मेरा बिलासपुर

जनता..इस बार MUTE नहीं…मुखर सांसद का करेगी चुनाव…बोले जिला कांग्रेस अध्यक्ष…अब दिल्ली में गुजेंगी बिलासपुर की आवाज

बिलासपुर—जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने परिवार के साथ मतदान बूथ पहुंचकर मतदान किया। विजय केशरवानी के स्वर्गीय छोटे भाई की पत्नी ने भी माता के साथ मतदान किया। इस दौरान विजय ने अपने भाई को याद भी किया। मतदान करने के बाद विजय केशरवानी ने भाजपा की केन्द्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान विजय ने कई सवाल भी दागे।

Join Our WhatsApp Group Join Now

जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने मतदान के बाद भाजपा सांसद और सरकार के सामने कई सवाल पेश किया। विजय ने कहा भाजपा सांसदों की उदासीनता ने बिलासपुर के विकास को पूरी तरह से रोक दिया है। उन्होने कहा कि  छत्तीसगढ़ का दूसरा एम्स नवा रायपुर में खुला था। पहला भी रायपुर में ही है। सवाल उठता है कि उत्तर छत्तीसगढ़ में बिलासपुर बड़ा शहर है..बावजूद इसके यहां एम्स नहीं खोला गया। यदि खोला जाता तो इसका लाभ उत्तर छत्तीसगढञ को मिलता। लेकिन बिलासपुर के सांसद ने बिलासपुर की आवाज को नही उठाया।

विजय ने बताया कि  IIT, IIM,IIIT, AIIMS, NIT सब रायपुर संभाग में है। बिलासपुर के हिस्से में इनमें कोई संस्थान नहीं है। यदि सांसद ने मुंह खोला होता तो आज इनमें से कुछ संस्थाएं बिलासपुर में होती। बिलासपुर रेल जोन देश का सबसे कमाऊ पूत है। तीन साल में 6700 से ज्यादा ट्रेनें रद्द कर दी गयी। लेकिन बिलासपुर का सांसाद विरोध करना तो दूर सदन में चुप बैठा रहा। बिलासपुर जोन की पटरियां सिर्फ कोयला ढोने को मजबूर हैं। लेकिन सांसद महोदय आज तक चुप है।

विजय ने कहा  SECL का हेड क्वार्टर बिलासपुर में है। लेकिन SECL में स्थानीय नौकरी शून्य है । आपका सांसद चुप है।  NTPC का हेड क्वार्टर बिलासपुर में है यहां भी स्थानीय नौकरियां शून्य है लेकिन सांसद चुप है। कोयला का धुर्रा बिलासपुर खाता है..चिमनियों का धुआं बिलासपुर की जनता निगलती है। बिलासपुर के हिस्से में आमदनी शून्य है फिर भी आपका सांसद चुप है।

जिला कांग्रेस नेता ने बताया कि छत्तीसगढ़ से सर्वाधिक पायलन बिलासपुर जिले से होता है। इसकी एक मात्र वजह केन्द्रीय नीतियों के कारण जनता की आर्थिक स्थित है। लेकिन बिलासपुर का सांसद चुप है। मुंगेली जिला बन गया, लेकिन जिले जैसी कोई व्यवस्था नहीं है। आवागमन कनेक्टिविटी आज भी जस की तस बनी हुई है। लेकिन आपका सांसद चुप है।

 उन्होने कहा कि बिलासपुर केवल न्यायधानी ही नहीं शिक्षाधानी भी है। संभाग और प्रदेश के बाहर  से बच्चे यहां कोचिंग करने आते हैं। एक भी ट्रांजिट हॉस्टल नहीं है। बच्चियों के लिए कोई सुरक्षा व्यवस्था नहीं है। एक स्मार्ट ई लाइब्रेरी तक शहर में नहीं है। लेकिन आपका सांसद चुप है। प्रधानमंत्री किसान सुरक्षा बीमा का प्रीमियम सब पटा रहे हैं। लेकिन रिकवरी रेट 30 प्रतिशत से भी नीचे है। फिर भी सांसद चुप है।

विजय ने बताया इस बार जनता ने कांग्रेस प्रत्य़ाशी को जीताने का फैसला कर लिया है। जनता ने एलान भी कर दिया है कि इस बार MUTE सांसद नहीं चाहिए। इस बार सांसद दबंग होगा।

                   

Back to top button
close