किसान नेता की सीएम से मांग..एटीएम घोटालेबाजों को मिले सजा..किसानों को पंजीयन प्रक्रिया में दी जाए राहत..

बिलासपुर—–भारतीय किसान संघ जिला अध्यक्ष की अगुवाई में किसानों ने मुख्यमंत्री के नाम पत्र लिखा। पत्र के माध्यम से किसानों ने खेती खार में आने वाली समस्याओं से रूबरू भी कराया। 
 
                भारतीय किसान संघ के बैर तले किसानों ने जिला अध्यक्ष धीरेन्द्र दुबे की अगुवाई में कलेक्टर प्रशासन से मुलाकात किया है। इस दौरान धीरेन्द्र दुबे ने किसानों की तरफ से प्रशासन को मुख्यमंत्री के नाम पर ज्ञापन दिया। किसान नेता धीरेन्द्र दुबे ने इस दौरान पत्र में लिखी गयी बातों को जिला प्रशासन को भी बताया।
 
                  धीरेन्द्र ने जानकारी दी कि कोरोना काल की परेशानी के बाद किसानों की नयी समस्या को सामना किया। किसान नेता ने बताया कि गिरदावरी के माध्यम से रकबा में अनावश्यक कटौती की जा रही है। मामले में सही तरीके से जांच की जरूरत है। धीरेन्द्र दुबे ने धान खरीदी के नवीन पंजीयन और संसोधन की व्यवस्था पर नाराजगी जाहिर की। उन्होने कहा कि किसानों को अनावश्यक सुदुर अंचलों से बार बार तहसील कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ता है।
 
                )तहसील कार्यालयों में पीड़ित किसानों की भीड़ को देखते हुए कोरोना संक्रमण का खतरा है। कोविड19 की मार्गदर्शन को ध्यान में रखते हुए पंजीयन और संसोधन का कार्य समितियों के माध्यम से किया जाए।  धान खरीदी की नवीन पंजीयन और संसोधन की तारीख 31 अक्टूबर से बढ़ाकर 10 नवम्बर किया जाए।
 
                    धीरेन्द्र दुबे ने मुख्यमंत्री के नाम दिए ज्ञापन में बताया कि जिला सहकारी बैंक में एटीएम घोटाले की न्यायिक जांच पूरी हो चुकी है। बावजूद इसके खुलासा नहीं किया जा रहा है। जांच का खुलासा कर दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाए।
 
                           ज्ञापन सौंपने वालो में प्रदेश कोषाध्यक्ष गजानन्द दिघरस्कर ,जिला मंत्री विजय यादव ,जिला कोषाध्यक्ष माधो सिंह , देवानन्द कौशिक , विक्रम सिंह , पाहरू राम साहू , राजकुमार कौशिक महेश यादव , आनंद कुमार ध्रुव बंटी गोखले समेत जिले के किसान मौजूद थे। 
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...