परिवहन से राजस्व बढ़ाने के लिये रिक्त पदों पर भर्ती

Shri Mi

परिवहन एवं स्कूल शिक्षा मंत्री उदय प्रताप सिंह ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि प्रदेश में परिवहन से होने वाले राजस्व को बढ़ाने के लिये रिक्त पड़े पदों पर भर्ती का काम तेज गति से किया जाये। उन्होंने परिवहन की सुरक्षा व्यवस्था पर भी विशेष ध्यान देने की बात कही। परिवहन मंत्री मंत्रालय में विभागीय अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर एसीएस परिवहन राजेश राजौरा भी मौजूद थे।

परिवहन मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सड़कों पर निश्चित मापदण्ड से ज्यादा वातावरण को प्रदूषित करने वाले वाहनों की जाँच कर उन पर सख्त कार्रवाई की जाये। उन्होंने कहा कि अंतर्राज्यीय परिवहन सेवा को बढ़ाने के लिये अन्य राज्यों के साथ अनुबंध किया जाये।

विभागीय पुनर्गठन
परिवहन मंत्री ने विभाग की संरचना के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि विभाग के पुनर्गठन का प्रस्ताव तैयार करें। इस पर शासन स्तर पर कार्यवाही सुनिश्चित कराई जायेगी। मंत्री श्री सिंह ने प्रदेश में चलने वाली स्कूल बसों के फिटनेस कार्य को प्राथमिकता के साथ किये जाने के निर्देश दिये।

अपर परिवहन आयुक्त श्री अरविंद सक्सेना ने बताया कि प्रदेश में 10 क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, 10 अतिरिक्त क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी और 32 जिला परिवहन अधिकारी कार्य कर रहे हैं। उन्होंने प्रचलित विभागीय अधिनियम और नियमों की जानकारी दी।

बैठक में 15 साल से अधिक पुराने शासकीय वाहनों का पंजीयन निरस्त करते हुए स्क्रेप योजना पर भी चर्चा की गई। बैठक में बताया गया कि इंस्टीट्यूट ऑफ ड्रायवर ट्रेनिंग रिसर्च सेंटर इंदौर और छिंदवाड़ा में कार्य कर रहे हैं। महिलाओं की सुरक्षा का ध्यान रखते हुए अब तक लगभग 37 हजार यात्री वाहनों में व्हीकल लोकेशन ट्रेकिंग डिवाइस और इमरजेंसी बटन लगाये जा चुके हैं। मंत्री श्री सिंह ने शेष बचे कार्य को एक कार्य-योजना बनाकर पूरा करने के निर्देश दिये।

बैठक में कम्प्यूटराइज्ड और इंटीग्रेटेड कम्प्यूटराइज्ड चेकपोस्ट की गतिविधियों की समीक्षा की गई। मंत्री श्री सिंह ने विभाग में ऑनलाइन सेवाओं के विस्तार पर भी जोर दिया। बैठक में वाहन ग्रीन सेवा, कम्प्यूटराइज्ड पॉल्यूशन सेंटर पर भी चर्चा की गई। बैठक में मध्यप्रदेश सड़क परिवहन निगम के कार्यों की भी समीक्षा की गई। बैठक में अपर सचिव श्री सिबि चक्रवर्ती, एमडी सड़क परिवहन निगम श्री संजय जैन और विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close