3 दिन बाद बदलेगा मौसम, तापमान में गिरावट,उत्तरी हवाएं बढ़ाएंगी ठंड, जानें विभाग का पूर्वानुमान

छत्तीसगढ़ के मौसम में बदलाव का दौर जारी है। तापमान में उतार चढ़ाव के साथ गुलाबी ठंड का अहसास होने लगा है। कहीं कहीं कोहरे और सुबह सुबह पत्तों पर ओस भी पड़ती नजर आ रही है।  छत्तीसगढ़ मौसम विभाग (Chhattisgarh Meteorological Department) की मानें तो प्रदेश में उत्तर से ठंडी हवा आ रही है, इसके चलते आने वाले दिनों में ठंड और बढ़ेगी। इस वर्ष मानसून में अच्छी वर्षा हुई है, ऐसे मेें अच्छी ठंड भी पड़ेगी।नवंबर के पहले सप्ताह में ठंड में और वृद्धि होगी। इसके साथ ही मौसम में बदलाव और बादलों के छाए रहने की संभावना है।

छग मौसम विभाग (CG weather forecast) के मुताबिक, हवाओं की दिशा उत्तरी होने के बाद सर्दी और बढ़ेगी।  31 अक्टूबर तक पूरे प्रदेश में अच्छी ठंड पड़ेगी और तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी।वही नवंबर की शुरुआत में कड़ाके की ठंड का असर देखने को मिलेगा।2 नवंबर के आसपास पूर्वी और दक्षिणी छत्तीसगढ़ में हल्के बादल आने की संभावना है। फिलहाल बस्तर और सरगुजा संभाग में ठंड का असर देखने को मिल रहा है।आने वाले दिनों में मौसम शुष्क रहने तथा आकाश मुख्यतः साफ रहने की सम्भावना है ।

फिलहाल उत्तर पूर्वी हवाओं का असर अब प्रदेश के सरगुजा और बिलासपुर में दिखने लगा है, जिसके सुबह कोहरे के साथ गुलाबी ठंड बढ़ने लगी है। फिलहाल प्रदेश के न्युनतम तापमान में विशेष परिवर्तन होने की संभावना नही है।आने वाले दिनों में न्यूनतम तापमान में और गिरावट आएगी। शुक्रवार को प्रदेश में सबसे कम न्यूनतम तापमान कृषि विज्ञान केंद्र नारायणपुर में 12.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।रायपुर में न्यूनतम तापमान 18.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस कम रहा।

बता दे कि पिछले कई सालों से 15 नवंबर के बाद ही तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है। अच्छी ठंड 15 नवंबर के बाद ही पड़ती है। 2013 में 14 नवंबर को 11.3 डिग्री, 2012 में 17 नवंबर को न्यूनतम तापमान 11.3 डिग्री और 2011 में 17 नवंबर को 13.4 डिग्री, 2010 में 23 नवंबर को न्यूनतम तापमान 12 डिग्री और 30 नवंबर 2009 में पारा 9.2 डिग्री दर्ज किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *