RRB Update:Exam के बाद फीस लौटाएगा रेल्वे,उम्मीदवारो को मिली मिली ये रियायाते

नईदिल्ली।भारतीय रेल ने योग्यताओं के संदर्भ में कुछ बदलाव किये हैं ताकि समाज के सभी वर्गों के अधिक से अधिक इच्छुक उम्मीदवार भारतीय रेल के लिए कार्य करते हुए देश की सेवा कर सकें विभिन्न श्रेणियों में आयु छूट की सीमा 2 वर्षों के लिए बढ़ाई गई ऐसे उम्मीदवार जो परीक्षा शुल्क के रूप में 500 रुपये जमा करते हैं, उन्हें परीक्षा में शामिल होने के पश्चात 400 रुपये वापस कर दिये जाएंगे लेवल 1 के लिए आवश्यक शैक्षणिक योग्यता 10वीं पास या आईटीआई या समकक्ष निर्धारित की गई है उम्मीदवारों को प्रश्न-पत्र 15 भाषाओं में उपलब्ध कराये जाएंगे उम्मीदवार हिंदी या अंग्रेजी के अलावा अब किसी भी भाषा में अपना हस्ताक्षर कर सकते हैं।भारतीय रेल ने विश्व की सबसे बड़ी भर्ती प्रक्रियाओं में से एक के तहत ग्रुप सी, लेवल 1 (पूर्व की ग्रुप डी) और लेवल 2 श्रेणियों के लिए 89,409 पदों की घोषणा की है। इस भर्ती प्रक्रिया का आयोजन 4 वर्षों के पश्चात हो रहा है। इस दौरान प्रस्तावित कई बदलावों को इसमें शामिल किया गया है। हलांकि इन बदलावों के कारण कुछ उम्मीदवार इस वर्ष आवेदन नहीं कर पा रहे हैं क्योंकि उन्हें इस संबंध में पूर्व में आवश्यक जानकारी उपलब्ध नहीं थी। भारतीय रेल देश में यात्रा की जीवन रेखा है। सबसे अच्छी सेवा प्रदान करने के लिए मंत्रालयकर्मियों में विभिन्नता और समावेश की झलक प्रतिबिंबित होनी चाहिए।

परीक्षा शुल्‍क ऐसे अगंभीर अभ्‍यार्थियों को हतोत्‍साहित करने के लिए लागू की जाती थी, जो परीक्षा का आवेदन करने के बावजूद परीक्षा में हिस्‍सा नहीं लेते थे। इससे रेलवे को परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्‍यार्थियों की सुविधा के लिए व्‍यवस्‍था करने में बहुत रकम और संसाधन लगाने पड़ते थे। ऐसे उम्‍मीदवार जिन्‍हें कोई छूट प्राप्‍त नहीं थी, उनके लिए परीक्षा शुल्‍क 500/- रूपये निर्धारित किया गया था। अब फैसला किया गया है कि जो उम्‍मीदवार परीक्षा में शामिल होंगे, उन्‍हें 400/- रूपये वापस कर दिये जाएगे। रकम की पुनर्वापसी के लिए उम्‍मीदवारों के लिए आवश्‍यक है कि वे अपने ऑनलाइन बैंक खातों का विवरण दें। यह सुविधा जल्‍द शुरू हो जाएगी। अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/दिव्‍यांग/पूर्व सेनाकर्मी/महिला, अल्‍पसंख्‍यक/आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग जैसे छूट प्राप्‍त उम्‍मीदवारों से 250 रूपये लिये जाएंगे। इन वर्गों के जो उम्‍मीदवार परीक्षा में शामिल होंगे, उन्‍हें पूरी धनराशि वापस कर दी जाएगी। इस प्रक्रिया से यह सुनिश्चित होगा‍ कि केवल गंभीर उम्‍मीदवार ही परीक्षा में शामिल होंगे।

लेवल-I पदों के लिए न्‍यूनतम शैक्षणिक योग्‍यता दसवीं कक्षा अथवा आईटीआई अथवा जुलाई,2017 तक इसके बराबर योग्‍यता है। जुलाई 2017 में लेवल-I के अनेक पदों के लिए योग्‍यता दसवीं कक्षा और आईटीआई अथवा इसके बराबर कर दी गई है। इसके बारे में लोगों को पहले से जानकारी नहीं थी और यह उन उम्‍मीदवारों के लिए अनुचित होता, जो पिछले कई वर्षों से इस भर्ती के लिए तैयारी कर रहे हैं। पहले से ही पर्याप्‍त समय के साथ नोटिस मिलने पर उम्‍मीदवारों को आवश्‍यक प्रमाण पत्र और योग्‍यता हासिल करने का अवसर मिल जाएगा। अत: अब यह फैसला किया गया है कि इस परीक्षा के लिए योग्‍यता दसवीं कक्षा अथवा आईटीआई अथवा इसके बराबर योग्‍यता होगी। इससे कुछ और उम्‍मीदवारों को पदों के लिए आवेदन करने में और बड़े पैमाने पर इसमें शामिल होने का अवसर मिलेगा। साथ ही रेलवे ने कर्मचारियों के बेहतर कौशल के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम की योजना बनाई है।

उम्‍मीदवारों को प्रश्‍न पत्र 15 भाषाओं –हिन्‍दी, अंग्रेजी, उर्दू, असमिया, बांग्‍ला, गुजराती, कन्‍नड़, कोंकणी, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, उडि़या, पंजाबी, तमिल और तेलुगु में प्रदान किए जाएंगे। इससे समूचे भारत के उम्‍मीदवारों को अवसर मिल सकेगा।

उम्‍मीदवार अब केवल हिन्‍दी अथवा अंग्रेजी में हस्‍ताक्षर करने के बजाय किसी भी भाषा में हस्‍ताक्षर कर सकते हैं। इससे भारत की विविधता और बहुलता की पर्याप्‍त झलक मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *