शिक्षामंत्री डॉ. टेकाम ने किया स्वामी आत्मानंद स्कूल और छात्रावास का निरीक्षण

आदिम जाति, अनुसूचित जाति, जनजाति विकास, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने आज धमतरी जिले के विकासखंड मुख्यालय नगरी में नवनिर्मित स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी एवं हिन्दी माध्यम विद्यालय और विशेष पिछड़ी जनजाति कमार आवासीय विद्यालय का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने स्कूली छात्र-छात्राओं से सहज अंदाज में रू-ंब-रू होकर उनसे रोचक सवाल भी पूछे।

स्कूल शिक्षामंत्री डॉ. टेकाम नगरी के फॉरेस्ट आफिस मार्ग पर श्रृंगि ऋ़षि शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परिसर में नवनिर्मित स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी एवं हिंन्दी माध्यम विद्यालय भवन का निरीक्षण एवं अवलोकन करने पहुंचे। इस दौरान कलेक्टर श्री पी.एस.एल्मा ने उन्हें स्कूल के विषयवार क्लास रूम, प्रयोगशाला, स्टाफ कक्ष, खेल प्रांगण, शेड आदि का अवलोकन कराया। शिक्षा मंत्री ने गुणवत्तापूर्वक तैयार किए स्कूल भवन की सराहना की तथा कलेक्टर को निर्देशित किया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा जिस मंशा से इस योजना को संचालित किया जा रहा है, उसका लाभ आदिवासी क्षेत्र के विद्यार्थियों को मिले और उन्हें अपना भविष्य संवारने की ओर अग्रसर हो सकें।

मंत्री डॉ. टेकाम इसके बाद 250 सीटर अनुसूचित जनजाति बालक छात्रावास पहुंचे, जहां पर वर्तमान शिक्षा सत्र में स्वामी आत्मानंद स्कूल में प्रवेशित विद्याथियों की कक्षाएं संचालित की जा रही थीं। उन्होंने कक्षा नवमीं के क्लासरूम में जाकर विद्यार्थियों से परिचय प्राप्त करते हुए उनसे सहज सवाल किए। उनके द्वारा मौजूदा स्कूल की फीस के बारे में पूछे जाने पर छात्रा कु. यामिनी मरकाम ने बताया कि स्वामी आत्मानंद स्कूल में फीस नहीं ली जाती। मंत्री के पूछने पर छात्रा कु. लुकिता साहू ने बताया कि देश की राष्ट्रपति श्रीमती द्रोपदी मुर्मू हैं। इसी तरह छात्रा कु. रीमा साहू ने बताया कि ’अरपा पैरी के धार’ गीत के रचयिता डॉ. नरेंद्रदेव वर्मा हैं। सभी प्रश्नों के सही जवाब सुनकर शिक्षा मंत्री ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए बच्चों को अपने हाथों से पेन और चॉकलेट वितरित किए। इसके पश्चात् वे कक्षा पहली एवं दूसरी के विद्यार्थियों के बीच जाकर नौनिहाल बच्चों से उनका परिचय पूछा, जहां विद्यार्थियों ने बेबाकी से उत्तर दिया।
          इसके उपरांत उन्होंने विशेष पिछड़ी जनजाति कमार विद्यार्थियों के लिए संचालित आवासीय विद्यालय का अवलोकन एवं निरीक्षण किया। मंत्री डॉ. टेकाम ने इस दौरान विद्यार्थियों के अध्ययन एवं शयन कक्ष और रसोई कक्ष का सघन मुआयना करते हुए भोजन और बिस्तर की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए छात्रावास अधीक्षक को निर्देशित किया। इस दौरान सहायक आयुक्त आदिवासी विकास ने बताया कि छात्रावास में 76 कमार बच्चे अध्ययनरत हैं तथा यहां पूर्णतः आवासीय सुविधायुक्त है। निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत सदस्य द्वय श्री मनोज साक्षी, श्रीमती मीना बंजारे, जिला शिक्षा अधिकारी श्री ब्रजेश बाजपेयी सहित ब्लॉक स्तर के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *