सहायक शिक्षकों की तबादला सूची पर हल्ला बोल की स्थिति, संगठन ने कहा – नियमों की हुई अनदेखी

मुंगेली।जिले की 103 सहायक शिक्षको की तबादला सूची में 74 शिक्षको का प्रशासनिक तबादला आदेश हल्ला बोल की स्थिति मे आ पहुंचा है । शिक्षक संघ भी जाना चाह रहे हैं कि शिक्षा विभाग में हो रहे शिक्षकों के प्रशासनिक तबादले की क्रोनोलॉजी क्या है। कही प्रशासनिक तबादला अब शासन प्रशासन का हथियार तो बन नही रहा है।शिक्षकों के तबादले को लेकर कलेक्टर और जिला शिक्षा अधिकारी की कार्यशैली पर पहली बार उंगली मुंगेली से उठी है ।क्योकि प्रशासनिक तबादला जिला शिक्षा अधिकारी की ओर से दी गई सूची पर जिला कलेक्टर की स्वीकृति के बाद ही सम्भवतः हो सकता है।

मुंगेली में बन रही हल्ला बोल की स्थिति की बड़ी वजह हाल ही में जारी स्थानांतरण सूची में 103 सहायक शिक्षक में 29 शिक्षकों का स्वेच्छा से बाकी शिक्षक का प्रशासनिक तबादला कर दिया गया है। जिसे गवर्नमेंट एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन छत्तीसगढ़ सरकार के नीति नियम के खिलाफ बता रहा है। एसोसिएशन का कहना है कि सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से जारी स्थानांतरण नीति 2022 तथा शिक्षा विभाग के विशेष उपबंध नियम ,प्रावधानों को किया गया दरकिनार कर दिया गया है।जिले में भेदभाव पूर्ण स्थानांतरण हुआ है आलम यह है कि कई विद्यालय एकल शिक्षकिय हो गए है। अधिकारियों ने संवेदना का परिचय भी नही दिया है प्रशासनिक तबादले में विकलांग तक को नही छोड़ा गया है। एक ब्लॉक से दूसरे ब्लाक तक प्रशासनिक तबादला कर दिया गया है।

गवर्नमेंट एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन छत्तीसगढ़ के प्रांताध्यक्ष कृष्णकुमार नवरंग ने बताया कि जिला मुंगेली में स्कूल शिक्षा विभाग के प्रस्ताव पर प्रभारी मंत्री के अनुमोदन से कार्यालय कलेक्टर जिला मुंगेली द्वारा जारी स्थानांतरण सूची में 103 सहायक शिक्षक में 29 शिक्षकों ने स्वेच्छा से बाकी 74 शिक्षक का प्रशासनिक स्थांतरित किया गया । जारी सूची में छ.ग. शासन सामान्य प्रशासन विभाग तथा स्कूल शिक्षा विभाग के विशेष उपबंध कंडिका 3 का शिक्षा विभाग मुंगेली ने खुलकर उलंघन किया ।

नवरंग ने बताया कि सूची में प्रावधानित नियम 3:1 ऐसे स्थानांतरण नहीं किये जायेंगे जिनके फलस्वरूप कोई स्कूल शिक्षक विहीन या एकल शिक्षकीय हो जाय : के विपरीत आदेश क्र. 49 अमृत दास खूंटे शास प्राथमिक विद्यालय जरेली वि.ख. पथरिया ,क्र 95 कुंदन पात्रे गाणा टोला लोरमी सहित कई विद्यालय एकल शिक्षिकीय हो गए है। इसी तरह स,क्र, 79, में परदेशी यादव बैजना पथरिया से 100 km अधिक मुंगेली जिला के सीमा स्कूल डोडा में किया गया है।

नवरंग का कहना है कि मुंगेली जिले की तबादला सूची के स. क्र. 96 में मुकेश कुमार टंडन बरबसपुर लोरमी से 80 किलोमीटर दूर विकास खंड परिवर्तन कर मुंगेली पहुँच विहीन दुरस्थ गांव घोरपुरा मुंगेली में तबादला कर दिया गया है। जबकि मुकेश टंडन शत प्रतिशत विकलांग है। मानवीयता को परे रख कर मनमानी पूर्वक तथा तानाशाही ,भेदभाव पूर्ण ,पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर शिक्षक समुदाय को प्रताड़ित करने के लिए तबादला किया गया है ।

गवर्नमेंट एम्प्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन जल्द ही संभागीय कमिश्नर और जिला कलेक्टर के समक्ष मांग रखने वाला है कि प्रशासनिक तबादले पर शासन के प्रावधानित नियम के तहत जिला स्तर में एक अपीलिय विभागीय समिति का गठन किया जाए जो स्थांतरण से प्रभावित तथा नियम विपरीत स्थानांतरित शिक्षकों के अपील पर सुनवाई कर समयसीमा के भीतर निरस्त ,संसोधन,परीक्षण किया जा सके।

कृष्ण कुमार नवरंग ने बताया कि शासन के स्थानांतरण नीति के विरुद्ध सूची बनाकर जिला कलेक्टर व प्रभारी मंत्री को गुमराह कर आदेश जारी करने वाले अधिकारी के विरुद्ध जाँच कर कार्यवाही किया जाय । तबादले के विषय पर पीड़ित पक्ष को राहत नही मिलने पर भविष्य में आंदोलन की रूप रेखा भी तय की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.