तखतपुर के गोदाम में लगी आग,तीन घंटे की मशक्कत के बाद बुझी

तखतपुर(टेकचंद कारड़ा)।गांधी पुतला के पास स्थित रामानी मार्केट में स्थित एक गोदाम में आग लग जाने से पूरे कपड़े बाजार में दहशत फैल गई।बिलासपुर-मुंगेली फायर ब्रिगेड की तीन गाड़ियो और तखतपुर नगर पालिका से पहुंचे टैंकर की मदद से आग पर 3 घंटे में काबू पाया जा सका।डिस्पोजल कॉपी पेन मनिहारी सामान सहित कुछ फटाके जलने से एक लाख का नुकसान हुआ।

बता दे कि तखतपुर में आज लगभग रात साढ़े आठ बजे गांधी प्रतिमा स्थल चौक पर स्थित रमानी मार्केट में अंदर लगभग कपड़े कन्फेक्शनरी मनिहारी की दुकान और मुख्य मार्ग में स्थित कुछ दुकानदारों के गोदाम भी है।इस कांप्लेक्स में रम्मी मंगलानी का दुकान है व दुकान के ठीक ऊपर में उनका एक गोदाम है जिसमें डिस्पोजल कॉपी पुस्तक पेन और मनिहारी दुकान का समान था।

और पिछले साल के कुछ पटाखे भी रखे हुए थे। रात लगभग 8: 30 मिनट में शॉर्ट सर्किट से गोदाम में आग लग गई।आग लगते ही पहले गोदाम में रखे डिस्पोजल में आग पकड़ी उसके बाद गोदाम में रखे कुछ फटाके भी जल गए।8:40 पुलिस कंट्रोल रूम में पार्षद टेकचंद कारड़ा ने सूचना देकर फायर ब्रिगेड भेजने की जानकारी दी।

इसके पुलिस को सूचना मिलने के बाद थाना प्रभारी शरद चंद्रा और एसआई श्रीमती किरण राजपूत राकेश साहू और पुलिस स्टाफ सुनीता, मिथलेश सोनवानी मौके पर पहुंचा जहां भीड़ को पहले घटनास्थल से हटाया और कुछ व्यवसायी जो सामान निकाल रहे थे उनकी मदद की घटना की जानकारी मिलते ही एसडीओपी कोटा अभिषेक सिंह और तहसीलदार बी एस जोशी पहुंच गए बाद नगर पालिका सीएमओ पूजा पिल्ले को भी जानकारी दी गई जा उन्होंने पानी टैंकर भेजा लगभग 9:20 को पथरिया बिलासपुर और मुगेंली से फायर बिग्रेड पहुंच गया था

दमकल कर्मी का दम घुटा
दमकल के कर्मचारियों ने बड़े साहस के साथ आग बुझाने का काम किया।मार्केट में चारो तरफ से बंद होने के कारण मार्केट में लगी आग में जब पानी डाला।तब पूरा धुये से भर गया और दमकल कर्मचारी शेख सरवर ,सुनील भगत ,संतोष गढ़रिया ,इजहारु दिन, गौकरण आग बुझाते वक्त गोदाम में निकल रहे धुएं का अनुमान नहीं लगा पाए। और इसमें 3 दमकल कर्मियों सेख सरवर सकित दो अन्य का दम घुट गया।जहां उन्हें बाहर निकालकर सिर्फ ठंडा पानी डाला गया और कोटा एसडीओपी ने खुद ऊपर पहुंच कर दमकल कर्मियों का हाल जाना और मदद की थाना प्रभारी सामने भीड़ को संभाले हुए थे।एसआई किरण राजपुत का भी धुये से दम घुटा और बाहर आयी तो सुनीता ने पानी डालकर राहत दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *