अनिश्चितकालीन हड़ताल-कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन की बैठक ,6% DA स्वीकार नहीं, सरकार पुनर्विचार करे

रायपुर। कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन की अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगी। मुख्यमंत्री से बातचीत के दौरान बात नहीं बन पाई है। जिसके बाद कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन ने अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रखने का फैसला लिया है। इससे पहले कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन का एक प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री से मिला था। इस दौरान कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन ने केंद्र के बराबर महंगाई भत्ता देने की मांग की थी, लेकिन महंगाई भत्ते को लेकर सहमति नहीं बन पाई।

कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन ने दोबारा से आपात बैठक बुलाई, जिसमें इस बात का निर्णय लिया गया है कि कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन अपना 22 अगस्त से प्रस्तावित अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगा। ऐलान से पहले कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन एक आपात बैठक कर्मचारी अधिकारी के तमाम संगठन शामिल हुए। सभी प्रांत अध्यक्षों ने इस बात का ऐलान बैठक के बाद कर्मचारियों का महंगाई भत्ता कर्मचारियों की हड़ताल जारी रखेंगे।आपको बता दें कि कर्मचारियों को छत्तीसगढ़ में अभी 22% महंगाई भत्ता मिलता है, जबकि केंद्र सरकार अपने कर्मचारियों को 34% महंगाई भत्ता दे रही है। मुख्यमंत्री की तरफ से 6% महंगाई भत्ता बढ़ाने की सहमति के बाद अब छत्तीसगढ़ के कर्मचारियों को 22% के बजाय 28% महंगाई भत्ता मिलने लगेगा। हालांकि अभी भी वह छत्तीसगढ़ और केंद्र सरकार के बीच 6 फ़ीसदी के अंतर को बता रहा है। कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन में इस बात का प्रस्ताव रखा था कि मुख्यमंत्री 9 या 10% महंगाई भत्ता देने को राजी हो जाए, लेकिन मुख्यमंत्री ने कह दिया कि 6% महंगाई भत्ता से ज्यादा फिलहाल देने को तैयार नहीं है।

Comments

  1. By आरती साहू

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *