कांग्रेस नेता जयंत मनहर ने बताया..मस्तूरी की जनता में गहरा आक्रोश..विधायक को अपनों से फुरसत नहीं..ठगा महसूस कर रहे ग्रामीण

बिलासपुर– मस्तूरी के लोग मेहनतकश हैं…भोले भाले और बहुत ही सरल हैं। जनता की यही सरलता आज मस्तूरी क्षेत्र के विकास में बहुत बड़ी बाधा है। मस्तूरी की जनता बड़ी बड़ी बातें करने वाले अपने विधायक को तलाश रही है..। लेकिन क्षेत्र में उनका कहीं अता पता नहीं है। यह बातें मस्तूरी क्षेत्र की जनता से संवाद के बाद युवा कांग्रेस जयंत मनहर ने कही। मनहर ने बताया..प्रदेश का तेजी से विकास हो रहा है..लेकिन मस्तूरी की जनता, विधायक की उदासीनता के चलते आज भी पांच साल पीछे खड़ी है। सच तो यह है कि जनता की परेशानी से विधायक का कोई सरोकार नहीं है। जनता से जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान प्रदेश कांग्रेस सचिव रवि श्रीवास ने भी भाजपा विधायक पर जमकर निशाना साधा।

               युवा कांग्रेस नेता जयंत मनहर ने प्रदेश कांग्रेस सचिव रवि श्रीवास और अपने समर्थकों के साथ मस्तूरी विधानसभा क्षेत्र के जोंधरा,भटचौरा, खम्हरिया, जयरामनगर, बेलटुकरी,परसदा का दौरा किया। इस दौरान जयंत मनहर और रवि श्रीवास ने जनता से सीधा संवाद भी किया। मनहर ने बताया कि पिछले चार साल से जनता अपने आप को ठगा महसूस कर रही है। बड़े बड़े सपने दिखाकर विश्वास जीतने वाले भाजपा नेता को जनता तलाश कर रही है। छोटी छोटी समस्या के लिए जनता को दर दर भटकने को मजबूर होना पड़ रहा है।   

                               मनहर ने बताया कि जनसम्पर्क के दौरान खम्हरिया, बेलटुकरी, भटचौरा के ग्रामीणों ने अपनी पीड़ा को जाहिर किया। ग्रामीणों ने बताया कि विधायक को अपनी पार्टी के काम काज से फुरसत नही है। सड़क जर्जर है..घर के बुजुर्ग बृद्धा पेंशन के लिए दर दर भटकने को मजबूर हैं। गांव की परेशानियों को कलेक्टर तक पहुंचने वाला कोई नहीं है। स्थानीय लोग पेट की आग बुझाने दूसरे राज्य पलायन करने को मजबूर हैं। विधायक को हमारी कोई चिन्ता नहीं है। ऐसा लगता है कि हमने भाजपा विधायक को जीताकर बहुत बड़ा पाप कर दिया है। दरअसल अब समझ में आ रहा है कि विधायक को जनता के दुख दर्द का कोई अहसास ही नहीं है। 

                      प्रदेश कांग्रेस सचिव रवि और जयंत मनहर ने बताया कि प्रदेश सरकार के प्रयास से क्षेत्र में तेजी से उद्योग का वातावरण तैयार हो रहा है। बड़े बड़े उद्योगपति क्षेत्र में बड़े बड़े कल कारखाने खोल रहे हैं। लेकिन कमजोर नेता की वजह से इसका फायदा आम जनता को नहीं मिल रहा है। जनसुनवाई के दौरान फैक्ट्री संचालक रोजगार देने की बात तो करते हैं। लेकिन आज तक क्षेत्र की किसी भी युवा को रोजगार नहीं दिया जा रहा है।  हमारा विधायक जनसुनवाई के दौरान दिखाई नहीं देता है। दिखाई नहीं देने की वजह को हम अच्छी तरह से समझते हैं। विधायक की अनुपस्थिति की वजह से उद्योगपतियों के हौंसले बुलन्द हैं। ऐसे में रोजगार की कल्पना करना बेईमानी है। मस्तूरी के बेरोजगार युवकों को रोजगार के नाम पर झुनझुना थमाया जा रहा है। बाहर से लोग आकर अपराध कर रहे हैं। और इसका खामियाजा जनता भुगत रही है। स्थिति यह है कि स्थानीय मेहनतकश लोगों को पेट की आग बुझाने दूसरे राज्यों में रोजी मजदूरी करने के लिए भागना पड़ रहा है। 

                      मनहर ने बताया बसंतपुर, अमलडीहा, उदईबन्द, गोपालपुर में सड़क के नाम् पर सिर्फ जीवाश्म ही बाकी है।ग्रामीण अपने नेता को अपनी परेशानी बताने जगह जगह तलाश रहे हैं। लेकिन विधायक को संगठन के काम से फुरसत नहीं है। यदि ग्रामीणों की पीड़ा को दूर नहीं किया गया तो हम क्षेत्रवासियों के साथ भाजपा नेता के खिलाफ उग्र आंदोलन करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *