22 जुलाई को विधानसभा घेराव,फेडरेशन के प्रांतीय पदाधिकारीयो का चुनाव और कैशलेस हेल्थ ट्रीटमेंट की मांग

रायपुर।छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन की दो दिवसीय प्रांतीय व जिला स्तर की बैठक 9 एवं 10 जुलाई को राजधानी रायपुर में आयोजित की गई । जिसमे कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए है।जिसमे की इसी 22 जुलाई को विधानसभा का घेराव , फेडरेशन के प्रांतीय पदाधिकारीयो का चुनाव और कैशलेस हेल्थ ट्रीटमेंट की मांग को लेकर आगामी रणनीति बनी है।जानकारी देते हुए छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष मनीष मिश्रा ने बताया कि विगत वर्ष पूर्व राज्य सरकार ने एक लाख नव हजार सहायक शिक्षको की वेतन विसंगति दूर करने के लिए 5 सितंबर 2021 को गठित कमेटी का निर्णय लिया था जिसकी रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है।जिससे ऐसा लगता है कि सरकार सहायक शिक्षको की वेतन विसंगति दूर करने के लिए सकारात्मक दिशा में कोई निर्णायक कदम नही बढ़ा रही है।

जिसकी वजह से फेडरेशन के सभी पदाधिकारी ने एक सुर में यह निर्णय लिया गया की अब हम सड़क की लड़ाई लड़ेंगे। अब हम 22 जुलाई 2022 को विधानसभा का घेराव करेंगे। यदि तब भी हमारी मांगो पर ध्यान नही दिया गया हमारी मांगे पुरी नहीं होती है तो आगे का संघर्ष हम अनिश्चितकालीन आंदोलन की राह में लेकर चले जाएंगे।

छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के महामंत्री कौशल अवस्थी ने बताया की सरकार हमारी एक सूत्रीय मांग वेतन विसंगति के संबंध में सरकार कोई निर्णय नहीं ले रही है, जिसके कारण से हमको सड़क की लड़ाई लड़ने मजबूर किया जा रहा है।

फेडरेशन के प्रदेश मीडिया प्रभारी राजू टंडन ने फेडरेशन की बैठक के संबंध में बताया कि दोनों बैठकों में महत्वपूर्ण संगठनात्मक चर्चा हुई है जिसमे प्रदेश के पदाधिकारियों के ब्लॉक एवं जिले में 3 वर्ष का कार्यकाल पूर्ण हो चुका है वहां निर्वाचन की प्रक्रिया 30 जुलाई तक पूर्ण करने के निर्देश प्रदेश संगठन की ओर दिया गया एवं छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन एक लोकतांत्रिक संगठन है जो छत्तीसगढ़ में अकेला ऐसा संगठन है जो प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव करता है, सितंबर में प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव प्रस्तावित है और निम्न बिंदुओं पर प्रस्ताव किया गया,बैठक में वेतन विसंगति दूर करने हेतु 22 जुलाई को विधानसभा मानसून सत्र के दौरान घेराव करने और क्रमिक चरण में आंदोलन आगामी निर्णय लिया गया एवं कैशलेस ट्रीटमेंट के संबंध में समस्त कर्मचारियों को लाभ हो इसके लिए छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के द्वारा लेटर माननीय मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री को भेजा जाएगा ताकि समस्त लाखों कर्मचारीयों एवं शिक्षक संवर्ग को इलाज के लिए भटकना ना पड़े कैशलेस ट्रीटमेंट का लाभ मिले। जिसका 2019 में संविलीयन हुआ है, उसको भी पात्र होने पर प्रमोशन में लाभ दिया जाए क्योंकि शासन द्वारा जो निर्णय लिया गया है उसमें 2019 में संविलीयन भी पात्र हो गए हैं 3 साल का कार्यकाल पूरा हो गया, सर्वसम्मति से उपरोक्त निर्णय छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन द्वारा लिया गया।

रायपुर में हुई प्रांत स्तर की बैठक में सीडी भट्ट, सिराज बख्श, कौशल अवस्थी,बसंत कौशिक अश्विनी कुर्रे संजय प्रधान रंजीत बनर्जी, बीपी मेश्राम, छोटेलाल साहू ,रीता भगत , राजू टंडन, सरन दास, विकास मानिकपुरी, संकीर्तन नंद,एवं समस्त जिला अध्यक्ष गण उपस्थित हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *