राष्ट्रपति भवन घेरने पहुंचे कांग्रेसियों को पुलिस ने रोका..मंत्री लखमा और संदीप ने सांसद राजीव को बताया..रेलवे ने गरीबों का जीना मुश्किल किया

बिलासपुर—महंगाई के खिलाफ छत्तीसगढ़ समेत शुक्रवार को देश के कोने कोने से राष्ट्रपति भवन घेरने पहुंचे कांग्रेस नेताओं के मंसूबों पर दिल्ली पुलिस ने मंसूबों पर पानी फेर दिया है। राष्ट्रपति भवन पहुंचने से पहले ही पदयात्रा की शुरूआत में दिग्गज कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने पकड़कर सुरक्षित स्थान पहुंचा दिया। राष्ट्रपति से  मोदी सरकार की शिकायत करने पहुंचे सैकड़ों नेताओं को बैरंग वापस लौटना पड़ा। इस दौरान प्रदेश के आबकारी मंत्री कवासी लखमा और बिलासपुर जिले से कोटा मंडी अध्यक्ष सदीप शुक्ला ने राज्यसभा सांसद राजीव शुक्ला से मिलकर रेल प्रशासन की दादागिरी से प्रताड़ित गरीबों की व्यथा को पेश किया। 
   
                         छत्तीसगढ़ नेताओं समेत देश के कोने कोने से राष्ट्रपति भवन का घेराव करने पहुंचे कांग्रेसियों के मंसूबों पर दिल्ली पुलिस ने पानी फेर दिया। बिना शिकायत किए सांकेतिक प्रदर्शन कर कांग्रेस अपने अपने ठिकाने लौट गए। इसी क्रम में प्रदेश के आबकारी मंत्री कवासी लखमा और कोटा मंडी उपाध्यक्ष संदीप शुक्ला ने राज्यसभा सांसद राजीव शुक्ला से मुलाकात कर रेल मंत्रालय की शिकायतों को पेश किया।
 
                    राजीव शुक्ला से मुलाकात के दौरान प्रदेश आबकारी मंत्री कवासी लखमा और मंडी अध्यक्ष संदीप शुक्ला ने प्रदेश में परम्परागत रेल गाड़ियों और स्टेशनों के ठहराव को बन्द किए जाने पर चिंता को जाहिर किया। लखमा और संदीप ने सांसद  को बताया कि बिलासपुर जोन के स्टेशनो मे ट्रेन ठहराव को आकस्मिक रूप से बंद कर दिया है। जिसके चलते आदिवासी बहुल राज्य की जनता को आवागमन को लेकर भारी परेशानियों से गुजरना पड़ रहा है। रेल प्रशासन ने ऐसे कई स्टेशनों पर गाड़ियों के ठहराव को बन्द कर दिया है जहां सत्तर अस्सी सालों से रूका करती थी। इसके चलते आदिवासी और सामान्य जनता समेत छोटे मझौले व्यापारियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसके अलावा लोगों को आवगमन में भारी परेशानियों से जूझना पड़ रहा है। गरीब जनता दुगुना भुगतान करने को मजबूर है। 
             संदीप ने राजीव शुक्ला ने निवेदन किया कि जनहित में रेल गाड़ियों का परिचालन पूर्व किया जाना बहुत जरूरी है। जबकि गाड़ियों के परिचालन को लेकर स्थानीय लोगों ने धरना प्रदर्शन भी किया था। और कई लोगों के खिलाफ तानाशाह रेल प्रशासन नेे अपराध भी दर्ज किया। कोटा, सलका, बेलगहना, टेंगन माडा, खोँगसारा, खोदरी मे ट्रेन नहींर रूकने से गरीबो और व्यापारियों का जीना मुश्किल हो गया है।
               राजीव शुक्ला को प्रदेश के उद्योग एवं आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने बस्तर आने का न्योता दिया। राजीव शुक्ला ने आश्वासन दिया कि वर्षो से लंबित रावघाट नारायण पुर रेल लाइन परियोजना को शीघ्र स्वीकृति दिलाने का पुरजोर प्रयास किया जाएगा। 
                   प्रदेश प्रवक्ता आर पी सिँह ने सांसद शुक्ला को छतीसगढ़ सरकार की जनहित में चलायी जा रही योजनाओं की जानकारी को विस्तार से पेश किया। साथ ही छतीसगढ़ के विकास मॉडल के बारे में बताया। राजीव शुक्ला ने मॉडल की जमकर तारीफ की।
              सांसद राजीव शुक्ला ने प्रदेश कांग्रेस नेताओं को बताया कि पूरे देश में छतीसगढ़ की पहचान किसान उनमुखी योजनाओं को लेकर चर्चा में है। इसके लिए छतीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बधाई के पात्र है। राजीव शुक्ला ने कहा कि  हिमांचल प्रदेश के चुनाव प्रभारी होने के कारण मुलाकातके दौरान  भूपेश बघेल से हमेशा छतीसगढ़ के विकास मॉडल को लेकर बातचीत होती है। चुनावी सभावों मे इसका असर भी दिखाई देता है। 
                 सांसद राजीव शुक्ला ने प्रतिनिधि मंडल को आश्वासन दिया कि छतीसगढ़ के विकास और उन्नति के लिए हमेशा प्रतिबद्ध हैं। आगामी छतीसगढ़ दौरे मे पार्टी पदाधिकारियों  और विधायकों के साथ बैठक कर भविष्य की रणनीति को लेकर चर्चा करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *