मेरा बिलासपुर

CG News-हत्यारे पुत्र को थाना विश्रामपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार

सूरजपुर। जिला पुलिस नए साल में अप्रिय घटना न इसके लिए चाक चौबंद व्यवस्था में लगी हुआ थी। इधर रात में नए साल के आगमन की पार्टी मानने की खुशी में गांव में ही मामूली सी लोटा भर देसी शराब के चक्कर मे रिश्तों का कतल हो गया।शराब पार्टी में दोस्तो को शामिल करना महंगा पड़ गया पुत्र ने गुस्से में पिता की लकड़ी से पीट पीट कर हत्या कर दी।

पुलिस टीम ने अपराध क्रमांक 2/23 धारा 302 भादस.ं के तहत मामला पंजीबद्ध कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के मुताबिक सरस्वतीपुर गांव के निवासी सर्जुन सिंह ने थाना विश्रामपुर में सूचना दी कि दिनांक 31 दिसम्बर के शाम को गांव का ठाकुर उर्फ देवनाथ इसके घर पर आकर बताया कि इसके पिता फेंकू सिंह के घर के आंगन में इसका बड़ा भाई अर्जून सिंह के द्वारा पिता फेंकू सिंह से मारपीट किया है जिस कारण वे बेहोश आंगन में पड़ा है।

दोस्त व परिजन के साथ जाकर देखे तो फेंकू सिंह पीठ के बल चित्त हालत में पड़ा था जिसे यह छुकर देखा तो उसकी मृत्यु हो चुकी थी। घटना के बारे में पूछने पर बताया कि यह तथा अर्जुन, फेंकू सिंह व 1 अन्य व्यक्ति चारों फेंकू सिंह के आंगन में बैठकर शराब पी रहे थे।

फेंकू के द्वारा एक लोटा शराब निकाला जिसे अर्जुन के द्वारा पूरा पी लिया गया तब फेंकू के द्वारा अर्जुन को कहा गया कि पूरा शराब पीना था तो दोनों को लेकर क्यों आए हो, कहकर घर से आधा लोटा शराब लाया जिसे ठाकुर, फेंकू व 1 अन्य व्यक्ति के द्वारा सेवन कर लिये अर्जुन को पीने को नहीं दिए जिस कारण अर्जुन नाराज होकर अपने पिता से शराब की मांग कर शराब खत्म होने की बात पर अपने पिता फेंकू सिंह को हाथ मुक्का से मारपीट करते हुए अधजले लकड़ी व दरवाजा के हटका से मारपीट कर हत्या कर दिया।

शौर्य ने किया शहर का नाम रौशन

सूचना पर मर्ग कायमी उपरान्त अपराध क्रमांक 2/23 धारा 302 भादस.ं के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया। मामले की सूचना पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर  रामकृष्ण साहू ने प्रकरण के आरोपी की अविलम्ब गिरफ्तारी करने के निर्देश दिए।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह व सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु के मार्गदर्शन में थाना विश्रामपुर पुलिस ने आरोपी अर्जुन सिंह पिता स्व. फेंकू सिंह उम्र 25 वर्ष निवासी सरस्वतीपुर को हिरासत में लेकर पूछताछ किया गया। पूछताछ पर आरोपी ने अपने पिता की हत्या करना स्वीकार किया। आरोपी के निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त आलाजरब जप्त कर उसे गिरफ्तार किया गया।

इस कार्यवाही में थाना प्रभारी विश्रामपुर के.डी.बनर्जी, एएसआई अरूण गुप्ता, सोहन सिंह, प्रधान आरक्षक इन्द्रजीत सिंह, अविनाश सिंह, विकास सिंह, आरक्षक रविशंकर पाण्डेय, राकेश यादव, प्यारे राजवाड़े, मनोज शर्मा, विजय साहू, मुकेश साहू, अभिमन्यु पैंकरा, खेलसाय व योगेश्वर पैंकरा सक्रिय रहे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS