मेरा बिलासपुर

जोगी की जाति पर संतकुमार की सुनवाई…नेताम का बयान..वकील ने दी सिलसिलेवार जानकारी

बिलासपुर– हाईकोर्ट में आज जोगी जाति मामले को लेकर डबल बेंच में सुनवाई हुई है। संतकुमार नेताम की तरफ से सुदीप श्रीवास्तव ने जोगी के वंशवृक्ष की जानकारी दी है। संतकुमार नेताम ने बताया कि बहस के दौरान डबल बेंच को बताया कि अजीत जोगी के पिता काशी प्रसाद जोगी बिलासपुर स्थित जहहाभाटा के निवासी है।

Join Our WhatsApp Group Join Now

                        जोगी जाति मामले और हाईपवार कमेटी रिपोर्ट पर आज हाईकोर्ट के डबलबेंच में सुनवाई हुई। याचिकाकर्ता संतुकमार नेताम की तरफ से मुख्यन्यायाधीश राधाकृष्णन और जस्टिस शरद मिश्रा के सामने वकील सुधीप श्रीवास्तव ने जोगी की जाति मामले में विस्तार से बातों को रखा। भोजनावकाश के पहले और बाद में भी जोगी की जाति पर चर्चा हुई।

                      संतकुमार नेताम के वकील सुदीफ श्रीवास्तव ने कोर्ट को बताया कि कोर्ट के सामने रिकार्ड पेश कर बताया कि अजीत जोगी बिलासपुर में जरहाभाटा के रहने वाले हैं। अजीत जोगी के पिता काशीप्रसाद जोगी सालबहरा में शिक्षक थे। इसी दौरान उन्होने जोगीसार और सालबहरा में जमीन खरीदा। जमीन खरीदते समय कलेक्टर से अनुमति भी ली गयी है। क्योंकि आदिवासियों की जमीन को बिना कलेक्टर की अनुमति से नहीं लिया जा सकता है। यदि जोगी का परिवार आदिवासी होता तो उन्हें अनुमति लेने की जरूरत नहीं थी।

                                      नेताम ने बताया कि वकील सुदीप श्रीवास्तव ने2001 से लेकर जाति मामले में वर्तमान घटनाक्रम की कोर्ट के सामने सिलसिलेवार जानकारी दी है। यह भी बताया कि जमीन और अन्य रिकार्ड से जानकारी मिलती है कि जोगी का मूल जरहाभाटा से है। जोगीसार या सालबहरा में जमीन तो खरीदा गया। लेकिन पुस्तैनी निवासी नही हैं। नेताम ने बताया कि सुनवाई दो एक दिन लगातार चलेगी। आज सुनवाई के दौरान राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नन्दकुमार नेताम और पुूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी भी मौजूद थे।

                   

Back to top button
close