बांकी मोंगरा की जनता ने छेरछेरा में मांगा सड़क,माकपा पार्षदों ने बजाया नगाड़ा,चक्का जाम की दी चेतावनी

कोरबा।बांकीमोंगरा क्षेत्र की उपेक्षा के खिलाफ नगाड़ा बजाकर माकपा पार्षदों राजकुमारी कंवर और सुरती कुलदीप ने आज यहां सड़क जीर्णोद्धार की मांग को अपना समर्थन दिया और छेरछेरा में धूल डस्ट रोकने और सड़क निर्माण की मांग निगम सरकार और एसईसीएल प्रशासन से की। इस क्षेत्र की जनता ने कांग्रेस विधायक, सांसद और राजस्व मंत्री से भी अपनी खुशहाली के लिए छेरछेरा में यही मांगा है।उल्लेखनीय है कि जर्जर सड़क और धूल डस्ट से परेशानी इस क्षेत्र की मुख्य समस्याओं में से एक है और यह समस्या इस क्षेत्र के विकास और जनता के स्वास्थ्य दोनों से जुड़ती है। इस मांग को उठाने के बाद मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी को इस क्षेत्र की जनता का जबरदस्त समर्थन मिल रहा है और आम जनता का आक्रोश जन आंदोलन में बदल रहा है।

माकपा ने बांकीमोंगरा क्षेत्र की दुर्दशा के लिए निगम सरकार, राज्य सरकार और एसईसीएल प्रबंधन तीनों को जिम्मेदार ठहराया है। माकपा जिला सचिव प्रशांत झा ने आरोप लगाया  है कि बांकीमोंगरा क्षेत्र की जनता से प्राप्त राजस्व का उपयोग निगम सरकार कोरबा की सड़कों को बनाने के लिए कर रही है और एसईसीएल कोल खदानों से केवल मुनाफा कमा रही है। दोनों को इस क्षेत्र की आम जनता की तकलीफों से कोई मतलब नहीं है। यहां के सांसद और विधायक भी इस मामले में मौन है। उन्होंने कहा कि छेरछेरा में पवित्र मन से दान दिया जाता है।

यदि इस समस्या के लिए जिम्मेदार कांग्रेस-भाजपा के नेताओं और प्रशासनिक अधिकारियों में छत्तीसगढ़ की संस्कृति के प्रति थोड़ा भी लगाव होगा, तो छेरछेरा में आम जनता को सड़क निर्माण का तोहफा देंगे। माकपा नेताओं ने कहा कि अगर 15 दिनों में इस समस्या का समाधान नहीं हुआ, तो बांकी मोंगरा में 9 फरवरी को चक्काजाम होगा। 

माकपा द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार सड़क निर्माण और धूल डस्ट की रोकथाम की मांग को लेकर आज छेरछेरा पर्व के दिन बांकी मोंगरा चौक में माकपा के नेतृत्व में आम जनता ने इस क्षेत्र के व्यापारियों के साथ मिलकर सांसद, विधायक, मंत्री, महापौर, कलेक्टर, सीएमडी के नाम की तख्तियां लेकर छेरछेरा में बांकी मोंगरा की सड़क बनाने का उपहार मांगा है। 

कार्यक्रम को सफल बनाने में प्रमुख रूप से नंदलाल कंवर, जवाहर सिंह कंवर, दिलहरण बिंझवार, संजय यादव, पुरुषोत्तम कंवर, शत्रुहन दास, छोटू बिंझवार, अजय अग्रवाल, धर्मेंद्र मिश्रा, अशोक अग्रवाल, योगेश अग्रवाल, दशरथ टेलर, प्रकाश साहू, जनक दास, उमेश अग्रवाल, अमित सिन्हा, सुधीर शर्मा,  राकेश अग्रवाल, पवन शर्मा, राहुल आदि ने सराहनीय भूमिका निभाई। उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर 15 दिनों में इस समस्या का समाधान नहीं हुआ, तो बांकी मोंगरा में 9 फरवरी को चक्काजाम होगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *