CM भूपेश बघेल का लोकवाणी कार्यक्रम, शिक्षा कर्मियों ने लगाई संविलयन के मांग की झड़ी, पढ़िए किसने क्या लिखा

क्रमोन्नति ,खुशखबरी,LB,शिक्षकों,क्रमोन्नति-समयमान,लाभ ,निर्देश,जारी,DEO,BEO,पात्र LB शिक्षकों,लिस्ट, प्रस्ताव,आदेश,संवेदना अभियान,chhattisgarh,शासन, आर्थिक सहयोग,शिक्षाकर्मी,संविलियन,शिक्षाकर्मियों,chhattisgarh,pran,cps,ddoरायपुर।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल(Bhupesh Baghel) ने रविवार से आकाशवाणी के माध्यम से जनता तक अपनी बात पहुंचाने का जरिया बनाया है।रविवार 11 अगस्त को इसका पहला प्रसारण हुआ।रेडियो(Radio) के अलावा फेसबुक पेज पर भी इसका लाइव(LIVE) प्रसारण हुआ।फेसबुक लाइव के कमेंट सेक्शन में शिक्षाकर्मियों ने संविलियन की मांग की झड़ी लगा दी।जिनमे ज़्यादातर कमेंट वर्ष बंधन को खत्म करके संविलियन प्रदान करने के आये।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

फेसबुक पर कमेंट के जरिये शिक्षाकर्मी ने सूबे के मुखिया अपनी बात रखी  और बताया कि किस तरह वह वेतन से लेकर हर छोटी-छोटी सुविधाओं के लिए शासन प्रशासन का मुंह ताकने को मोहताज हो रहे हैं ।

इसमें एक बात यह निकलकर आई कि आंदोलन और अन्य किसी प्रकार का धरना प्रदर्शन कर बच्चों की पढ़ाई को नुकसान पहुंचाने के बजाय संविलियन से चूक गए शिक्षाकर्मी सोशल मीडिया के जरिए अपनी बात सरकार के सामने रख रहे हैं जो कि वर्तमान समय में सबसे प्रभावी जरिया है।

शिक्षाकर्मियों को उम्मीद है कि मुख्यमंत्री उनकी मांग पर संज्ञान जरूर लेंगे और यदि त्वरित सौगात नहीं देंगे तो कम से कम इस बात की घोषणा करेंगे कि प्रदेश के शिक्षाकर्मियों को 2 वर्ष की सेवा पूर्ण होने पर जो संविलियन का वादा किया गया था वह किस तिथि को पूरा किया जाएगा।

फेसबुक पर आए कुछ कमेंट हम यह जस का तस प्रकाशित कर रहे है।जिसमे रामकिशोर टोंडे लिखते हैं कि शिक्षकों को 15 वर्षो से पदोन्नति व क्रमोन्नति का लाभ नही मिल रहा है ।कृपया इस दिशा में आवश्यक पहल कीजिए महोदय।

देव पटेल ने लिखा कि माननीय मुख्यमंत्री जी सादर नमस्कार, मैं आपका ध्यान शिक्षक कर्मी जो संविलयन से वंचित है ,की ओर आकृष्ट करना चाहूंगा कि हम सभी बहुत ही शोषित और पीड़ित महसूस कर रहे हैं, ना तो हमें समय पर वेतन मिल पाता है ना वेतन वृद्धि हो पा रहा है ना ही कोई डीए में बढ़ोतरी हो रहा है हम पल पल अपने आप को शोषित महसूस कर रहे हैं अतः श्रीमान जी हम सभी पर कृपा करें और 15 अगस्त के अवसर पर अपने भाषण में सभी का संविलियन का घोषणा करें| अपने जन घोषणा पत्र में किए गए वादे को पूरा करें !बहुत बहुत धन्यवाद!

