1 साल बाद पकड़ाया 11 लाख रूपयों का ठग..फर्जीवाड़ा कर मकान फायनेंस का दिया था झांसा…घर में छिपा था आरोपी

Editor
3 Min Read

बिलासपुर–तारबाहर पुलिस ने एक मकान का बैंक निलामी फर्जीवाडा़ कर 11  लाख की ठगी करने वाली आरोपी पकड़ा है। आरोपी का नाम आरोपी रंजन प्रसाद है। अपराध दर्ज होने के बाद आरोपी एक साल से फरार चल रहा था। आरोपी रंजन प्रसाद गुलाब नगर मोपका थाना सरकंडा का रहने वाला है।

Join Our WhatsApp Group Join Now

पुलिस के अनुसार चारबाहर चौक निवासी दिनेश कुमार गुप्ता ने 2 जुलाई 2023 को फर्जीवाड़ा का आरोप दर्ज कराया। पीड़ित ने बताया कि हाउसिंग फाइनेस डेवलपमेंट कंपनी से निलामी का मकान दिलाने का काम करता है। आरोपी रंजन प्रसाद ने बताया कि वह भारतीय स्टेट बैंक राज किशारनगर में ग्राहको से कमीशन लेकर बैंक अधिकारियों से बैंक संबंधित संपत्तियो को सस्ते दर पर दिलाता है।

आरोपी रंजन प्रसाद ने जानकारी दिया कि एक व्यक्ति हाउसिंग फाइनेस डेवलपमेंट कंपनी से लोन लेकर रामावर्ल्ड बिलासपुर में मकान नं. सी- 39 को ऋण मे लिया था। लेकिन  वह लोन नही पटा पा रहा हैं । लोन लेने वाले मकान सी – 39 की कीमत करीब 60-70 लाख रूपये है। लेकिन 40 लाख रूपये में उसे मकान दिलवा देगा। आरोपी ने इस दौरान  ऋण संबंधित दस्तावेज और मकान का दस्तावेज के अलावा संबंधित विज्ञापन की फोटो कापी भी दिखाया।

 दिखाए गये दस्तावेज को सच मानकर आरोपी को हाउसिंग फाइनेस डेवलपमेंट कंपनी के नाम एक्सीस बैंक से चेक और  नगद दिया। कुल मिलाकर मकान खरीदने के लिए 11 लाख रूपयों का भुगतान किया। इसके बाद आरोपी फरार हो गया। ना तो उसे रूपया मिला और ना ही आरोपी ने मकान ही दिलाया।

पीड़ित दिनेश गुप्ता की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 का अपराध दर्ज किया गया। पुलिस के अनुसार पतासाजी के दौरान जानकारी मिली कि आरोपी फरार हो गया है। पुलिस कप्तान के निर्देश के बाद लंबित प्रकरणों का निराकरण अभियान चलाया जा रहा है। कप्तान के निर्देश पर आरोपी रंजन प्रसाद की एक बार पता साजी शुरू हुई। इसी दौरान मुखबिर से जानकारी मिली कि आरोपी अपने घर गुलाब नगर में है। घेराबंदी कर आरोपी को पकड़ा गया।

पूछताछ के दौरान आरोपी रंजन प्रसाद ने जुर्म स्वीकार किया। विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पेश किया गया है।

close