CG Paddy Purchase: किसानों को कब मिलेगा धान का एकमुश्त पैसा…..? चंद्राकर बोले–किसानों के साथ धोखा हुआ

Chief Editor

CG Paddy Purchase, Dhan Kharidi/रायपुर । अभी अधिक दिन नहीं हुए हैं बीजेपी ने चुनाव के दौरान किसानों को भरोसा दिलाया था कि उनकी सरकार बनने के बाद धान खरीदी का पैसा किसानों को एकमुश्त दिया जाएगा। लेकिन किसानों को एकमुश्त पैसा नहीं मिल रहा है। इसे लेकर किसानों में प्रतिक्रिया है। कांग्रेस नेता और कोऑपरेटिव सेक्टर से जुड़े बैजनाथ चंद्राकर भी मानते हैं कि बीजेपी ने किसानों से किया अपना वादा पूरा नहीं किया है। धान की कीमत एकमुश्त नहीं मिल रही है ।

CG Paddy Purchase, Dhan Kharidi। जैसा कि मालूम है कि 2023 के विधानसभा चुनाव में धान खरीदी का मुद्दा भी सबसे चर्चित रहा। बीजेपी की ओर से पेश की गई मोदी गारंटी में वादा किया गया था कि 3100 रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदी होगी। प्रत्येक एकड़ में 21 क्विंटल धान खरीदा जाएगा और धान की कीमत किसानों को एक मुश्त दी जाएगी।

हालांकि कांग्रेस ने 3200 रुपए प्रति क्विंटल में धान खरीदने का वादा किया और प्रति एकड़ 20 क्विंटल धान खरीदने की बात कही थी। धान की कीमत एकमुश्त जमा करने के मुद्दे पर कांग्रेस ने कोई बात नहीं कही थी। जानकार मानते हैं कि किसानों ने अपने कैलकुलेटर पर हिसाब लगाया तो धान की कीमत उन्हें बीजेपी के वादे में के मुताबिक अधिक नजर आई ।CG Paddy Purchase

धान की कीमत एकमुश्त जमा करने का वादा भी उन्हें अच्छा लगा। लिहाजा किसानों ने बीजेपी का साथ दिया। छत्तीसगढ़ में इन दिनों धान की खरीदी चल रही है। किसानों के खाते में धान की कीमत जमा हो रही है। लेकिन किसान बताते हैं कि धान की कीमत एकमुश्त नहीं मिल रही है।

CG Paddy Purchase।फिलहाल समर्थन मूल्य के आधार पर धान का पैसा किसानों के खाते में आ रहा है। अभी यह साफ नहीं है कि 3100 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से किसानों के खाते में धान का पैसा कब जमा होगा। इस बारे में कांग्रेस नेता और कोऑपरेटिव सेक्टर से जुड़े बैजनाथ चंद्राकर ने बताया कि किसानों को एकमुश्त राशि नहीं मिल रही है । बीजेपी ने जो वादा किया था वह पूरा नहीं हो रहा है ।

CG Paddy Purchase।चुनाव के समय में घोषणा करना अलग बात है लेकिन किसानों को एकमुश्त पैसा देना दूसरी बात है। उन्होंने कहा कि किसान परेशान है। कांग्रेस शासन काल में करीब 48 घंटे के अंदर धान की कीमत किसानों के खाते में जमा हो जाती थी। अब तीन-चार दिन का समय लग रहा है। यदि इसे भी गंभीर ना माने तो दूसरी तरफ बीजेपी को इस बात का जवाब तो देना चाहिए कि उसने जब किसानों को एकमुश्त धान की कीमत देने का वादा किया था तो अब आखिर क्यों वह पूरा पैसा एक साथ नहीं दे रही है। क्यों टाल मटोल किया जा रहा है। 

इस बारे में अब तक सिर्फ यही बात कही जा रही है कि धान खरीदी पूरी होने के बाद किसानों को पूरी रकम देने के बारे में विचार किया जाएगा। बैजनाथ चंद्राकर कहते हैं कि इस मामले में स्थिति स्पष्ट होनी चाहिए। चूंकी किसानों ने यही सोचा था कि बीजेपी में एकमुश्त पैसा देने की बात कही है। लेकिन अभी भ्रम की स्थिति है और किसानों के साथ जो धोखा हो रहा है।CG Paddy Purchase

अब तक 121.47 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी, किसानों को 26,482 करोड़ रूपए का भुगतान

अधिकारिक जानकारी के मुताबिक़ छत्तीसगढ़ में खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 के तहत एक नवंबर 2023 से धान खरीदी का अभियान निरंतर जारी है। राज्य सरकार द्वारा इस वर्ष मोदी की गारंटी के अनुरूप किसानों से 21 क्विंटल प्रति एकड़ के मान से धान की खरीदी की जा रही है। राज्य सरकार द्वारा अब तक किसानों से 121.47 लाख मीट्रिक टन धान की समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा चुकी है। धान के एवज में किसानों को 26482 करोड़ रूपए से अधिक की राशि का भुगतान बैंक के माध्यम से किया गया है।

मुख्यमंत्री विष्णु देव साय के निर्देशानुसार प्रति एकड़ 21 क्विंटल धान विक्रय का लाभ पूर्व में धान बेच चुके किसानों को भी मिलेगा। इसका आशय यह है कि एक नवम्बर से अब तक पूर्व निर्धारित मात्रा के अनुरूप धान बेच चुके किसान, शेष मात्रा का धान, उपार्जन केन्द्र में 31 जनवरी तक बेच सकेंगे। उल्लेखनीय है कि राज्य शासन द्वारा खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 में 130 लाख मीट्रिक टन धान उपार्जन का लक्ष्य रखा गया है।CG Paddy Purchase

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close