योगेश बनर्जी ने लिखा कि-माननीय मुख्यमन्त्री छ.ग. शासन आप से विनम्र निवेदन है कि 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस)के पावन अवसर पर हम दो वर्ष पूर्ण कर चुके शिक्षाकर्मियों का वर्षबन्धन को समाप्त कर सम्पूर्ण संविलियन का सौगात दीजिये। पूरे शिक्षाकर्मी और उनके परिवार सदैव आपके आभारी रहेंगे ।धन्यवाद

नागेंद्र दुबे लिखते है कि -माननीय मुख्यमंत्री जी, पूर्व की भाजपा शासित सरकार के द्वारा छत्तीसगढ़ में शिक्षा व्यवस्था का जो बंटाधार किया गया था उसमें तत्काल प्रभाव से अमूल चूल परिवर्तन करने की आवश्यकता है। मैं उम्मीद करता हूं कि आने वाले कुछ महीनों में आपके द्वारा इस विषय पर भी गंभीर और छत्तीसगढ़ के हित में कोई निर्णय लिया जाए गा। साथ ही साथ छत्तीसगढ़ के युवाओं से सतत संपर्क करने की भी आवश्यकता है क्योंकि बीजेपी और आरएसएस के द्वारा जो युवाओं में जहर घोल आ गया है वह राज्य और देश हित में कतई नहीं है। इसके लिए जरूरी है कि युवाओं को सच्ची देशभक्ति और कांग्रेस के द्वारा किए गए कार्यों को बताया जाए।इस कार्य में अपनी सेवाएं सरकार या कांग्रेस पार्टी को देने के लिए सहर्ष तैयार हूं।

कृष साहू ने लिखा कि-आज एक अतिथि शिक्षक का वेतन ₹18000 और हम सब का वेतन 14000 से लेकर 17 तक है यह कैसी व्यवस्था है कि जो अतिथि है उनको ज्यादा वेतन और जो बरसों से काम कर रहे हैं उनको कम वेतन एक छत के नीचे यह संतुलन एक अच्छे शिक्षक को अच्छा कार्य करने से अपनी पूरी ऊर्जा लगाने से रोकता है मन में पीड़ा होती है कि हमारे मुखिया कैसे हैं जो हम शिक्षकों में भेदभाव करते हैं जबकि हम बहुत मत तन मन से बेहतर ढंग से काम करते हैं 15 वर्षों के बाद छत्तीसगढ़ राज्य में कांग्रेस पार्टी की सरकार आई है बड़ी उम्मीदों के साथ साड़ी शिक्षाकर्मियों के परिवारों उनके संगी साथियों ने वोट दिया यह सोचकर कि सच में वक्त है बदलाव का एनआर आप का दिया हुआ था पर लगता है वक्त बदल गया है और सच में वक्त है बदलाव का आप के बदल जाने के कारण हम सब शिक्षाकर्मियों का जल्द से जल्द संविलियन करें यही आपसे विनम्र प्रार्थना है और यही आशा है उम्मीद है आप एक जान पुरुष होने के नाते एक नायक होने के नाते बचे हुए शिक्षाकर्मियों जो लगभग 20 से 25000 कुल बचे हुए हैं उन सब का संविलियन 15 अगस्त 2019 के स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष पर घोषणा करेंगे धन्यवाद.

रूपधर पटेल ने लिखा कि-माननीय मुख्यमंत्री जी सादर प्रणाम बहुत उम्मीद और आशा के साथ यह संदेश आपके पास अपने मन की पीड़ा व्यक्त कर रहा हूं आपके जब आप के जन घोषणा पत्र में किए गए वादे के अनुसार 2 वर्ष पूर्ण कर चुके समस्त शिक्षाकर्मियों का संविलियन की घोषणा 15 अगस्त 2019 शो करें जिससे सारे शिक्षाकर्मियों भाइयों में जो आपस में वेतन विसंगति है वह दूर हो और सारे एक मन से एक छत के नीचे मिलजुल कर छत्तीसगढ़ राज की भलाई के लिए बच्चों को बेहतर शिक्षा के लिए मिलकर काम करें आप हमारे मुखिया हैं जननायक हैं उम्मीद है क्या आप हमारी भावनाओं को समझेंगे और हमारा संविलियन 2019 में करेंगे जय जोहार जय छत्तीसगढ़।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...