VIDEO-कोरोना संकट के दौर में सभी शिक्षक कर रहे प्रयास,वीरेंद्र दुबे ने कहा-देश हित सर्वोपरि,जनसेवा हमारा काम

धनतेरस , पूर्व, शिक्षक ,संवर्ग , वेतन भुगतान,केन्द्र , 5% DA,राज्य कर्मचारी , त्यौहार ,पूर्व , सौगात ,सरकार, पँचायत संवर्ग , शिक्षाकर्मियों , DA,इस संवर्ग के लंबित सभी DA,संविलियन ,LB संवर्ग , शिक्षकों , वेतन,पँचायत ,LB संवर्ग , शिक्षकों, लंबित, एरियर्स, भुगतान,Shikshakarmi,virendra dubey

बिलासपुर।शालेय शिक्षाकर्मी संघ छग के प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे ने प्रदेश के नाम एक वीडियो सन्देश जारी करते हुए कहा कि- “शिक्षक सदैव राष्ट्र निर्माता के रूप में जाना जाता है।इतिहास गवाह है, देश पर जब भी संकट आया है, एक शिक्षक किसी न किसी तरह अपना श्रेष्ठ योगदान देने का प्रयास किया। शिक्षक,राष्ट्र निर्माण और एक सच्चे नागरिक के कर्तव्यों को निभाने में हमेशा अग्रणी रहा है। आज भी इस वैश्विक संकट के सामने हम अपना तन-मन और धन से राष्ट्र सेवा करने के लिए तत्पर हैं।”वीरेंद्र दुबे ने विश्वास जताया कि- ” प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अपेक्षाओं पर खरा उतरने का हम भरसक प्रयास कर रहे हैं। लॉकडाउन के समय जनजागरूकता एक बड़ा कार्य है,जिसमे हम शिक्षक पूरी शिद्दत के साथ सरकार के सन्देश को जन जन तक पहुँचाकर उन्हें नागरिक कर्तव्य का बोध करा रहे हैं,और इसे सफल बनाने का पूरा प्रयास कर रहे हैं। हम शिक्षकों ने स्वयं ही आगे आकर इस मुश्किल घड़ी आर्थिक सहायता सहर्ष प्रदान की है और जब जब जरूरत होगी देश की सेवा के लिए हम जरूर अर्पित करेंगे।” सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप (NEWS) ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

“प्रदेश के स्कूलों में पढ़ने वाले लगभग 25-30 लाख विद्यार्थी और उनके अभिभावक हमसे सीधे सम्पर्क में रहते हैं, जिन्हें हम देश हित समर्पण हेतु जागरूक करते रहेंगे।हम उन्हें आग्रह करेंगे कि वह घर मे रहकर, सोशल डिस्टेंसिंग, बार बार हाथ धोकर तथा शासन द्वारा जारी गाइड लाइन का पूरा पालन करें, जिससे इस गम्भीर संक्रामक वायरस से हमे जल्द मुक्ति मिले।”

प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे ने मध्यान्ह भोजन खाद्यान्न वितरण कर वापस हो रहे शिक्षक की दुर्घटना पर मौत हो जाने से उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए शासन से उनके परिवारजन को मुआवजा और अनुकम्पा नियुक्ति जल्द प्रदान करने की मांग की है, साथ ही सरकार से अपील किया है कि कार्य के दौरान किसी भी प्रकार के शिक्षकों का अहित होने पर शासन शिक्षकों का पूरा ध्यान रखे।”

हारेगा कोरोना – जीतेंगे हम

जय भारत-जय छत्तीसगढ़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *