शिक्षकों की पदोन्नति और समयमान वेतन की मांग..ठेठ छत्तीसगढ़ी में ज्ञापन सौंपकर प्रदेश भर में मुहिम चलाएगा फेडरेशन

रायपुर।छत्तीसगढ प्रदेश शिक्षक फेडरेशन शिक्षक संवर्ग को पदोन्नति देने एवं सहायक शिक्षक संवर्ग को भी समयमान वेतनमान स्वीकृत करने के माँग को लेकर शासन का ध्यान आकृष्ट करने के लिए ठेठ छत्तीसगढ़िया अंदाज में  राज्यव्यापी ज्ञापन देने का निर्णय प्रान्तीय प्रबंधकारिणी सभा के वर्चुअल बैठक में लिया है। प्रेस नोट के माध्यम से जानकारी देते  हुए प्रदेश शिक्षक फेडरेशन प्रांताध्यक्ष राजेश चटर्जी  ने बताया कि   शिक्षक संवर्ग  हमर हक पदोन्नति….. , जेखर बर हमर पाती …..एवं  सहायक शिक्षक…. के घलो धियान लेहू,……… अउ वहूँ ला समयमान वेतन देहू  का पत्र मुख्यमंत्री,…. शिक्षामंत्री एवं प्रमुख सचिव शिक्षा को भेजकर न्याय करने की अपील करेंगे। 

20 से 30 अगस्त तक राज्य में शिक्षकों को मिले न्याय के प्रथम चरण में यह अभियान चलाया जायेगा।राजेश चटर्जी बताते है कि इस अभियान के दूसरे चरण  में 9 सितंबर को 28 जिलों में मुख्यमंत्री,शिक्षामंत्री एवं प्रमुख सचिव शिक्षा के नाम कलेक्टर को ज्ञापन देंगे। तीसरे चरण  में 18 से 25 सितंबर को मंत्री,सांसद,विधायक,संसदीय सचिव एवं अन्य जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन दिया जायेगा। कार्यवाही नहीं होने पर कोविद 19 के स्थिति अनुसार राज्यव्यापी आंदोलन की रूपरेखा तय होगा।

कोरोना के संक्रमण एवं नियंत्रण के कारण आयोजित हुए बैठक में 28 जिले के प्रान्त,संभाग तथा जिला के पदाधिकारियों एवं सक्रिय सदस्यों,ने विशेषकर पदोन्नति न मिलने से नाराज शिक्षकों के भावनाओं तथा आक्रोश को व्यक्त किया।फेडरेशन के प्रांताध्यक्ष राजेश चटर्जी ने बताया कि राज्य में प्राचार्य के स्वीकृत 4617 पदों में  कार्यरत 1797 एवं रिक्त 2828 हैं।व्याख्याता के 47874 में कार्यरत 38252 रिक्त 9622 हैं। शिक्षक के 57283 में कार्यरत 41315 रिक्त 15968 हैं। प्रधानपाठक मिडिल 13116 में कार्यरत 7401 रिक्त 5715 हैं। व्यायाम शिक्षक 2541 कार्यरत 1151 रिक्त 1390 हैं। सहायक शिक्षक 82748 में कार्यरत 75604 रिक्त 7144 हैं। सहायक शिक्षक विज्ञान में 8052 कार्यरत 4017 रिक्त 4035 हैं। प्रधानपाठक प्राथमिक 30328 में कार्यरत 9650 रिक्त 20678 है। भृत्य 23995 में कार्यरत 9422 रिक्त 14573 हैं।

फेडरेशन का कहना है कि अनुकंपा नियुक्ति के अनेक मामले लंबित हैं।नियमानुसार सहायक शिक्षक विज्ञान एवं सहायक शिक्षक के रिक्त पदों पर अनुकंपा नियुक्ति दिया जा सकता है।स्कूलों में भृत्य की कमी है,14573 पद रिक्त है,अनुकंपा नियुक्ति किया जा सकता है।उनका कहना है कि विभाग में सभी शिक्षक संवर्गों के पद रिक्त है। सेवाभर्ती एवं पदोन्नति नियम 2019 के अनुसार पदोन्नति किया जाना चाहिए।लेकिन विभाग में पदोन्नति लंबित है।पदोन्नति के आस में अनेक शिक्षक सेवानिवृत्त हो रहे हैं।जिसके कारण शिक्षकों में रोष व्याप्त है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *