मंत्रिमंडल विस्तार से पहले होंगी राजनीतिक नियुक्तियां, जिलाध्यक्ष पद के लिए दिल्ली तक की जा रही है लॉबिंग

जयपुर।राजस्थान कांग्रेस (Rajasthan Congress) में मंत्रिमंडल विस्तार (Cabinet Expansion) को लेकर लंबे समय से घमासान चल रहा है. सरकार भी ज्यादा से ज्यादा मंत्री बनाकर सबकी नाराजगी को दूर करना चाहती है. इसके लिए राज्य सरकार ने केंद्र सरकार को विधानपरिषद के गठन का प्रस्ताव भेजने का भी फैसला लिया है. लेकिन इसी बीच मंत्रिमंडल विस्तार से पहले अब जिला संगठन और राजनीतिक नियुक्तियां (Political Appointments) करने की तैयारी की जा चुकी है.

संगठनात्मक नियुक्तियों के लिए प्रदेश स्तर पर नामों का पैनल तैयार किया जा चुका है. अब सीएम अशोक गहलोत से चर्चा के बाद इसे एआईसीसी के पास भेजा जाएगा. सूत्रों के मुताबिक जिलाध्यक्ष पद के लिए पार्टी में जबरदस्त लॉबिंग की जा रही है. यहां तक की कई विधायक भी इस दौड़ में शामिल हैं.

इसलिए जिलाध्यक्ष पद के लिए लगाया जा रहा है जोर

इसके पीछे वजह आगामी चुनावों में टिकट की दावेदारी पुख्ता करना भी है. इसलिए विधायक भी जिलाध्यक्ष की दौड़ में शामिल हैं. जानकारी के अनुसार जयपुर शहर के विधायक रफीक खान और जयपुर ग्रामीण के लिए गोपाल मीणा का नाम चर्चा में हैं. वहीं गई प्रभावशाली विधायक ऐसे भी हैं जो अपने समर्थकों को अध्यक्ष बनाने के लिए दिल्ली तक लॉबिंग कर रह  हैं.

सीट बढ़ाने पर नहीं कोई मत

संगठन में नियुक्तियों को लेकर पार्टी में जिलों की संख्या बढ़ाने को लेकर भी बातचीत की जा रही है. जयपुर में शहर और ग्रामीण सीट बनाए जाने को लेकर काफी चर्चा की जा रही है. लेकिन सूत्रों का मानना है कि दो जिलाध्यक्षों के प्रस्ताव पर पार्टी में कोई मत नहीं बना पाया है.

अजय माकन-सीएम अशोक गहलोत के बीच चर्चा

वहीं प्रदेश में अभी कई बोर्ड और आयोगों में राजनीतिक नियुक्तियों के पद खाली पड़ें हैं. यहां नियुक्तियों के लिए अभी प्रदेश प्रभारी अजय माकन और सीएम अशोक गहलोत के बीच चर्चा चल रही है. प्रदेश में कई आयोगों में राजनीतिक नियुक्तियां की गई हैं, लेकिन अभी भी बड़ी संख्या में पद खाली पड़े हैं. सूत्रों का कहना है कि विधायकों को इनमें शामिल करने पर ऑफिस ऑफ प्रोफिट की कानूनी अड़चन सामने आ रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *