सरपंच सचिव ने मिलकर डुबाया विकास की लुटिया..करोड़ों रूपयों का किया खेल..सचिव निलंबित..पूर्व और वर्तमान सरपंच को नोटिस

बिलासपुर—–जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी हरीश ने जनपद पंचायत मस्तूरी स्थित ग्राम पंचायत खुदुभाठा सचिव को निलंबित कर दिया है। साथ ही पूर्व और वर्तमान सरपंच को कारण बताओ नोटिस भेेजकर जवाब मांगा है। बताते चलें कि शिकायत के बाद जांच पड़ताल के दौरान पाया गया है कि सचिव ने विकास कार्यों को लेकर जारी लाखों रूपए की राशि में हेरफेर किया है। साथ ही पूर्व और वर्तमान सरपंच के साथ मिलकर करोड़ों रूपयों का विकास कार्य को चपत लगाया है।

               जानकारी देते चलें कि जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी हरीश ने मस्तूरी में विकास कार्यो को लेकर भारी अमियमितिता की शिकायत पर मस्तूरी का दौरा किया। ग्राम पंचायत खुडूभाठा में भारी अनियमितता पाए जाने पर जांच का आदेश दिया था। जांच में पाया गया है कि पूर्व और वर्तमान सरंपच के साथ मिलकर सचिव राम सोनी ने शासन की तरफ से जारी विकास कार्यों में भारी भ्रष्टाचार किया है। 

            जानकारी के बाद जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने तत्काल प्रभाव से राम सोनी को निलंबित कर दिया है। जांच पड़ताल के दौरान पाया गया है कि सचिव राम सोनी ने 2015-16 से 2020-21 के बीच लाखों रूपयों का घोटाला किया है। रूर्बन मिशन, 14 वां वित्त, विधायक मद शिक्षा, गौण खनिज और स्वच्छ भारत मिशन में लगभग 73 लाख का फटका दिया है।

              इसके अलावा इसी समय में पूर्व सरपंच अश्वनी टोण्डे, ने करीब 50 लाख का शासन को फटका दिया है। साथ ही वर्तमान सरपंच कृष्णा यादव ने करीब 23 लाख से अधिक राशि में अनियमितता को अंजाम दिया है।

           जानकारी देते चलें कि पूर्व और वर्तमान सरपंच के साथ सचिव राम सोनी ने सड़क निर्माण, नाली, भवन निर्माण. सफाई अभियान में मिलकर जमकर लूटमार किया है। कहीं सड़क बनी ही नहीं है तो कहीं…प्रस्तावित सड़कों को दूसरी जगह बना दिया है। भवन निर्माण भी नहीं किया गया है। स्वच्छताा अभियान से लेकर मनरेगा का रूपया भी तीनों मिलकर बांच लिया है। डैम निर्माण कार्य अभी अधूरा है। जबकि राशि का आवंटन भी हो चुका है। 

         जिला पंचायत सीईओ ने नाराजगी जाहिर करते हुए जांच के बाद सख्त कदम उठाते हुए सचिव को निलंबित कर दिया। तो अश्वनी और कृष्णा को कारण बताओं नोटिस जारी किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *