महिला कांग्रेस नेत्रियों फुटा गुस्सा…पार्टी छोड़ने की दी धमकी..वाणी और संध्या पर साधा निशाना..कहा..बहुत हुआ अपमान

बिलासपुर– प्रदेश कांग्रेस कार्यकारिणी एलान के बाद बिलासपुर महिला कांग्रेस नेत्रियों का असंतोष बढ़ गया है। आज जिला कांग्रेस कार्यालय पहुंचकर वरिष्ठ नेत्रियों ने नाराजगी जाहिर करते हुए जिला कांग्रेस शहर अध्यक्ष से ना केवल नाराजगी जाहिर की। बल्कि प्राथमिक सदस्यता से निकलने का भी एलान कर दिया। यद्यपि नरेन्द्र बोलर ने वरिष्ठ नेत्रियों को काफी समझाया बुझाया। साथ ही नाराजगी को ऊपर तक पहुंचाने की कही। बावजूद इसके वरिष्ठ नेत्रियों ने प्रदेश कार्यकारिणी में दो एक महिला नेत्रियों के नाम शामिल होने पर जमकर आक्रोश जाहिर की। मामले में जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष ने कहा कि सदस्यता खत्म करने की बात ही नहीं है। वरिष्ठ नेत्रियों की नाराजगी स्वस्थ्य लोकतंत्र का संकेत है। वरिष्ठ नेत्रियों ने ही एलान किया है कि इस बार प्रदेश में कांग्रेस की सरकार होगी। ऐसे में नाराजगी का सवाल ही नहीं उठता।

कार्यकारिणी में नहीं मिला स्थान

                    आज कांग्रेस कार्यालय में पांच छह से अधिक बिलासपुर कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्रियों ने लिखित में जिला कांग्रेस शहर अध्यक्ष से नाराजगी जाहिर की । वरिष्ठ कांग्रेस नेत्रियों ने शहर अध्यक्ष के नाम शिकायत पत्र में लिखा है कि कुछ ऐसे महिला नेत्रियों को कार्यकारिणी में स्थान दिया गया जिन्होने पार्टी के खिलाफ काम किया।  इसके अलावा हम लोग पिछले 25 से 30 साल से पार्टी की सेवा की है। बावजूद इसके किसी भी महिला नेत्री को कार्यकारिणी में जगह नहीं मिली। महिला नेत्रियों ने वाणी राव और संध्या तिवारी के साथ जमकर गुस्सा जाहिर की।

वाणी राव और संध्या पर निशाना

        नरेन्द्र बोलर को लिखित शिकायत में कान्ता सिन्हा,आमना खान.डॉ. अलका शर्मा, सावित्री जायसवाल, शांति और नीरजा द्विवेदी ने बताया कि वाणी राव कांग्रेस की सीट से शहर की महापौर रह चुकी हैं। बावजूद इसके उन्होने प्रदेश अध्यक्ष की मुखालफत कर जोगी कांग्रेस का दामन थामा। पार्टी के खिलाफ जमकर जले भुने बयान दिए। बावजूद इसके वाणी राव को ना केवल पार्टी में शामिल किया गया..बल्कि प्रदेश की कार्यकारिणी में उच्च पद भी दिया गया। इसी तरह महिला नेत्रियों ने संध्या तिवारी पर भी निशाना साधा। महिला नेत्रियों ने कहा कि संध्या तिवारी ने भी पार्टी को ना केवल नुकसान पहुंचाया बल्कि पार्टी से किनारा भी किया। उन्हें कार्यकारिणी में स्थान दिया गया। इसके अलावा अन्य ऐसे लोगों को भी कार्यकारिणी में शामिल किया गया जिन्होेने पार्टी से बगावत कर विरोधियों का साथ दिया।

प्राथमिक सदस्ता से त्यागपत्र

                      कान्ता सिन्हा,आमना खान.डॉ. अलका शर्मा, सावित्री जायसवाल, शांति और नीरजा द्विवेदी ने कहा कि हम लोग पार्टी के लिए सब कुछ झोंक दिया। फिर भी इन लोगों को पद देकर सम्मानित किया गया।

  महिला नेत्रियों ने नरेन्द्र बोलर के हाथों पीसीसी के बड़े नेताओं के नाम पत्र देते हुए कहा कि हम लोग सभी पदों से त्याग पत्र देते हैं। अपने समर्थकों के साथ पार्टी की प्राथमिक सदस्यता खत्म करने की मांग करते हैं।

हम मिलकर भाजपा को हराएंगे

मामले में जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने कहा कि वरिष्ठ महिला नेत्रियां पार्टी के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण और सम्मानित हैं। उनकी नाराजगी की जानकारी मिल चुकी है। बातचीत भी किया हूं। सबकी नाराजगी दूर कर दी गयी है। कांग्रेस में स्वस्थ्य लोकतंत्र की परंपरा है। सबकी नाराजगी का सम्मान किया जाता है। हम लोग मिलकर भाजपा का मुकाबला करेंगे। सरकार भी बनाएंगे। इस संघर्ष में वरिष्ठ नेत्रियों का महत्वपूर्ण स्थान होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *