वर्चुअल किसान सम्मेलन में गरजे CM ..पूर्व CM से मांगा अनोखे अंदाज में अन्नदाताओं का जवाब..बिलासपुर में भी जमकर बरसे कांग्रेसी

बिलासपुर—- छत्तीसगढ़ स्तरीय वर्चुअल किसान सम्मेलन का आयोजन प्रदेश स्तर पर किया गया। वर्चुअल किसान सम्मेलन को प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी पी एल पुनिया  ,प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम समेत स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंह देव, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू,रविन्द्र चौबे,शिव डहरिया, मोहम्मद अकबर, कवासी लकमा,पूर्व मंत्री और धायक धनेंद्र साहू ने संबोधित किया।
 
                बिलासपुर शहर कांग्रेस कमेटी के नेतृत्व में चारो ब्लाक ,और कांग्रेस जन कांग्रेस भवन में वर्चुअल किसान सम्मेलन का आनलाइन आयोजन किया गया। सम्मेलन में सीएम और मंत्रियों ने प्रदेश के किसानों और कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।
 
          सम्मेलन को अपने संबोधन में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने चिर परिचित अंदाज में सवाल के साथ पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। मुख्यमंत्री ने बघेल ने कहा कि डॉ रमन सिंह और भाजपा नेता बताए कि 2100 समर्थन मूल्य और बोनस का वादा क्यों नहीं पूरा किया गया। आज भाजपा बोल रही है कि 20 क्विंटल धान की खरीदी करो ?
 
             मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार पहले टैक्स 4000 रुपये टैक्स राज्य सरकार को दे। इसके अलावा भाजपा नेता बोनस की राशि भी दिलाएं। बावजूद इसके डॉ रमन सिंह और भाजपा नेता मौन हैं। मुख्यमंत्री ने कहा के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो भी वादा किया..परिणाम उलट आया है।इसमें  तीन किसान बिल भी है ,जिसका लाभ चन्द उद्योगपतियों को होने वाला है। 
 
                             छत्तीसगढ़ प्रभारी पी एल पुनिया ने कहा कि कांट्रेक्ट फार्मिंग से किसान मजदूर हो जाएगा। मूल्य का भार उपभोक्ता पर पड़ेगा।  प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि  बिल के लागू होने से सबसे ज्यादा प्रभावित छत्तीसगढ़ होने वाला है। क्योंकि छत्तीसगढ़ की आर्थिक व्यवस्था कृषि पर आधारित है। किसान भूमिहीन और मजदूर बेरोजगार हो जाएंगे। छत्तीसगढ़ सहित पूरे देश मे अराजकता का माहौल उतपन्न हो जाएगा। हर हाथ काम विहीन हो जाएगा।               
                       प्रदेश उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने कहा कि कृषि राज्य सूची का विषय है। जिस पर राज्य सरकारों को देश, काल, जलवायु के हिसाब से नियम और कानून बनाने का अधिकार संविधान ने दिया है। केंद्र की मोदी सरकार संविधान को नजर अंदाज कर ,अधिकारों का अतिक्रमण करते हुए ,संसद में बिना चर्चा तीन कृषि बिलो को पास किया गया। केन्द्र सरकार ने ऐसा कर अम्बानी और अडानी के प्रति फर्ज पूरा किया है। अटल ने कटाक्ष करते हुए कहा कि सभी लोग जानते हैं कि न तो नरेंद्र मोदी किसान है और न ही कृषि मंत्री तोमर ही कृषि मंत्री है।  यही कारण है कि अन्नदाताओं के लिए काला कानून बनाया जा रहा है।        
 
                    शहर अध्यक्ष प्रमोद नायक ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने सोची समझी  रणमीति के तहत कृषि बिल पारित कराया है। कानून लागू होने से मंडी व्यवस्था बरबाद हो जाएगी। जब कांट्रेक्ट फार्मिंग लागू होते ही समर्थन मूल्य खत्म कर दिया जाएगा। इस बिल के माध्यम से कृषि को आवश्यक वस्तु अधिनियम से बाहर कर दिया गया है। अब कालाबाज़ारी और जमाखोरी  बढ़ेगी। केंद्र सरकार फसल नही  खरीदेगी तो राशन दुकान से गरीबो को मिलने वाला सस्ता अनाज बन्द हो जाएगा। समर्थन मूल्य नही मिलने से कृषक ऋण के बोझ में दबेगा। किसान जमीन बेचने को मजबूर होगा।     
 
                       कार्यक्रम में  प्रदेश उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव,शहर अध्यक्ष प्रमोद नायक,महापौर रामशरण यादव,ज़िला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान , प्रदेश पदधिकारी विष्णु यादव,प्रदेश सचिव गण रविन्द्र सिंह,महेश दुबे,प्रदेश प्रवक्ता अभय नारायण राय,पूर्व विधायक चन्द्र प्रकाश बाजपेई,सभापति शेख नजीरुद्दीन , पूर्व महापौर राजेश पांडेय,पूर्व शहर अध्यक्ष नरेंद्र बोलर,राकेश शर्मा,,देवेंद्र सिंह,धर्मेश शर्मा,सेवा दल अध्यक्ष अशोक शुक्ला,ऋषि पांडेय,पार्षद गण राजेश शुक्ला,रमाशंकर बघेल,मनीष गरेवाल,राम प्रकाश साहू,अब्दुल खान,अजय यादव,सीमा घृतेश,सन्ध्या तिवारी,,परदेशी राज,सूरज मरकाम,पुष्पेंद्र साहू,सुभाष ठाकुर ,शैलेन्द्र जायसवाल,,ब्लाक अध्यक्ष तैय्यब हुसैन ,अरविंद शुक्ला,विनोद साहू,अजय यादव,पुष्पा दुबे,सीमा पांडेय,रीता मजूमदार,मंजू त्रिपाठी,अज़रा खान ,चन्द्र प्रदीप बाजपेयी,विधि प्रकोष्ठ के सन्दीप दुबे,अफरोज खान,अशोक भंडारी,बद्री यादव,एस एल रात्रे,अमृत आनन्द,अर्जुन सिंह,संजय साहू,मोती कुर्रे,मोती ठारवानी,कमल टुसेजा,मोह हफ़ीज़,अजय साहू,अजय काले,मोह अयूब,अब्दुल सलीम कुरैशी,आशीष शर्मा,भजन कुमार,सुरेश कश्यप,राज बंजारे, अमित दुबे,जहुर अली,हरमेन्द्र शुक्ला,राज यादव,पूना कश्यप,महेंद्र यादव,अभिषेक रजक,नवीन राव,शेखर राव,शंकर कश्यप,शंकर्यादाव,जी एल जोशी,अतहर खान,पूजा प्रजापति,हेमलता साहू,अनुपरुणा,रॉबिन्सन,शेख समीर,प्रीति प्रधान,दुर्देशी धनगर,संजय मिश्रा,गोविंद,विनय जांगड़े,जय ,पवन कुर्रे,गजेंद्र साहू,रामेश्वर सिंह,महेंद्र नेताम,सकेश मिश्रा,जय यादव,बापी डे, मनीराम साहू,भरत जोशी,तिलक नेताम,शिव चरण,राजेन्द्र वर्मा,नीलेश मांदेवार,संस्कार पांडेय,नारायण ,रमेश गुप्ता,आरती ठाकुर,तरुणी सारथि, सन्तोष भोई,आदि बड़ी संख्या में उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *