नक्सलियों के कब्जे से कोबरा जवान की सकुशल वापसी,IG ने की तस्दीक,रिहाई में पद्मश्री धर्मपाल,आदिवासी समाज सहित पत्रकारों की सराहनीय भूमिका

बीजापुर-जिले के तर्रेम थाना क्षेत्र में 3 अप्रैल को पुलिस-नक्सली मुठभेड़ हुई थी. इस मुठभेड़ के बाद जम्मू-कश्मीर का ‘लाल’ राकेश्वर सिंह मनहास लापता था. नक्सलियों ने जानकारी दी कि लापता कोबरा बटालियन का जवान उनके कब्जे में है. आज गुरुवार को 5 दिन बाद नक्सलियों ने जवान को सुरक्षित छोड़ दिया है. नक्सलियों ने पहले जवान को ग्रामीणों के बीच छोड़ा, फिर वहां से ग्रामीणों ने तर्रेम थाना में जवान को सौंप दिया है.बस्तर आईजी सुंदरराज के अनुसार 03 अप्रैल, 2021 की जिला सुकमा एवं बीजापुर के सीमावर्ती थाना तर्रेम अंतर्गत जोनागुड़ा, टेकलगुड़ियम के जंगल में हुई थी।मुठभेड़ के 210वीं वाहिनी CoBRA के आरक्षक राकेश्वर सिंह मनहास का लोकेशन नही मिल पा रहा था।

आईजी के मुताबिक आरक्षक राकेश्वर सिंह मनहास की पतासाजी हेतु लगातार सर्चिंग अभियान के साथ-साथ क्षेत्र के ग्रामीण/सामाजिक संगठन/स्थानीय जनप्रतिनिधिगण एवं पत्रकार साथियों के माध्यम से भी आरक्षक राकेश्वर सिंह मनहास के संबंध में पतासाजी की जा रही थी। इस दौरान सीपीआई माओवादी के दण्डकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी के प्रवक्ता की 06 अप्रैल को जारी एक प्रेस नोट में लापता एक जवान को बंदी बनाकर रखा जाना लेख की गई है।

उक्त सूचना की तस्दीक करते हुए अपने जवान की रिहाई कराने हेतु स्थानीय नागरिकगण/ आदिवासी समाज के वरिष्ठ पदाधिकारीगण एवं मीडिया के साथीगण के माध्यम से प्रयास की गई।8 अप्रैल को टेकलगुडेम मुठभेड़ पश्चात माओवादियों द्वारा अपहृत CoBRA 210 वी वाहिनी के जवान राकेश्वर सिंह मनहास सुरक्षित जिला बीजापुर के थाना तर्रेम पहुंचा। आरक्षक राकेश्वर सिंह मनहास का स्वास्थ्य परीक्षण अंतर्गत CRPF के Field अस्पताल के शिक्षक द्वारा उन्हें कमजोरी एवं Dehydration के कारण सामान्य उपचार दी जा रही है।

अपहृत आरक्षक राकेश्वर सिंह मनहास के रिहाई हेतु पद्मश्री श्री धर्मपाल सैनी, माता रुक्मणि आश्रम जगदलपुर, श्री तेलम बोरैया, वरिष्ठ पदाधिकारी आदिवासी समाज जिला बीजापुर द्वारा प्रयास की गई। उक्त प्रयास के दौरान जिला बीजापुर के पत्रकार श्री गणेश मिश्रा एवं श्री मुकेश चंद्राकर का सराहनीय योगदान रहा।

अपहृत आरक्षक के संबंध में अन्य पत्रकार साथीगण जैसे राजा राठौर, शंकर एवं अन्य कई पत्रकार साथियोँ द्वारा भी समय-समय पर प्रसारित की गई खबरों के माध्यम से अपहृत आरक्षक के संबंध में जानकारी प्राप्त हो पाया।पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज सुंदरराज पी. ने आरक्षक राकेश्वर सिंह मनहास की रिहाई के पुष्टि करते हुये उनकी सही सलामत वापस कैम्प लौटने में सहयोग करने वाले समस्त नागरिकगण/सामाजिक संगठन के वरिष्ठ पदाधिकारीगण/मीडिया के साथीगण एवं क्षेत्र की जनता का आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *