सरपंच की जागरूकता और प्रयास से भैंसमुंडी बनी शत-प्रतिशत टीकाकरण वाली ग्राम पंचायत

धमतरी-यदि मन में कुछ कर गुजरने की दृढ़ इच्छाशक्ति हो तो लाख बाधाओं के बाद भी मंजिल हासिल करने से दुनिया की कोई ताकत रोक नहीं सकती। इसकी ज्वलंत मिसाल कुरूद विकासखण्ड की ग्राम पंचायत भैंसमुण्डी में देखने को मिली, जहां 45 साल से अधिक तथा 18 साल से अधिक दोनों आयु वर्ग के शत-प्रतिशत ग्रामीणों का टीकाकरण सफलतापूर्वक पूर्ण करा लिया गया। शासन के निर्देशों का अक्षरशः पालन करते हुए जनपद पंचायत के उपाध्यक्ष, ग्राम पंचायत के सरपंच, सचिव सहित मैदानी अमले ने इस नामुमकिन कार्य को मुमकिन कर दिखाया।कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य के मार्गदर्शन में जिले में कोविड-19 टीकाकरण के सफल क्रियान्वयन के लिए अनेक प्रयास किए जा रहे हैं, जहां कलेक्टर स्वयं विभिन्न ग्रामों में चैपाल लगाकर लगातार समझाइश देते रहे हैं, वहीं जिला प्रशासन के जागरूकता कार्यक्रम, स्थानीय जनप्रतिनिधियों, स्वास्थ्य, पंचायत विभाग के सामूहिक प्रयास से टीकाकरण के क्षेत्र में धमतरी जिला रोजाना बढ़ते ग्राफ को छूते हुए नए मुकाम हासिल कर रहा है।

इस संबंध में ग्राम भैंसमुण्डी की नोडल अधिकारी एवं सहायक संचालक कृषि सुश्री जगतजननी यादव ने बताया कि कलेक्टर के मार्गदर्शन में टीकाकरण को लेकर ग्राम पंचायत भैसमुण्डी में स्थानीय युवा सरपंच श्री त्रिलोकचंद साहू द्वारा सतत् प्रयास किए गए। उन्होंने बताया कि कलेक्टर के वीडियो क्लिप एवं आॅडियो मैसेज को ग्रामीणों को दिखा व सुनाकर टीकाकरण के महत्व को बताया गया। इसका सकारात्मक प्रभाव यह पड़ा कि ग्रामीण स्वस्फूर्त होकर वैक्सिनेशन के लिए आगे आने लगे। फलस्वरूप 45 वर्ष से अधिक तथा 18 वर्ष से अधिक, दोनों आयुवर्गों के पहले डोज का टीकाकरण ग्राम पंचायत भैंसमुण्डी में शत-प्रतिशत पूर्ण हो गया। इसकी घोषणा आज पंचायत प्रबंधन द्वारा लिखित में की गई।

सरपंच श्री साहू ने बताया कि गांव को इस भीषण महामारी से सुरक्षित करने के लिए यह जरूरी हो गया कि लोगों को इसके सकारात्मक पहलुओं की जानकारी दी जाए। इसी सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ते हुए उच्चाधिकारियों के मार्गदर्शन में तथा जनपद पंचायत उपाध्यक्ष श्री जानसिंह यादव के सतत् सहयोग से रोजाना वीडियो-आॅडियो क्लिप दिखा-सुनाकर, ग्रामीणों से व्यक्तिगत संपर्क कर तथा पंचायत में लगातार बैठक लेकर सकारात्मक वातावरण तैयार किया। तब जाकर इसे लेकर लोगों के मन से भ्रांतियां दूर हुईं, जिसका सुखद परिणाम सामने है।

इस अप्रत्याशित उपलब्धि के लिए कलेक्टर , जिला पंचायत के सी.ई.ओ. मयंक चतुर्वेदी ने सरपंच, सचिव सहित मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहित पूरी टीम को अपनी शुभकामनाएं दी हैं। एसडीएम कुरूद सुनील कुमार शर्मा ने बताया कि इस गांव की जनसंख्या लगभग 1608 है। यहां के पात्र सभी 356 लोगों ने 45 वर्ष से अधिक का प्रथम डोज टीका लगवा लिया, वहीं 18 वर्ष के ऊपर 584 लोगों को भी टीके का पहला डोज सफलतापूर्वक लगवा लिया गया है। उन्होंने बताया कि कलेक्टर के मार्गदर्शन में जनपद पंचायत के सी.ई.ओ. सत्यनारायण नायक तथा बीएमओ डाॅ. नवरत्न ने लोगों की जागरूकता को देखते हुए व्यक्तिगत तौर पर रूचि ली। इसके लिए पंचायत, स्वास्थ्य एवं राजस्व विभाग के मैदानी अमले ने काफी मेहनत की और अंततः युवातुर्क व जुझारू सरपंच ने यह सिद्ध कर दिया कि जागरूकता के मामले में शहरी लोगों से ग्रामीण भी किसी पहलू से कम नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *