NEET UG टॉपर तनिष्का ने बताया सफलता का राज, जेईई मेन भी किया था टॉप

जयपुर ।NEET UG Topper Tanishka AIR-1 Tips: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने बुधवार देर रात देश की सबसे बड़ी मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट-यूजी 2022 का परिणाम जारी किया। दिनभर के इंतजार के बाद देर रात को जारी परिणाम में राजस्थान के कोटा शहर की छात्रा तनिष्का ने आल इंडिया रैंक-1 पाई है। नीट टॉपर तनिष्का दिल्ली एम्स से एमबीबीएस करने की इच्छुक है और आगे चलकर वह कार्डियो, न्यूरो या अन्कोलॉजी में स्पेशलाइजेशन करना चाहती है।

तनिष्का मूलरूप से हरियाणा की रहने वाली है और दो साल कोटा में रहकर नीट यूजी की तैयारी कर रही थी। तनिष्का ने 720 में से 715 अंक प्राप्त किए हैं। नीट यूजी 2022 परीक्षा 17 जुलाई को हुई, जिसमें 18 लाख 72 हजार 342 विद्यार्थियों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था। नीट में शामिल होने वाले विद्यार्थियों का यह अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा रहा है।  

NEET UG Topper: बचपन से ही होनहार है तनिष्का, जेईई में भी टॉप किया

नीट यूजी 2022 में ऑल इंडिया टॉपर बनने वाली छात्रा तनिष्का बचपन से ही होनहार है। 14 सितंबर, 2005 को हरियाणा के नारनौल में जन्मी तनिष्का ने हाल ही में संपन्न हुई इंजीनियरिंग दाखिला परीक्षा जेईई मेन में भी 99.50 फीसदी पर्सेन्टाइल के साथ टॉपर्स में जगह बनाई थी। तनिष्का के पिता कृष्ण कुमार सरकारी स्कूल में शिक्षक हैं ओर मां सरिता कुमारी भी सरकारी स्कूल में व्याख्याता हैं। तनिष्का ने इसी वर्ष कक्षा 12वीं में 98.6 फीसदी अंक तथा कक्षा 10वीं में 96.4 फीसदी अंक हासिल किए थे।

NEET Topper’s Tips: अंतिम समय में नहीं, पहले दिन से तैयारी करें

तनिष्का ने अपनी सफलता का रहस्य बताते हुए कहा कि नीट की तैयारी के दौरान कभी टेस्ट में मार्क्स कम आते थे तो पेरेन्ट्स मोटिवेट करते थे। उन्होंने कभी मार्क्स के लिए दबाव नहीं डाला और पॉजिटिविटी के साथ तैयारी करते रहने के लिए मोटिवेट किया। मैं कोचिंग के अलावा रोजाना 6-7 घंटे सेल्फ स्टडी करती थी। नीट स्टूडेंट्स अंतिम समय में नहीं, बल्कि पहले दिन से ही लक्ष्य की तैयारी करें। क्लासरूम में जैसे-जैसे कोर्स आगे बढ़ता है तो आपको पिछला पढ़ा हुआ भी बार-बार रिवीजन करना होगा। टॉपिकवाइज छोटे-छोटे नोट्स बना सकते हैं।

NEET Topper’s Tips: जब तक कॉन्सेप्ट क्लीयर न हो, तब तक पूछती हूं

नीट यूजी 2022 में 720 में से 715 अंक हासिल कर टॉपर बनने वाली तनिष्का ने बताया कि मैं पिछले दो साल से एलन की क्लासरूम स्टूडेंट हूं। कॉन्सेप्ट्स को गहराई से समझने के लिए ज्यादा से ज्यादा प्रश्न पूछती थी, हिचकिचाती नहीं थी। मैं डॉक्टर बनना चाहती हूं, क्योंकि यह ऐसा फील्ड है, जिसमें आप दूसरों की मदद कर खुद को संतुष्ट कर सकते हो।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.