आदिवासी मंत्री कहे जाने पर विधानसभा में गरमा-गरमी, अजीत जोगी के एक्सपर्ट व्यू के बाद चंद्राकर बोले – सौ बार माफी मांगने तैयार हूं यदि ..

रायपुर।छत्तीसगढ़(Chhattisgarh) विधानसभा में गुरुवार को प्रश्नकाल के दौरान सदन में विधायक एवं पूर्व मंत्री अजय(Ajay Chandrakar) चंद्राकर द्वारा ‘आदिवासी मंत्री’ बोले शब्द का उपयोग करने पर हंगामा हो गया। सत्ता पक्ष के सदस्यों ने भाजपा सदस्य अजय चंद्राकर(Ajay Chandrakar) से माफी मांगने की मांग और आदिवासियों को अपमान करना बंद करो के नारे लगाने लगे।सीजीवाल डॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे

मामला शांत न होते देख स्पीकर ने पूर्व मुख्यमंत्री और जेसीसीजे प्रमुख अजीत जोगी(Ajit Jogi) से कहा आपसे एक्सपर्ट व्यू की अपेक्षा है। इसके बाद अजीत जोगी(Ajit Jogi)
ने अजय चंद्राकर को माफी मांगने की नसीहत दी। एक्पर्ट ओपिनियन में अजीत जोगी(Ajit Jogi) ने कहा, जातिवादक शब्द को उपयोग न करें।

अजय जी कह दें कि प्रवाह में बोलते हुए उनसे हो गया, इससे उनका कद बढ़ेगा। अजीत जोगी ने कहा, जातिसूचक बातें नहीं होनी चाहिए। अजय बहुत वरिष्ठ सदस्य हैं उन्हें अपने शब्द वापस लेना चाहिए। इससे उनका कद बढ़ेगा ही और घटेगा नहीं।

अजीत जोगी(Ajit Jogi) के बात खत्म करने पर स्पीकर ने कहा- एक्सपर्ट व्यू के बाद अजय चंद्राकर(Ajay Chandrakar) को अपनी बात कहनी चाहिए। अजय चंद्राकर ने कहा, अब कभी इस तरह के शब्दों का प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए, यह भी देखा जाना चाहिए कि इस तरह के शब्दों का प्रयोग कब से और किन संदर्भों में किया गया है। अगर मेरे माफी मांगने से प्रदेश की संस्कृति की रक्षा होती है और संसदीय परंपराएं मजबूत होती हैं तो मैं सौ बार माफी मांगने को तैयार हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *