भूपेश बघेल की भाजपा से सांठगांठ–अमित

AMIT JOGI--BITE--EXCLUSIVEबिलासपुर—भूपेश बघेल और जोगी गुट के बीच तकरार अब लगातार बढ़ती ही जा रही है। तकरार का दौर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है।  दोनों गुट के नेता अब खुल्लमखुल्ला एक दूसरे के खिलाफ खुलकर बयानबाजी करना शुरू कर दिया है। अजीत और अमित जोगी की जाति पर भूपेश बघेल के बयान ने एक बार फिर जोगी खेमें में हलचल मचा दिया है। भूपेश के बयान पर पलटवार करते हुए मरवाही विधायक अमित जोगी ने कहा है कि समीरा पैकरा के सुर में सुर मिलाने वाले भूपेश बघेल का भाजपा से साठ गांठ है अब जाहिर हो चुका है।

                                  अमित जोगी ने कहा है कि मरवाही से चुनाव हारने वाली भाजपा प्रत्याशी समीरा पैकरा के चुनावी याचिका से सुर से सुर मिलाकर जाति पर प्रश्नचिन्ह लगाना उनकी खुद की भाजपा से सांठ गांठ को प्रमाणित करता है। भूपेश पर पलटवार करते हुए अमित जोगी ने कहा कि मेरी जाति पर सवालिया निशान लगाकर भूपेश बघेल ने ना केवल भाजपा से अपनी सांठ गांठ की पुष्टि की है बल्कि ऐसा करके बघेल ने सोनिया गांधी का भी अपमान किया है।

                                 अमित ने कहा कि उनके पिताजी अजीत जोगी को सोनिया गांधी ने पिछले 12 सालों से अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अनुसूचित जनजाति आदिवासी विभाग का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया है। ऐसे में बघेल का जोगी परिवार की जाति पर प्रश्नचिन्ह लगाना सोनिया गांधी का अपमान करने के बराबर है।

            अमित जोगी ने पत्रकारों से बताया कि बघेल को अब राष्ट्रीय कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी से माफी मांगनी चाहिए। अमित जोगी ने कहा कि भूपेश को जोगिरिया रोग हो गया है। इसका इलाज उन्हें करवानी चाहिए। क्योंकि जोगिरिया की बीमारी से उनका कोई हित नहीं होने वाला है। अमित जोगी ने कहा कि  भूपेश बघेल भाजपा के विरोध में आज तक एक भी जन आंदोलन नहीं खड़ा कर पाये है। क्योंकि उनकी  भाजपा से सांठ.गाँठ है । सत्ता पार्टी के विरुद्ध निर्णायक और जमीनी लड़ाई लड़ने में उनकी कोई रूचि नहीं है। वेतन वृद्धि और मेरी जाति के मुद्दों पर भाजपा के सुर में सुर मिलाकर उन्होंने प्रमाणित किया है कि उनकी राजनीति केवल जोगी केंद्रित है। जनहित के मुद्दों में भाजपा को घेरने में उन्हें कोई रूचि नहीं है।

                                     जोगी ने कहा कि अभी तक भूपेश ने बाबा साहब और बाबा घासिदास का अपमान किया था। अब उन्होंने मेरे पिता जी और मेरी जाती के मामले में भाजपा का साथ देकर सोनिया गांधी के विवेक और निर्णय क्षमता पर भी सीधा प्रहार किया है। भूपेश को अब सोनिया गांधी से माफ़ी मांगनी चाहिए।

                               जोगी ने बताया कि मेरे और पिता की जाति का मुद्दा उठाना दरअसल भूपेश और उनके पिता के छत्तीसगढ़ के अनुसूचित जाति-जनजाति और पिछड़ा वर्ग समाज को बांटने की दूषित सोच का हिस्सा है। पिछले कई महीनों से प्रयास हो रहा है कि छत्तीसगढ़ को जातीय आधार पर कैसे बांटा जाए।  अगले विधानसभा चुनाव के परिणामों को प्रभावित किया जा सके । इस संबंध में गुपचुप तरीके से कई बैठकें भी हो चुकी है। भूपेश अपने पिता के साथ मिलकर  छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को प्रोपराइटर शिप कंपनी की तरह चला रहे हैं। उनकी इस साजिश को कामयाब होने से जोगी परिवार रोक रहा है। इसलिए भूपेश की जोगी परिवार के प्रति खीझ स्वाभाविक है।

 

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...