2 साल बाद सुलझी हत्या की गुत्थी..पत्नी ने गला दबाकर पति को मारा..2 रिश्तेदार भी गिरफ्तार..

रायगढ़—घरघोड़ा पुलिस ने खोखरोआमा में दो साल पहले हुई हत्या की गुत्‍थी को सुलझा लिया है।पुलिस ने अंधे कत्ल की खुलासा करते हुए मृतक की पत्नी और साला को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेज दिया है।
 
         घरघोड़ा पुलिस के अनुसार दो साल पहले ग्राम नाकटाड बकचबा  निवासी सुंरद मांझी की हकिसी ने हत्या कर दी। मृतक का शव 27 अगस्त 2019 को ग्राम खोखरोआमा के तालाब में पाया गया। जांच पड़ताल बाद मृतक की पत्नी, मृतक के दो साला को गिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेजा गया है । 
 
             घरघोडान ने बताया कि कुंवरमति पति सुंदर साय निवासी नाकटाड ने बताया कि खोखरोआमा तालाब में डूबने से सुंदर मांझी की तालाब में डूब कर मौत हो गयी है।  सूचना मिलते ही पुलिस ने शव को बरामद कर अपराध पंजीबद्ध किया। मामले को जांच में लिया गया। जांच पड़ताल और पचनामा रिपोर्ट से जानकारी मिली कि मृतक को गला घोंटकर मारा गया है।
 
                                         पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा ने टीम बनाकर मामले में गहनता से जांच करने का निर्देश दिया। जांच पड़ताल के दौरान मृतक की पत्नी कुंवरमति से दुबारा गहनता से पूछताछ की गयी। पूछताछ के दौरान मृतक की पत्नी पर पुलिस को शक हुआ। इस दौरान जानकारी मिली कि 25 अगस्त 2019 को मृतक अपने ममेरा साला धनाराम मांझी के साथ शराब पीने भेंगारी की तरफ गया था ।साथ में यह भी पता चला कि मृतक को अंतिम बार नंद कुमार मांझी ने देखा है।
 
                          नंद कुमार मांझी ने पूछताछ करने पर बताया कि सुंदर मांझी (मृतक) एवं धनाराम को रास्ते में आते समय लडते झगडते देखा गया। नंद कुमार मांझी से जानकारी के बाद संदेही कुंवरमति मांझी, अघन मांझी और धनाराम मांझी को हिरासत में लेकर बारीकी से पूछताछ की गयी। आरोपियों ने सिलसिलेबार घटनाक्रम की जानकारी देते हुए अपराध कबूल किया। 
 
     पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ के आधार पर बताया कि  कुँवरमती मांझी अपने भाई अघन मांझी को मोटरसायकल खरीदने 10,000 रूपये दी थी। 24 अगस्त 2019 को सुंदर मांझी अपने साला अघन कुमार से पैसा मांगने गया। इसी दौरान दोनो के बीच लडाई झगडा हो गया। मृतक सुंदर मांझी को अघन कुमार डण्डा से मारपीट कर मोटरसायकल वापस कर दिया। सुंदर मांझी  दूसरे दिन पत्नी से कहा कि  पुराना मोटरसायकल नहीं लेगा। इसलिए अपने भाई से 10,000 रूपये मांग कर लाओ। और फिर वह पत्नी से लडाई झगडा किया।
 
               25 अगस्त 2019 को सुंदर मांझी और धनाराम दोनों शराब पीने भेंगारी की तरफ गए। वापस शाम करीब 5-6 बजे घर आने पर  फिर सुंदर मांझी अपने पत्नी कुंवरमति से 10,000 रूपये अघन मांझी से मांगने कहा। और फिर लड़ाई झगड़ा होने लगा। पति-पत्नी के बीच लडाई झगडा होते देख धनाराम मांझी, सुंदर मांझी के दोनो पैर को पकडकर जमीन पर गिरा दिया। सुन्दर की पत्नी कुंवरमति मांझी ने गला दबाया। जिससे सुंरद मांझी की मौके पर ही मौत हो गयी।
 
                  रात्रि करीब 9 बजे कुंवरमति अपने भाई अघन मांझी को घर बुलाकर घटनाक्रम की जानकारी दी । इसके बाद पत्नी अघन मांझी और धनाराम मिलकर रात्रि 11.00 बजे बस्ती के बाहर तालाब में शव फेंक दिया। साथ ही सुन्दर के कपडो को तालाब की मेड में छोडकर घर लौट आए।
     
                    पुलिस के अनुसार कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपियों ने अपराध कबूल किया। आरोपी मृतक की पत्नी कुंवरमति मांझी, साला अघन मांझी और ममेरा साला धनाराम मांझी कोगिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेजा गया है । अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में थाना प्रभारी निरीक्षक अमित सिंह, सहायक उप निरीक्षक चंदन सिंह नेताम, राजेश मिश्रा, आरक्षक नंदू पैंकरा, विरेन्द्र भगत, नरेन्द्र भगत, मआर- सीमा लकडा, बबीता कुजूर का अहम योगदान रहा है
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *