7 दिनों बाद इन्दौर में मिला डॉक्टर सुलतानिया….सुसाइड नोट लिखकर हुआ था गायब…शाम तक पहुंचेगा बिलासपुर

बिलासपुर— जानकारी के अनुसार भूमाफियों से परेशान होकर 8 अगस्त को गायब डॉ.प्रकाश सुलतानिया को पुलिस ने पकड़ लिया है। डॉ.प्रकाश सुलतानिया सुसाइड नोट लिखने के बाद गायब हो गए थे। लगातार तलाशी के बाद पुलिस को जानकारी मिली कि डॉ.सुलतानिया इन्दौर में है। मामले को अभी तक पुलिस ने  दबा कर रखा है। बताया जा रहा है कि डॉ.सुलतानिया को देर शाम तक बिलासपुर लाया जाएगा। इसके बाद मामले का पुलिस खुलासा करेगी। सूत्रों की माने तो गायब प्रकाश सुलतानिया अपनी मां और पत्नि से सुबह बातचीत किया है।

                          भूमाफियों से परेशान होने के बाद सुसाइड नोट लिखकर गायब डॉ.सुलतानिया को खोज लिया गया है। डॉक्टर सुलतानिया इन्दौर में है। पुलिस टीम बिलासपुर से रवाना हो गयी है। सूत्रों की माने तो डॉक्टर सुलतानिया  को इन्दौर से प्लाइट से रायपुर होकर देर शाम बिलासपुर लाया जाएगा।

         डाक्टर सुतलानिया के छोटे भाई मुकेश सुलतानिया ने सीजी वाल से बताया कि डॉ.सुलतानिया आज शाम  तक बिलासपुर पहुंचेगा। मुकेश सुलतानिया के अनुसार आज सुबह सात बजे डॉ.प्रकाश सुलतानिया ने मां को फोन किया। इसके बाद उसने अपनी पत्नी पायल को भी फोन किया। मां और भाभी ने इसकी जानकारी मुझे दी। मैने तत्काल सुबह बिलासपुर पुलिस कप्तान से मिलकर मामले की जानकारी दी।

                                मुकेश सुलतानिया के हवाले से मिली खबर के अनुसार पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए टीम को इन्दौर रवाना कर दिया है। देर शाम तक उसे बिलासपुर लाया जाएगा। मुकेश ने बताया कि मुकेश इन्दौर से पहले रायपुर से प्लाइट से आएंगे। इसके बाद वह सड़क रास्ते से बिलासपुर पहुंचेंगे।

पुलिस नहीं उठा रही फोन

सीजी वाल ने मामले की पुष्टि के लिए पुलिस के आलाधिकारियों से सम्पर्क का प्रयास किया। लेकिन ना तो पुलिस कप्तान से ही बात-चीत हो पायी। ना ही एडिश्नल एसपी ओमप्रकाश शर्मा ने फोन उठाया। बहरहाल परिवार के सदस्य मुकेश सुलतानिया ने जरूरत बताया कि पिछले सात दिनों से बिबालसपुर में हूं। आज सुबह भाई की फोन आने की खबर को सुबह पुलिस कप्तान तक पहुंचा दिया हूं। इसके बाद बिलासपुर से रवाना होकर रायपुर पहुंच गया हूं।या

क्या था मामला

                     7 अगस्त को शुभम विहार निवासी डॉक्टर सुलतानिया रोज की तरह सुबह घर से 11 बजे काम पर निकले। लेकिन देर शाम तक घर नहीं पहुंचे। काफी परेशान होने के बाद परिजन सिविल लाइन पहुंचकर आठ अगस्त को गुमशुदा रिपोर्ट लिखाया। छानबीन के दौरान डॉक्टर सुलतानिया का बैग उनके दोस्त के पास मिला। मंगला चौक निवासी दोस्त ने ही डॉ.प्रकाश सुलतानिया का बैग घर पहुंचाया। पुलिस ने पड़ताल के दौरान प्रकाश की कार को मसानगंज के पास एक निजी अस्पताल के सामने बरामद किया।

                                   पुलिस ने डॉ.सुलतानिया के बैग से सात नोट बरामद किया। नोट में आरोप लगाया कि कुछ भू माफिया रसूखदारों के छाया में जमीन हड़पने का प्रयास कर रहे हैं। इसमें राजस्व विभाग के भी अधिकारी शामिल हैं। एक निलंबित पुलिस जवान और आरआई भी जमीन को लेकर लगातार दबाव बना रहे हैं।

                           सुलतानिया ने एक सुसाइड नोट भी लिखा है। उसने अपनी पत्नी को संबोधित कर लिखा है कि थक गया हूं। भू माफिया बहुत मजबूत हैं। इसमें राजस्व प्रशासन के अधिकारी भी शामिल हैं। जमीन को खरीदने के लिए घर का क्या कुछ दांव पर नहीं लगाया। लेकिन अब जमीन को बचाना मुश्किल हो गया है। जब तक तुम्हे पत्र मिलेगा। शायद इस दुनिया में ना रहूं।

                      पुलिस ने नोट पढ़ने और परिजनों के लगातार गुहार के बाद जांच पड़ताल को तेज कर दिया। नोट में बताए गए व्यक्तियों से लगातार पूछताछ शुरू हुई। शहर की सीसीटीवी को खंगाला गया। आज सुबह पुलिस को जानकारी मिली कि डॉ.प्रकाश सुलतानिया इन्दौर में है। परिजनों से जानकारी मिलने के बाद बिलासपुर पुलिस टीम इन्दौर रवाना हो गयी है। शाम तक डॉ.सुलतानिया को उम्मीद है कि बिलासपुर लाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *