ग्राम स्तर पर बनाए जाएंगे नोडल अधिकारी..बैठक में कमिश्नर ने कहा…अधिकारियों को दिया स्थल चयन का आदेश

 बिलासपुर—कमिश्नर टीसी महावार ने अधिकारियों की बैठक में नरवा, गरूवा, घुरूवा और बारी योजना के लिये स्थल चयन का आदेश दिया है। अधिकारियों से कहा जल्द से जल्द स्थान चयन कर योजना का सफल क्रियान्वयन किया जाए। कमिश्नर ने बताया कि नरवा,गरूवा, घुरूवा बारी राज्य शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक है।
                    संभागायुक्त टी.सी.महावर ने सोमवार को नरवा, गरूवा, घुरूवा और बारी योजना के प्रारंभिक तैयारियों की समीक्षा की। उन्होने निर्देश देने के साथ संभाग के जिले और विभागवार समीक्षा योजनाओं की जानकारी ली। संभागायुक्त ने योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिये सम्बन्धित विभागों को निष्ठा और मेहनत से कार्य करने का भी निर्देश दिया। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य में प्राकृतिक रूप से नाला उपलब्ध है। नाला को बारह मासी के रूप में जीवित करना है। ताकि पानी रिचार्ज हो सके। इसके लिये कच्चा नाला, बंधान बनाया जा सकता है।
                 अधिकारियों को महावार ने बताया कि  गरूवा से न केवल दूध बल्कि खेती में भी सहयोग प्राप्त होता है। घुरूवा के माध्यम से कम लागत में खाद का उत्पादन होता है। बाड़ी में साग-सब्जी उत्पादन किया जा सकता है। इसमें उद्यानिकी विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका हो सकती है। संभागायुक्त ने शासन के निर्देश के अनुरूप प्रारंभ में प्रत्येक विकासखण्ड में 5-5 गाँव चयन करने के निर्देश दिये।
              महावार ने योजना के क्रियान्वयन के लिये ग्राम स्तर पर समिति बनाकर नोडल अधिकारी नियुक्त करने को कहा। हितग्राही चयन के लिये भी आवश्यक निर्देश दिये।  बैठक में संभाग के सभी जिलों के जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी, वनमंडलाधिकारी, कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन, मछली पालन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, भूमि संरक्षण सहित सम्बन्धित अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *