विधायक चंदन कश्यप ने राज्योत्सव कार्यक्रम का किया शुभारंभ,शासन प्रदेश की संस्कृति और विरासत को बनाये रखने प्रयासरत

नारायणपुर- हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक चंदन कश्यप के मुख्य आतिथ्य में आज स्थानीय बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खेल मैदान में गरिमामयी ढंग से शुभारंभ हुआ। इस अवसर पर उन्होंने जिलेवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश बीते 22 वर्शो में निरंतर प्रगति के पथ पर बढ़ रहा है। विगत 4 वर्शो में शासन की नई योजनाओं के माध्यम से आमजन को लाभान्वित किया जा रहा है।

वहीं राज्य शासन ने प्रदेश की सांस्कृतिक पहचान और विरासत को बनाये रखने, सहेजने और संवर्धन करने में प्रयासरत है। कार्यक्रम के दौरान स्कूली छात्राओं ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी, जिसे उपस्थित अतिथियों एवं दर्शकों ने खूब सराहा। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती श्यामबती नेताम, नगर पालिका अध्यक्ष सुनीता मांझी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री देवनाथ उसेण्डी, नगर पालिका उपाध्यक्ष प्रमोद नेलवाल, जनपद पंचायत नारायणपुर अध्यक्ष श्री पंडीराम वड्डे, अध्यक्ष जनपद पंचायत ओरछा श्रीमती मालती नुरेटी, अबूझमाड़ विकास प्राधिकरण श्रीमती कमली लेकाम, जनप्रतिनिधी श्री रजनू नेताम, सहित कलेक्टर ऋतुराज रघुवंशी, पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री देवेश कुमार ध्रुव,, एसडीएम श्री जितेन्द्र कुर्रे, डिप्टी कलेक्टर श्री प्रदीप वैद्य, श्री रामसिंग सोरी, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री संजय चंदेल सहित वार्ड पार्शद श्रीमती ममता राठौर, राखी राणा, अमित भद्र, विजय सलाम सहित क्षेत्र के श्री जनप्रतिनिधी श्री शिवकुमार पाण्डेय, जीपी देवांगन के अलावा अन्य विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी-कर्मचारी, शिक्षक-शिक्षिकायें एवं नागरिकगण उपस्थित थे। 

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक श्री कश्यप ने कहा कि छत्तीसगढ़ की ग्रामीण अर्थव्यवस्था को गौठानों के माध्यम से मजबूत बनाने के लिए शासन द्वारा भागीरथ प्रयास किया जा रहा है। वहीं आदिवासी हितों को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्धता के साथ प्रयास किया जा रहा है। युवाओं को मुख्यधारा में लाने के लिए अवसर की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है।

उन्होंने कहा कि जिले के युवाओं ने कबाड़ से जुगाड़ कर अपनी वैज्ञानिक सोच बढ़ायी है। उन्होंने कहा कि विगत 75 वर्शो में जो अबूझमाड़ पिछड़ा था और किसी ने बूझने का प्रयत्न नहीं किया, लेकिन हमारी सरकार द्वारा इस क्षेत्र के ग्रामीणों को मसाहती पट्टा देकर उन्हें भूमि का मालिक बनाया है और उनके उपज धान को समर्थन मूल्य पर भी खरीदा जा रहा है।

प्रदेश की पहचान आदिवासी संस्कृति से है और इस संस्कृति को संजोये रखने और उसे बढ़ाने के लिए घोटुल-देवगुड़ी का निर्माण शासन और प्रशासन के सहयोग से किया गया है। उन्होंने कहा कि अबूझमाड़ क्षेत्र के युवाओं को अंग्रेजी शिक्षा देने के लिए स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों की स्थापना की गयी है।  वहीं प्रशासनिक व्यवस्था को स ुदृढ़ करने और आमजन को सरकारी कामों की आसान पहुंच हेतु 2 तहसीलों का भी गठन किया गया है। इस अवसर पर उन्होंने आमजन का आव्हान करते हुए कहा कि प्रदेश को सुखी और समृद्ध बनाने के लिए सभी लोग आगे आये और शासन की योजनाओं की जानकारी लेकर लाभान्वित होंवे।

कार्यक्रम को जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती श्यामबती नेताम, नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती सुनीता मांझी, जनपद अध्यक्ष नारायणपुर श्री पंडीराम वड्डे, जनप्रतिनिधि श्री रजनू नेताम ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में उत्कृश्ट कार्य करने वाले अधिकारी-कर्मचारियों, विभिन्न खेलों के खिलाड़ियों को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। इस दौरान उन्होने वार्ड क्रमांक 4 में 34 लाख 98 हजार रूपये से फुटबाल ग्राउंड निर्माण हेतु भूमिपूजन किया।

मुख्य कार्यक्रम के पश्चात हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक चंदन कश्यप सहित अन्य अतिथियों ने विभिन्न विभागों क द्वारा लगायी गयी प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उल्लेखनीय है कि कार्यक्रम स्थल पर विभागों की लगायी गयी प्रदर्शनी के माध्यम से शासन की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी जा रही है। साथ ही कृशि विभाग द्वारा 50-50 कृशकों को मसूर एवं सरसो के बीज, टूल किट, महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा कौशल्या मातृत्व योजनांतर्गत 5 हितग्राहियों को 5 हजार की राशि, समाज कल्याण विभाग द्वारा निःशक्त जन विवाह प्रोत्साहन राशि, दिव्यांग दंपत्ति को 50 हजार का चेक, नगर पालिका द्वारा परिवार सहायता के दो  हितग्राहियों को 20-20 हजार का चेक, तीन स्व सहायता समूह को साढ़े पांच लाख रूपये का चेक, रेशम विभाग द्वारा 10 हितग्राहियों को बुनियाद रीलिंग मशीन, मत्स्यपालन विभाग द्वारा मत्स्यपालकों को जाल एवं खाद्य विभाग द्वारा दो हितग्राहियों को राशन कार्ड का वितरण किया गया। इस दौरान  इस दौरान कार्यकम स्थल पर ग्राम बिंजली और बेलगांव की 18 वर्श से 40 वर्श तक की महिलाओं के बीच रस्साकसी प्रतियोगिता हुई, जिसमें बिंजली की महिलाएं विजयी रहीं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *