क्‍या पाबंदियों से कोरोना की रफ्तार पड़ जाती है धीरे, वैज्ञानिक भले ही इसे न मानें पर आंकड़े राहत की ओर कर रहे हैं इशारा

कर्नाटक (Karnataka) में कोरोना (Corona) संक्रमण के कारण लगाई गई पाबंदियों में ढील देने की शुरुआत हो गई है. राजधानी बेंगलुरू से नाइट कर्फ्यू वापस लेने की घोषणा कर दी गई है. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या नाइट कर्फ्यू, वीकेंड कर्फ्यू से कोरोना के प्रसार को रोकने में मदद मिलती है? बेंगलुरू में एक अध्ययन से पता चला है कि नाइट कर्फ्यू, वीकेंड कर्फ्यू ने कोरोना वायरस के प्रसार को धीमा कर दिया. हालांकि इंडियन स्टैटिस्टिकल इंस्टीट्यूट, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस और यूनिवर्सिटी ऑफ वर्जीनिया के बायोलकॉम्प्लेक्सिटी इंस्टीट्यूट के विशेषज्ञों द्वारा किए गए केस स्टडी में ऐसी किसी भी बात से इनकार किया गया है. स्‍टडी में कहा गया है कि ओमिक्रॉन का प्रतिबंध से कोई लेना देना नहीं है. यह प्रतिबंध के बिना भी उतना ही फैलता और प्रभावित करता है जितना प्रतिबंध के बाद.’

जनवरी के पहले हफ्ते में देश भर में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ी. इसके बाद फिर वीकेंड लॉकडाउन, नाइट कर्फ्यू जैसे प्रतिबंधों को वापस लाया गया. क्या ये प्रतिबंध वायरस के प्रसार को कम करने में सक्षम हुआ? इससे पहले भी कई विशेषज्ञों ने सवाल किया है कि इन प्रतिबंधों में संक्रमण का प्रसार कैसे होता है? शोधकर्ताओं ने कहा कि उन्होंने गूगल द्वारा प्रकाशित सामुदायिक गतिशीलता रिपोर्ट का उपयोग किया और फिर उन्होंने सिमुलेशन अध्ययन के माध्यम से इस तरह के प्रतिबंध के प्रभाव की मात्रा निर्धारित की और इस अध्ययन में कहा गया है कि प्रतिबंधों ने प्रसार को धीमा कर दिया है. गणितीय मॉडल का उपयोग करते हुए, अध्ययन पता चला कि गतिशीलता प्रतिबंधों का लाभ वक्र को बराबर करना और पीक को कम करना है और एक बार जब वक्र बराबर जाता है तो अस्पतालों में पहुंचने वालों की संख्या कम हो जाती है. मॉडल के मुताबिक, एक बार जब पीक चरम पर पहुंच जाता है तो प्रतिबंधों की उपयोगिता सीमित हो जाती है.

सरकार ने हटाया वीकेंड लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू, कल से फिर से खुलेंगे स्कूल

बता दें कि कर्नाटक में एक समय में 40 हजार के अधिक कोरोना के नए मामले सामने आते थे. मगर बीते कुछ दिनों से संक्रमितों की संख्या में कमी आई है. शुक्रवार को 31 हजार के करीब नए मामले सामने आए थे. 71 हजार से अधिक लोग कोरोना से ठीक हुए थे. इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने वीकेंड लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू भी वापस ले लिया है. सोमवार से बेंगलुरू में सभी स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति दे दी गई है. कर्नाटक के मंत्री बीसी नागेश ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि सभी विभाग कोरोना से जुड़े दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित करें. उन्होंने बताया कि इनडोर विवाह समारोह में अब 200 लोग शामिल हो सकेंगे, जबकि आउटडोर विवाह समारोहों में 300 लोगों को शामिल होने की अनुमति दी जा सकेगी. उन्होंने बताया कि राज्य में 50 फीसदी क्षमता के साथ जिम खुलेंगे. बार, होटल को भी खोला जा सकेगा. हालांकि, उन्हें सरकार की ओर से जारी एसओपी का पालन करना होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *