हेड मास्टर और शिक्षक सस्पेंड,स्कूल से थे नदारद,धान खरीदी केंद्र में आंदोलन के लिए उकसा रहे थे किसानों को

काँकेर।नरहरपुर विकासखण्ड के शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला ठेमा के आकस्मिक निरीक्षण के दौरान संस्था में कार्यरत प्रधान पाठक राजकुमार पटेल और शिक्षक एल.बी. पीलू राम सार्वा बिना सूचना के अपने कर्तव्य में अनुपस्थित पाए गए तथा धान खरीदी केन्द्र सरोना में किसानों को उकसाते हुए आंदोलन के लिए प्रेरित कर सहयोग करते पाया गया। उक्त दोनों कर्मचारियों का कृत्य छत्तीसगढ़ सिविल सेवा (आचरण) नियम 1965 नियम-3 के विपरीत होने के फलस्वरूप कलेक्टर के.एल. चौहान ने दोनों कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए

निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी दुर्गूकोंदल नियत किया गया है। इस अवधि में उन्हें नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता की पात्रता होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *