पढ़ें हीटवेव से निपटने के लिए केंद्र की एडवाइजरी

शिक्षा मंत्रालय ने बुधवार (11 मई 2022) को देश के कई इलाकों में पड़ रही भीषण गर्मी से निपटने के लिए स्कूलों के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। जिसमें संस्थानों को कक्षाएं जल्दी शुरू करने और क्लास टाइमिंग कम करने के लिए कहा गया।स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग के जारी किए गए दिशा-निर्देशों में स्कूल के समय, ट्रांसपोर्ट, भोजन और यूनिफॉर्म के लिए विशिष्ट निर्देश हैं। इसने सभी स्कूलों के लिए क्या करें और क्या न करें की लिस्ट भी दी गयी है। सभी संस्थानों को निर्देश है कि क्लास सुबह 7 बजे से शुरू होनी चाहिए)

वाहनों के अंदर पानी की सुविधा: गाइडलाइंस में कहा गया है कि स्कूल बसों में ज्यादा भीड़ नहीं होनी चाहिए और संस्थानों को वाहनों के अंदर पीने के पानी की सुविधा रखनी चाहिए। इसके साथ ही स्कूलों को छात्रों को हाइड्रेट रखने की व्यवस्था करने को कहा गया है। दिशानिर्देश के मुताबिक स्कूलों को कई जगहों पर पर्याप्त पीने योग्य ठंडा पानी रखना होगा। पानी ठंडा रखने के लिए वाटर कूलर / मिट्टी के बर्तन (घड़े) का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें यह भी कहा गया है कि शिक्षकों को छात्रों को हर घंटे में पानी पीने के लिए याद दिलाना चाहिए।

स्कूलों को ताजा खाना परोसने की सलाह: मिड-डे मील परोसने वाले स्कूलों को ताजा खाना परोसने के लिए कहा गया है। साथ ही जो लोग घर से खाना लाते हैं, उन्हें भी ताजा खाना लाने की सलाह दी गयी है। एडवाइजरी में यह भी कहा गया है कि छात्रों को ढीले और हल्के रंग की कॉटन यूनिफॉर्म पहनने की अनुमति दी जा सकती है। स्कूल ने टाई जैसे मानदंडों में भी ढील दे सकते हैं और छात्रों को चमड़े के जूते के बजाय कैनवास शूज पहनने की अनुमति दे सकते हैं।स्कूलों में हल्के हीट स्ट्रोक के इलाज के लिए ओआरएस घोल या नमक और चीनी के घोल के पाउच आसानी से उपलब्ध होने चाहिए। इनके अलावा, स्कूलों को हीटस्ट्रोक की स्थिति में नजदीकी अस्पताल/क्लिनिक/डॉक्टर/नर्स के पास तुरंत पहुंचने के लिए कहा गया है।

खाली पेट न निकलें: इस बीच, छात्रों को सलाह दी गई है कि वे खाली पेट या भारी भोजन करने के बाद बाहर न निकलें और धूप में बाहर जाने से बचें, खासकर दोपहर में अगर बहुत जरूरी न हो तो। गौरतलब है कि भारत मौसम विज्ञान विभाग ने अगले कुछ दिनों के लिए दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात सहित कई राज्यों में लू चलने की चेतावनी जारी की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *