सिम्स डीन को जोगी बिग्रेड ने घेरा…आदिवासी की मौत के लिए डॉक्टर को बताया दोषी…कहा तत्काल करें निलम्बित

बिलासपुर— जनता कांंग्रेस नेताओं ने बुधवार को आदिवासी युवक की मौत को लेकर सिम्स का घेराव किया। नेताओं ने जिला अध्यक्ष विक्रांतं तिवारी की अगुवाई में सिम्स अधिष्ठाता को अल्टीमेटम देते हुए आदिवासी युवक की मौत पर  तत्काल जांच करने की मांग की। जांच और दोषी के खिलाफ उचित कदम नहीं उठाए जाने पर उग्र आंदोलन की धमकी दी ।
                  जनता कांंग्रेस नेता और कार्यकर्ताओं ने आज विक्रांत तिवारी की अगुवाई में सिम्स और अधिष्ठाता का घेराव किया। विक्रांत तिवारी ने कहा कि पिछले दिनो घटी सिम्स में मरवाही विधानसभा के अगरिया जनजाति युवक रमेश सिंह अगरिया की मौत हो गयी। सिम्स के चिकित्सकों ने रमेश का इलाज सिर्फ इसलिए नहीं किया…क्योंकि उसके पास स्मार्ट कार्ड नहीं था। डॉक्टरों ने रमेश को गम्भीर अवस्था मे अस्पताल से भगा दिया। घर लौटने के दौरान रमेश की रास्ते में ही मौत हो गयी।
                       जनता कांग्रेस जिला कार्यकारी अध्यक्ष विक्रांत तिवारी और युवा संभागीय अध्यक्ष प्रशांत त्रिपाठी ने डीन पात्रा को लिखित में शिकायत कर कहा कि सिम्स की व्यवस्था बुरी तरह से चरमरा चुकी है। तानाशाह डॉक्टर किसी भी मरीज के खिलाफ अपनी कार्यप्रणाली से मौत का फरमान जारी कर देते हैं। विक्रांत और प्रशांत ने बताया कि बिलासपुर जिले के दूर दराज क्षेत्र से लोग सिम्स में इलाज कराने आते हैं। लेकिन यहां मरीजों के साथ क्या कुछ किया जाता है। इसका जीता जागता नमूना रमेश है।
               विक्रांत ने कहा कि जिले में लाखो की संख्या में विशेष संरक्षित जनजातियों के लोग निवासी करते हैं। रूपए नहीं होने पर गरीब आदिवासियों का इलाज का एक मात्र सहारा सिम्स होता है।  150-200 किलोंमिटर दूर से गरीब, आदिवासी, किसान सिम्स इस आशा के साथ आते हैं कि उनका इलाज ठीक से होगा। दुख की बात है कि सिम्स प्रबंधन की संवेदनाएँ समाप्त हो चुकी हैं। आए दिन प्रबन्धन की लापरवाही की खबरें आती हैं। फ़िर भी सिम्स प्रबंधन सुधरने को तैयार नहीं है।
                   पिछले दिनों आदिवासी युवक की मौत एक अमानवीय कृत के साथ नई सरकार के यूनिवर्सल हेल्थ प्रोजेक्ट को पलीता लगाने के लिए काफी है। जनता कांग्रेस नेताओं ने डीन को दिए अपनी शिकायत में तीन सूत्रीय मांंग को रखते हुए कहा कि रमेश की मौत के लिए जिम्मेदार डॉक्टर को तत्काल निलम्बित किया जाए। मामले की जाँच करने टीम का गठन हो। भविष्य मे इस प्रकार की घटना ना हो इसके लिए प्रबंधन को जिम्मेदारी लेनी होगी। सिम्स प्रबंधन और सरकार मृतक के परिवार को सहयता राशि देने की घोषणा करे।
                     जनता कांग्रेस नेताओं ने कहा कि मांग पूरी नहीं होने और मरीज के परिजनो को न्याय नहीं मिलने पर उग्र आंदोलन किया जाएगा। इस दौरान
जनता कांग्रेस के नेता जिला कार्यकारी अध्यक्ष विक्रांत तिवारी, युवा संभाग अध्यक्ष प्रशांत त्रिपाठी,मनीष जौर्ज, राज बहादुर,चिंतामणि देवी,सुनील गोधरे, सुनील वर्मा,रितेश बाजपाई,संतोष मेश्राम,अश्वनी दिवेदी,इमरान जोगी, अखिलेश ड़हरिया,भरत प्रजापति,शशंक तिवारी,बॉबी राज,इरशाद अली,गोपल यादाव,ललिता भरद्वाज,राहूल चन्द्रवन्सी,कमलेश यादव,ऋतुराज सिंह ठाकुर,सागर वैष्णव समेत कई लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *