Sitrang Cyclone: 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी हवा, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

दिल्ली ।चक्रवाती तूफान Sitrang का असर दिखने लगा है। बता दें कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक दबाव बन रहा है, जिसके कारण आने वाले 2-3 दिन में भारी बारिश की संभावना है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार बंगाल की खाड़ी में बनने वाला यह दबाव धीरे धीरे उत्तर पूर्व की ओर बढ़ेगा। जिसके बाद यह तूफान बड़ा रूप ले लेगा। दरअसल, यह चक्रवात 25 अक्टूबर को बांग्लादेश के तटीय छोर यानि की तिनकोना द्वीप और सान द्वीप से होते हुए निकलेगा। जिसके लिए भारतीय मौसम विभाग द्वारा पहले से ही अलर्ट जारी कर दिया गया है।

बता दें कि बंगाल की खाड़ी से उठने वाला तूफान Sitrang का भयानक रुप पश्चिम बंगाल में देखने को मिलेगा। इसके अलावा यह तूफान पश्चिम बंगाल से सटे राज्यों में अपना रौद्र रुप दिखाएगा। जिसका असर आज रात को ओडिशा, बिहार, झारखंड, आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु में देखने को मिल सकता है। ज्यादातर जगहों पर देर रात से ही बारिश शुरू हो चुकी है और तेज हवाएं भी चल रही हैं। बंगाल की खाड़ी में एक बार फिर चक्रवार्ती गतिविधियां शुरू होने वाली है। IMD ने इसके लिए अलर्ट जारी किया है।चक्रवाती तूफान के कारण बंगाल के दक्षिणी 24 परगना, उत्तरी 24 परगना और मिदनापुर जैसे तटीय जिलों में मूसलाधार बारिश हो सकती है। साथ ही, 90 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से हवाएं चलेगी। मौसम विभाग ने मछुआरों को 24-25 अक्टूबर तक बंगाल की खाड़ी से लगे समुद्री किनारों में न जाने की सलाह दी है।

वहीं, भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने शनिवार को कहा कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक गहरा दबाव आज शाम को तेज हो जाएगा और मंगलवार को चक्रवात के रूप में दस्तक देगा। इसने उत्तरी आंध्र प्रदेश और उससे सटे दक्षिण ओडिशा तटों के लिए चक्रवात Sitrang के लिए अलर्ट जारी किया है।

वहीं, मौसम विभाग ने सभी को पहले से ही इस विषम परिस्थिति से निपटने के लिए राहत व बचाव टीम को अलर्ट कर दिया है। सभी को समूद्री इलाके से दूर रहने की अपील की गई है। इस दौरान मछुआरों से भा खास अपील की गई है कि इस खतरनाक समय में वो समुद्र में ना जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *