शिक्षाकर्मी नेताओं की मांग…सेवा पुस्तिका में शामिल हो अवकाश…शासन को देना होगा जानकारी सुरक्षित रखने का आश्वासन

राज्य शासन ,संतान पालन अवकाश,प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा,छत्तीसगढ़ पंचायत न नि शिक्षक संघ,बिलासपुर— शिक्षकर्मी नेता संजय शर्मा ने मांग की है कि शिक्षक ौर कर्मचारियों की सभी जानकारी सुरक्षित रखने की व्यवस्था की जाए। इसके अलावा मामले में जिम्मेदारी भी निर्धारित हो। साथ ही कार्मिक संपदा प्रपत्र ऑनलाइन करने से पहले सेवा पुस्तिका को अपडेट किया जाए। स्थानांतरण प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद ही कार्मिक संपदा प्रपत्र भरवाने की शर्त हो।
                        शिक्षाकर्मी नेता संजय शर्मा ने ने मांग की  है कि प्रशासन पहले सेवा पुस्तिका अपडेट करने का आदेश जारी करे। एलबी संवर्ग के शिक्षकों का पंचायत संवर्ग अवधि का अर्जित अवकाश को सेवा में जो़ड़े। संजय ने बताया कि प्रत्येक छः माह में 5 – 5 दिन को सेवाओं को सेवा पुस्तिका में जोड़ा ही नही गया है। ऐसे में सवाल उठता है कि कार्मिक सम्पदा प्रपत्र में डीडीओ किसका एंट्री करेंगे। इसलिए जरूरी है कि पहले सेवा पुस्तिका को अपडेट किया जाए। जानकारी के अनुसार कई ऐसे भी कार्यालय हैं जहां सेवापुस्तिका में अधिकारियों का हस्ताक्षर ही नही हुआ है।
                 संजय ने बताया कि एलबी संवर्ग को ध्यान में रखकर संविदा कार्मिक का प्रपत्र तैयार नहीं किया गया है। जिसके कारण शिक्षकों को प्रपत्र भरने में भारी परेशानी हो रही है। प्रपत्र में समतुल्य वेतन का कही भी उल्लेख नही है। संविलियन का भी जिक्र नहीं किया गया है। जिसके चलते नई नियुक्ति के कालम में संविलियन की जानकारी भराया जा रहा है। निश्चित रूप से ऐसा करना उचित नही है।
                    संजय ने बताया कि हमने प्रशासन से मांग की है कि संविलियन के लिए अलग कालम बनाया जाए। नई नियुक्ति, पदोन्नति के साथ संविलियन का भी अलग से जिक्र हो। पदोन्नति, समयमान, समतुल्य का अलग अलग जानकारी दर्ज करने का स्थान हो।
                    संजय शर्मा ने कहा कि कार्मिक सम्पदा की जानकारी सुरक्षित हो। शिक्षक और कर्मचारियो की सभी जानकारी कार्मिक सम्पदा फॉर्म में लिया जा रहा है। कई कर्मचारियो जानकारी सार्वजनिक होने के भय से जानकारी देने से बच रहे हैं। इसलिए प्रशासन को आश्वासन भी देना होगा कि दी गयी सभी जानकारियों ना केवल सुरक्षित रखा जाए बल्कि सुरक्षा की जिम्मेदारी भी तय की जाए।
                    शिक्षक नेता के अनसुार कार्मिक सम्पदा फॉर्म नही भरने पर अगस्त का वेतन नही बनेगा। ऐसी व्यवस्था भी नहीं है कि फॉर्म को भरना ही है। ऐसे में इसका खामियाजा शिक्षकों के वेतन भुगतान पर पड़े। इसलिए इसका सम्बन्ध वेतन से नही जोड़ा जाना चाहिए।
                                              छत्तीसगढ़ पंचायत नगर निगम शिक्षक संघ प्रदेशाध्यक्ष संजय शर्मा और प्रदेश उपाध्यक्ष हरेंद्र सिंह, देवनाथ साहू, बसंत चतुर्वेदी, प्रवीण श्रीवास्तव, विनोद गुप्ता, प्रांतीय सचिव मनोज सनाढ्य, प्रांतीय कोषाध्यक्ष शैलेन्द्र पारीक, प्रांतीय संयोजक सुधीर प्रधान ने प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा, संचालक शिक्षा, संचालक कोष-लेखा एवं पेंशन से कार्मिक संपदा प्रपत्र को ऑनलाइन करने से पहले सभी समस्याओं को दूर करने को कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *