभीरता से लिया जा रहा है। नयी कमेटी का गठन होगा। नयी कमेटी खनिज न्यास का पैसा कैसे खर्च किया जाए…इस बात को तय करेंगी।

               घोषणा पत्र में अधिगृहित जमीन के बदले किसानों को चार गुना मुआवजा दिए जाने का एलान किया गया है। जबकि अधिकारियों का कहना है कि दो गुना ही मुआवाजा मिलेगा। आखिर माजरा क्या है। राजस्व मंत्री ने कहा कि चार गुना ही मुआवजा मिलेगा। हमने एलान कर दिया है। आदेश भी जारी कर दिया है। जल्द ही शासन को भी जानकारी हो जाएगी। उन्हें भी चार गुना मुआवजा मिलेगा…जिन्हें योजना के दौरान दो गुना मुआवजा दिया गया है। योजना को लागू करने में महीने दो महीने की देरी हो सकती है। क्योंकि 15 साल की अव्यवस्था को सुधारने में समय तो लगता ही है।

           पूर्व सीएम रमन सिंंह ने कहा कि कांग्रेस सरकार और भूपे बदलापुर की कार्रवाई कर रहे हैंं। सवाल के जवाब में जय सिंंह अग्रवाल ने कहा कि डॉ.रमन सिंह बताएं कि क्या उन्होने बृजमोहन अग्रवाल पर बदलापुर की कार्रवाई की थी। भूपेश सरकार बदलापुर की कार्रवाई में नहीं..बल्कि जनता हित में विश्वास करती है। क्योंकि जनता ने हमें जनहित कार्यों के लिए ही सरकार बनाने का जनादेश दिया है।

                       राजस्व मंत्री ने कहा कि मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है। मैने पूर्व कलेक्टर के खिलाफ कहीं कुछ नहीं कहा…बल्कि यह जरूर कहा कि शिकायतों और घपलों की जांच होगी। दोषी के खिलाफ कदम उठाया जाएगा।सीबीआई को प्रदेश में बैन के सवाल पर जय सिंह ने बताया कि पुरानी सरकार ने सीबीआई का गलत इस्तेमाल किया। भूपेश बघेल समेत कांग्रेस को डराने के लिए सीबीआई का इस्तेमाल किया गया। रमन सिंह भी चाहते थे कि सीबीआई पर प्रदेश प्रवेश को लेकर बैन लगाया जाए। भूपेश सरकार ने बैन लगा दिया।

                                       जय सिंंह ने कहा जल्द ही पीसीसी अध्यक्ष का भी चुनाव हो जाएगा। थोड़ा धीरज रखें..आपको जानकारी हो जाएगी।

उठ कर चले गए नगर विधायक

प्रेस वार्ता शुरू होते ही बिलासपुर नगर विधायक शैलेश पाण्डेय चले गए। सवाल के जवाब में जय सिंंह ने बताया कि शैलेश नाराज होकर नहीं गए। बल्कि स्थान कम होने के कारण बाहर चले गए हैं। नाराजगी का सवाल ही नहीं उठता है। कुछ कांग्रेसियों की मानें तो नगर विधायक को सही स्थान पर नहीं बैठाया गया। जिसके चलते नाराज होकर पीसी से उठकर चले गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *