TOP NEWS

ICICI Bank Loan Case: ICICI बैंक धोखाधड़ी मामले में वीडियोकॉन के चेयरमैन गिरफ्तार

आईसीआईसीआई बैंक धोखाधड़ी मामले में वीडियोकॉन के मालिक वेणुगोपाल धूत को गिरफ्तार कर लिया

Vinugopal Dhoot Arrested: आईसीआईसीआई बैंक धोखाधड़ी मामले (ICICI Bank Fraud Case) में वीडियोकॉन के मालिक वेणुगोपाल धूत (Venugopal Dhoot) को गिरफ्तार कर लिया गया है. उन्हें मुंबई में सीबीआई ने आज गिरफ्तार कर लिया है. एक अधिकारी ने ये जानकारी दी है.वीडियोकॉन लोन मामले में गिरफ्तार ICICI बैंक की पूर्व CEO और MD चंदा कोचर और उनके पति दीपक कोचर को शनिवार को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में पेश किया गया था. कोर्ट ने चंदा कोचर और दीपक कोचर को तीन दिन यानी आज सोमवार (26 दिसंबर) तक सीबीआई रिमांड में भेज दिया था.

कई दिन से थी गिरफ्तारी की संभावना

ICICI Bank Loan Case: संभावना जताई जा रही थी कि वीडियोकॉन लोन मामले में सीबीआई की ओर से जल्द ही चार्जशीट दाखिल की जा सकती है. चार्जशीट में वीडियोकॉन ग्रुप के वेणुगोपाल धूत के साथ कोचर दंपत्ति को भी नामजद किया जा सकता है. चंदा कोचर पर आरोप हैं कि उन्होंने वीडियोकॉन ग्रुप के प्रमोटर वेणुगोपाल धूत को आंख बंद कर लोन बांटा जिसके एवज में कथित तौर पर नूपावर में करोड़ों रुपये का निवेश किया गया.

READ MORE-सिंह,कर्क सहित इन तीन राशि वालों पर आज रहेगी भगवान भोलेनाथ की विशेष कृपा,धन लाभ के संकेत,बनेंगे बिगड़े काम

क्या हैं सीबीआई के आरोप

ICICI Bank Loan Case: CBI ने आरोप लगाया है कि आईसीआईसीआई बैंक ने वेणुगोपाल धूत द्वारा प्रवर्तित वीडियोकॉन समूह की कंपनियों को बैंकिंग विनियमन अधिनियम, आरबीआई के दिशानिर्देशों और बैंक की कर्ज नीति का उल्लंघन करते हुए 3,250 करोड़ रुपये की लोन फैसिलिटी मंजूर कीं. चंदा कोचर और दीपक कोचर की हिरासत संबंधी सुनवाई के दौरान, सीबीाई की ओर से पेश विशेष सरकारी वकील ए लिमोजिन ने दलील दी कि चंदा कोचर ने वीडियोकॉन इंटरनेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (वीआईईएल) को 300 करोड़ रुपये की कर्ज सुविधा को मंजूरी देकर आईपीसी की धारा 409 के तहत ‘आपराधिक विश्वासघात’ भी किया.

वेणुगोपाल धूत पर लगे ये आरोप

सीबीआई के मुताबिक साल 2009 में, चंदा कोचर की अध्यक्षता वाली आईसीआईसीआई बैंक की एक स्वीकृति समिति ने बैंक के नियमों और नीतियों के उल्लंघन में वीआईईएल को 300 करोड़ रुपये का एक ऋण मंजूर किया था. उसने कहा कि अगले ही दिन, वी एन धूत ने अपनी कंपनी सुप्रीम एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड (एसईपीएल) के माध्यम से वीआईईएल से एनआरएल को 64 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए. बाद में, चंदा कोचर ने वीडियोकॉन ग्रुप के प्रबंध निदेशक वी एन धूत से कथित रूप से प्राप्त 64 करोड़ रुपये को अपने पति की कंपनी न्यूपावर रिन्यूएबल लिमिटेड में निवेश करके अपने स्वयं के उपयोग के लिए बदल दिया.

साल 2019 में बनाया था कोचर दंपत्ति सहित वेणुगोपाल धूत को आरोपी

सीबीआई ने 2019 में, दीपक कोचर के प्रबंधन वाली कंपनियों नूपावर रिन्यूएबल्स, सुप्रीम एनर्जी, वीडियोकॉन इंटरनेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड और वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज लिमिटेड के साथ कोचर दंपती और धूत को आपराधिक साजिश और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के प्रावधानों से संबंधित आईपीसी की धाराओं के तहत रजिस्टर्ड एफआईआर में आरोपी बनाया था.

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS