शिक्षाकर्मी अब बकाया वेतन के लिए नहीं करेंगे गुहार,स्कूल का करेंगे बॉयकाट,संघ ने दिया 5 मार्च का अल्टीमेटम

रायपुर । छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूलों में काम कररहे करब 90 हजार शिक्षा कर्मियों को पिछले करीब तीन महीने से वेतन नहीं मिला है। जिससे उनके परिवार के कामने गंभीर संकट उत्पन्न हो गया है। इस बारे में शिक्षा कर्मीं संगठनों की ओर से लगातार शासन स्तर पर संपर्क करने पर हर बार दो- तीन में आबंटन भेजने का भरोसा दिया जाता है। लेकिन अब तक दो-तीन दिन की मियाद पूरी नहीं हो सकी है। इसे देखते हुए नवीन शिक्षा कर्मीं संघ ने फैसला किया है कि अब शिक्षाकर्मी सरकार से वेचतन की माँग नहीं करेगे। बल्कि स्कूल का बहिष्कार करेंगे।
नवीन शिक्षाकर्मी संघ छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष व शिक्षक पंचयात नगरीय निकाय मोर्चा के प्रदेश संचालक विकास सिंह राजपूत व महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष उमा जाटव ने कहा है की नवीन शिक्षाकर्मी संघ द्वारा 19 जनवरी,22 जनवरी व 19 फरवरी को सर्व शिक्षा अभियान  राज्य कार्यालय रायपुर मे संचालक के नाम लंबित तीन माह के वेतन की के लिए मांग पत्र देकर  व फोन के माध्यम से लगातार चर्चा की गई । लेकिन आज दिनांक तक दिसम्बर माह से वेतन का भुगतान लगभग 90000 शिक्षाकर्मियों को नही किया गया है। चर्चा के दौरान सम्बन्धित अधिकारियो व कर्मचारियो द्वारा बताया जाता है की केंद्र से आबंटन के अभाव मे राज्य मद से वेतन भुगतान की फाइल वित्त विभाग को भेज दी गई  है और फाइल को भेजे आज दूसरा माह भी निकलने वाला है। सर्व शिक्षा अभियान के अधिकारी कर्मचारी एक ही जवाब देते है कि एक –  दो दिनों मे आबंटन राशि जारी हो जायेगा । लेकिन आज तीसरा महीना भी निकलने को है । फिर भी एक दो दिन नही आया है।
महासचिव गिरीश साहू,प्रवक्ता दुष्यन्त कुम्भकार व गंगा शरण पासी ने कहा कि अब तो अपने ही वेतन को मांगने मे शर्म आने लग गई है।क्योकि बार-बार मांग पत्र देने के बाद भी लम्बित वेतन का भुगतान आज दिनांक तक नही किया गया है।संगठन मंत्री अभिनय शर्मा,कोषाध्यक्ष अमितेश तिवारी ने कहा की वेतन नही मिलने के कारण राज्य शासन के ध्यानाकर्षण के लिए नवीन शिक्षाकर्मी संघ के जिलाध्यक्ष दुर्ग संजीव मानिकपुरी ने सांकेतिक चना बूट बेचकर जिला पंचायत अधिकारी को चाय भी पिलाया । साथ ही ब्लॉक अध्यक्ष  पाटन जगेश्वर चन्द्राकर व संजय शर्मा धमधा के   नेतृत्व में जनपद पंचायत का घेराव करने के बाद बाइक रैली के माध्यम से  जिला पंचायत का घेराव कर वेतन भुगतान का मांग करने के बाद भी वेतन शिक्षाकर्मियों को नही मिल पाया है।
प्रदेश अध्यक्ष विकास सिंह राजपूत ने कहा की अब शासन से वेतन की मांग नही करेंगे ।क्योकि मांग करने से वेतन नही मिलता ।अब तो शाला बहिष्कार कर धरना प्रदर्शन, कटोरा पकड़ कर भीख मांगने के स्थान पर चना बूट,चाय,समोसा,सब्जी  बेचकर,भूख हड़ताल कर शासन प्रशासन का ध्यानाकर्षण नवीन शिक्षाकर्मी संघ के बैनर तले किया जायेगा। इसके बाद भी वेतन नही मिलता है तो जब तक वेतन नही मिलेगा तब तक शाला न जाकर अपने घर मे ही रहकर कोई ऐसे कार्य करेंगे जिससे परिवार के लोगों का पालन पोषण व इलाज के लिए राशि की व्यवस्था हो जाये। उन्होने कहा कि वेतन नही मिलने के कारण दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों मे ईमानदारी पूर्वक कार्य करने वाले शिक्षाकर्मियों के घरो मे चूल्हा जलना मुश्किल हो गया है। परिवार मे अब तो बच्चे भी मुख्यमंत्री  से निवेदन करना शुरू कर दिये है की मेरे पापा सहित सभी शिक्षाकर्मियों को जल्दी वेतन  दे फिर भी शासन प्रशासन का ध्यान नही जा रहा है। 5 मार्च तक सर्व शिक्षा अभियान के तीनो महीने व राज्य मद का दो माह का एकसाथ वेतन भुगतान नही होने पर नवीन शिक्षाकर्मी संघ द्वारा शाला बहिष्कार कर विरोध प्रदर्शन किया जायेगा।
loading...

Comments

  1. By Bhuneshvar prasad Patel

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...